Top

फिर यूपी में सामने आया धर्मांतरण का मामला

फिर यूपी में सामने आया धर्मांतरण का मामला


लखनऊ। उत्तर प्रदेश के कासगंज जिले के गंगापुर में धर्म परिवर्तन के प्रयास का मामला प्रकाश में आया है। यहां के ग्रामीणों का दावा है कि सैकड़ों लोग पैसे का लालच लेकर अपने और पड़ोसी गांवों में धर्मांतरण कर हिंदू देवी-देवताओं के प्रति घटिया शिक्षा और साहित्य का सहारा ले रहे हैं। आरोपों के आधार पर पुलिस ने मौके से कई लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी के खिलाफ सिकंदरपुर वाश थाने में अपराध संख्या-129 के तहत मामला दर्ज किया गया है।
शिकायतकर्ता अरविंद गुप्ता के अनुसार हिंदू देवी-देवताओं के प्रति अभद्र और आपत्तिजनक साहित्य के साथ ईसाई धर्म के कुछ प्रचारक धर्मांतरण के लिए कासगंज के थाना क्षेत्र के सिकंदरपुर वैश क्षेत्र के गंगापुर गांव पहुंचे थे। जब आरोपी ईसाई मिशनरियों से उनकी कार में मौजूद हिंदू देवी-देवताओं के खिलाफ अभद्र और आपत्तिजनक साहित्य के बारे में पूछा गया तो उन्होंने मारपीट की। शिकायतकर्ता ने विरोध किया तो उसे कथित तौर पर जान से मारने की धमकी भी दी गई ।
गंगापुर गांव के रहने वाले महावीर सिंह बताते हैं कि कुछ ईसाई प्रचारक पैसे का लालच देकर दवाइयों और इलाज के लिए मदद का लालच देकर, शादी में आर्थिक मदद का वादा करके, वह लगातार गांव के दलितों और आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को धर्म में बदलने की कोशिश कर रहे हैं।
महावीर सिंह ने यह भी बताया कि पिछले कई सालों से उनके गांव में इस तरह के प्रयास किए जा रहे हैं। ऐसे प्रयासों के कारण गांव के 3 परिवारों ने लालच के चलते अपना धर्म बदल लिया है। दूसरी ओर अगर हम आसपास के इलाके की बात करें तो लालच के चलते सैकड़ों लोगों ने अपना धर्म बदल लिया है।
गंगापुर गांव की गृहिणी चिंता देवी ने बताया कि कुछ ईसाई उसके घर आए और कहा कि अगर वह उनकी कंपनी में आई तो उनका बीमार पति ठीक हो जाएगा। उन धर्म प्रचारकों ने भी मुझसे हिंदू देवी-देवताओं की तस्वीरें मेरे घर से हटाने और उनके धर्म के प्रतीक लगाने को कहा। उसी समय गंगापुर के रहने वाले पूरन सिंह ने बताया कि ईसाई धर्म के कुछ लोग उसके गांव आए थे। उसने संगत में एक साथ खाने-पीने का दबाव बनाया। वह उन्हें पैसे देने का लालच भी देता था। गांव के रामपाल ने अपने परिवार के साथ मिलकर धर्म परिवर्तन कराया है। इस प्रकरण के बाद से इलाके में तनाव व्याप्त है। साथ ही पुलिस अधिकारी ढीली कार्रवाई के साथ इस पूरे मामले पर कुछ भी कहने से परहेज कर रहे हैं।


Next Story
Share it