Top

मिशन 2022 का रोडमैप तैयार करने में जुटी भाजपा

मिशन 2022 का रोडमैप तैयार करने में जुटी भाजपा


लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष क्रम के नेताओं की यूपी में बढ़ती चहलकदमी को भले ही पार्टी की ओर से तय कार्यक्रम का नाम दिया जा रहा हो लेकिन सच्चाई तो यह है कि भाजपा मिशन 2022 की तैयारी में लग गई है। हाल में संपन्न हुए राज्यों के विधानसभा चुनाव के नतीजे खासकर पश्चिम बंगाल के नतीजो से एलर्ट मोड में पहुंची भाजपा यूपी में चूक करने की मूड में नजर नहीं आ रही है। इसलिए एक के बाद एक नेताओं का यूपी में आना इसी मिशन को अंजाम देने की तैयारी है। अब चर्चा यह है कि देश के गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्टï्रीय अध्यक्ष जेपी नडï्डा जल्द ही यूपी आने वाले हैं।
बीजेपी के केंद्रीय संगठन महासचिव बीएल संतोष के जाने के बाद अब केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा के यूपी दौरे पर आने को लेकर चर्चाएं शुरू हो गई हैं। माना जा रहा है कि एक महीने बाद यानी जुलाई में ये दोनों नेता आएंगे। इन दोनों नेताओं के दौरे से बीजेपी पूरे चुनावी मोड में नजर आएगी। जब वे आएंगे तो उनके पास यूपी विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी की कार्ययोजना का अंतिम मसौदा भी होगा। जिसके आधार पर पार्टी आगे काम करेगी।
भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) बीएल संतोष ने अपने तीन दिवसीय प्रवास के दौरान भाजपा संगठन और सरकार दोनों के कामकाज पर फीडबैक लिया। इसके साथ ही उन्होंने 2022 के नजरिए से भी सभी को लक्ष्य दिया। एक के बाद एक व्यक्तिगत बातचीत के जरिए उन्होंने सभी को खुलकर बोलने और अपने विचार व्यक्त करने का मौका दिया। उनका ध्यान सरकार की उपलब्धियों को जनता तक पहुँचाने और संगठन द्वारा निर्धारित सेवा कार्यों को और गति देने पर था। अब जल्द ही प्रदेश भाजपा बैठक करेगी और उनके द्वारा दिए गए निर्देशों को पूरा करने के लिए कार्ययोजना तैयार करेगी। भाजपा कार्यकर्ताओं को अब दोहरे जोश के साथ आगे की चुनौती का सामना करना पड़ेगा। उनके प्रवास कार्यक्रम को 2022 में भाजपा के चुनावी मिशन की तैयारी के रूप में देखा जा रहा है। इन बैठकों को राज्य की भाजपा सरकार और संगठन के शीर्ष नेताओं के लिए कोरोना काल में टीकाकरण की खुराक के रूप में देखा जा रहा है। इससे बनने वाली एंटीबॉडीज 2022 में विपक्ष की चालों और हमलों को नाकाम करने का काम करेंगी।
भाजपा संगठन में राष्ट्रीय अध्यक्ष के बाद नंबर दो राष्ट्रीय महासचिव (संगठन) का पद संभालने के बाद बीएल संतोष का लखनऊ का यह दूसरा दौरा था। इससे पहले वे एक बार फिर आए थे, तभी राज्य के अधिकारियों के साथ आम बैठक हुई थी। इस बार उनके तीन दिवसीय प्रवास और बैठकों और वार्ताओं के मैराथन क्रम से कई अर्थ निकाले जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश भाजपा की सर्वोच्च प्राथमिकता है। इस राज्य में बीजेपी की जड़ें और मजबूत करनी होंगी। गौरतलब है कि फरवरी 2022 में पांच राज्यों गोवा, मणिपुर, पंजाब, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव होने हैं। इनमें से बीजेपी ने यूपी चुनाव को अपनी सर्वोच्च प्राथमिकता में रखा है।


Next Story
Share it