उत्तराखंड में आसमान से बरस रही आफत, कई रास्ते हुए बंद

उत्तराखंड में आसमान से बरस रही आफत, कई रास्ते हुए बंद


देहरादून। देहरादून और उससे सटे उत्तराखंड के इलाकों में बारिश का कहर जारी है। लगातार बारिश के कारण कई रास्ते बंद हो गए हैं। गुरुवार रात से लगातार हो रही बारिश से सहस्रधारा, मालदेवता, बिष्ट गांव आदि इलाकों में भारी नुकसान हुआ है. कई जगह सडक़ें और किताबें बह गई हैं. सहस्राधार-मालदेवता लिंक रोड तीन जगहों पर बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गया है, जिससे इस मार्ग पर आवाजाही पूरी तरह से बंद है. मुख्यमंत्री से लेकर प्रशासनिक अमला भी नुकसान का जायजा लेने पहुंच गया और प्रभावितों को राहत मुहैया कराने के निर्देश दिए। टिहरी के जिलाधिकारी ईवा आशीष श्रीवास्तव का कहना है कि राष्ट्रीय राजमार्ग 58 पर तपोवन से मलेथा जाने वाले वाहनों के लिए पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिया गया है. टिहरी में स्थिति बहुत गंभीर हो गई है। रायपुर से सहस्त्रधारा जाने वाली सडक़ का 30 फीट हिस्सा नदी में डूब गया है. दो वाहन नदी में बह गए। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी, क्षेत्रीय विधायक उमेश शर्मा काऊ, जिलाधिकारी डॉ. आर राजेश कुमार ने खैरी मानसिंह, बंदावली और किशनपुरी का स्थलीय निरीक्षण कर नुकसान का आकलन किया है।
उत्तराखंड में मौसम विभाग ने भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के अनुसार 28 और 29 अगस्त को देहरादून, पौड़ी, नैनीताल, चंपावत, पिथौरागढ़ और उधमसिंहनगर जिलों में तेज हवाओं के साथ हल्की से भारी बारिश हो सकती है. 28 अगस्त को नैनीताल और पिथौरागढ़ जिलों के लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है. इस दौरान कहीं-कहीं बिजली गिरने की भी संभावना है। बारिश के अलर्ट के बाद जिला प्रशासन भी अलर्ट मोड पर है।

ये रास्ते हैं पूरी तरह से बंद

देहरादून जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग 707 मसूरी नई टिहरी में मलबे से अवरुद्ध है।
राष्ट्रीय राजमार्ग 123 हरबर्टपुर - बरकोट जूडोस में अवरुद्ध
देहरादून जिले में एक स्टेट हाईवे और 20 ग्रामीण मोटरमार्ग अवरुद्ध हैं।
ऋषिकेश-बद्रीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग तपोवन से मलेथा तक बंद है।
भारी पत्थरों के कारण जोशीमठ-मलारी भारत-चीन मार्ग तमक नाला और जुम्मा में बंद है।
पौड़ी जिले में दो मुख्य जिला सडक़ें और 13 ग्रामीण मोटर मार्ग बंद हैं।
टिहरी जिले के खल/धरासू में हृ॥-94 आगरा बंद है।
बागेश्वर जिले में 3 ग्रामीण मोटर मार्ग बंद हैं।
नैनीताल जिले में 2 ग्रामीण मोटर मार्ग बंद हैं।
चंपावत में टनकपुर चंपावत राष्ट्रीय राजमार्ग एनएच 9 स्वाला के पास बंद है।
पिथौरागढ़ जिले में भारी मलबा आने से भारत-चीन सीमा की 5 सडक़ें बंद हैं.
पिथौरागढ़ जिले में स्टेट हाईवे और 14 ग्रामीण मोटर मार्ग बंद हैं।


Next Story
Share it