Top

पंचायत चुनाव नहीं ऑक्सीजन चाहिए सरकार

पंचायत चुनाव नहीं ऑक्सीजन चाहिए सरकार

राजधानी लखनऊ में मचा हाहाकार, अस्पताल फुल

श्मशान घाटों और कब्रिस्तानों में लगी लाशों की कतार

अपनों को बचाने को ऑक्सीजन के लिए भटक रहे लोग

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। कोरोना के नए स्ट्रेन ने पूरे प्रदेश में हाहाकार मचा दिया है। संक्रमितों की संख्या बढ़ने से अस्पताल फुल हो गए हैं। नए मरीजों को भर्ती कराना मुश्किल हो गया है। ऑक्सीजन की जबरदस्त किल्लत के कारण लोग दम तोड़ रहे हैं। श्मशान घाटों और कब्रिस्तानों में लाशों की कतार बढ़ती जा रही है। सोशल मीडिया पर लोग प्रदेश सरकार से पंचायत चुनाव नहीं बल्कि ऑक्सीजन की मांग कर रहे हैं। कुल मिलाकर हालात लगातार बेकाबू होते जा रहे हैं।

एक ओर सरकार पंचायत चुनावों में जुटी है तो दूसरी ओर कोरोना संक्रमण ने उसके सामने पहाड़ सी चुनौती खड़ी कर दी है। हालात लगातार गंभीर होते जा रहे हैं। आम से लेकर खास तक तेजी से संक्रमित हो रहे हैं। निजी और सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन, दवा और बेड की जबरदस्त किल्लत हो गई है। जीवन रक्षक दवाओं की कालाबाजारी तेज हो चुकी है। दूसरी ओर अफसर इस पर नियंत्रण लगाने में नाकाम साबित हो रहे हैं। कोरोना के आगे पूरी चिकित्सा व्यवस्था चरमरा गई है। दूसरी ओर अभी दो चरणों के पंचायत चुनाव बाकी हैं। तीसरे चरण का चुनाव 26 और चौथे व अंतिम चरण का चुनाव 29 अप्रैल को होना है। चुनाव कराने के दौरान दर्जनों कर्मी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। लिहाजा लोगों ने सरकार से पंचायत चुनाव को छोड़कर अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित करने की मांग तेज कर दी है।




चौबीस घंटे में तीन लाख 46 हजार संक्रमित, 2624 मौतें

देश में कोरोना के मामलों में रिकॉर्ड बढ़ोतरी हुई है। पिछले 24 घंटे में कोरोना के रिकॉर्ड 3,46,786 नए मामले सामने आए जबकि 2624 मरीजों की मौत हो गई। हालांकि इस दौरान 2,19,838 मरीज ठीक भी हुए। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक अब तक देश में कोरोना के कुल 1,66,10,481 मामले सामने आ चुके हैं जबकि 1,38,67,997 मरीज ठीक होकर घर लौट चुके हैं। देश के पांच सबसे ज्यादा संक्रमित राज्यों में दिल्ली, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, केरल और कर्नाटक शामिल हैं।

बाराबंकी के दोनों प्लांट में लिक्विड ऑक्सीजन खत्म

बाराबंकी के दो ऑक्सीजन प्लांट (शारंग प्लांट और जय साईं प्लांट) में लिक्विड ऑक्सीजन खत्म हो गई है। लिक्विड ऑक्सीजन खत्म होने के चलते दोनों प्लांटों से ऑक्सीजन की सप्लाई बाधित हो गई है। दोनों प्लांटों से बाराबंकी के साथ आसपास के जिलों में भी ऑक्सीजन की सप्लाई होती है। यहां से लखनऊ, सीतापुर, सुल्तानपुर समेत आसपास के कई जिलों में ऑक्सीजन सप्लाई होती है। ऑक्सीजन की सप्लाई रुकने से हालात और बिगड़ सकते हैं।

सप्लाई रोकने वाले को बख्शेंगे नहीं: दिल्ली हाईकोर्ट

दिल्ली हाईकोर्ट ने ऑक्सीजन संकट के मामले पर हुई सुनवाई के दौरान अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी पर नाराजगी जताई। साथ ही दिल्ली सरकार से पूछा कि दिल्ली के लोगों को समय पर ऑक्सीजन मिले, इसके लिए सरकार अपना प्लांट क्यों नहीं लगाती है। वहीं, कोर्ट ने केंद्र से भी यह जानकारी मांगी कि दिल्ली को कितनी ऑक्सीजन मिलेगी और कैसे आएगी, इसके बारे में बताएं। साथ ही कोर्ट ने कहा कि अगर कोई ऑक्सीजन की सप्लाई रोकता है तो हम उसे बख्शेंगे नहीं।

Next Story
Share it