Top

उत्तराखंड में अब तीरथ 'राजÓ

उत्तराखंड में अब तीरथ राजÓ

  • भाजपा ने सौंपी तीरथ सिंह रावत को उत्तराखंड की कमान
  • सर्वसम्मति से चुना गया विधानमंडल दल का नेता
  • तीरथ ने कहा- विकास कार्यों को बढ़ाऊंगा आगे
  • कल त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मुख्यमंत्री पद से दिया था इस्तीफा
4पीएम न्यूज नेटवर्क. देहरादून। भाजपा ने पौड़ी गढ़वाल लोकसभा सीट से सांसद तीरथ सिंह रावत को उत्तराखंड की कमान सौंप दी है। आज देहरादून में भाजपा प्रदेश मुख्यालय में आयोजित भाजपा विधानमंडल दल की बैठक में तीरथ सिंह रावत को सर्वसम्मति से विधानमंडल दल का नेता चुना गया। तीरथ का नेता चुना जाना सभी को चौंका गया क्योंकि उनका नाम दावेदारों में नहीं था। वे आज राजभवन में सीएम पद की शपथ लेंगे। सीएम पद की जिम्मेदारी मिलने के बाद तीरथ सिंह रावत ने कहा कि मैं पीएम मोदी और गृहमंत्री अमित शाह और पार्टी का शुक्रिया अदा करता हूं, जिन्होंने मुझ पर भरोसा किया। मैंने कभी सोचा नहीं था कि सीएम बनूंगा। मैं लोगों की अपेक्षाओं को पूरा करने और पिछले चार सालों में किए गए विकास कार्यों को आगे बढ़ाने की कोशिश करूंगा। गौरतलब है कि केंद्रीय नेतृत्व से मुलाकात के बाद मंगलवार को त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था। नया नेता चुनने के लिए आज विधानमंडल दल की बैठक बुलाई गई थी। बैठक में केंद्रीय पर्यवेक्षक के रूप में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम रमन सिंह व प्रदेश भाजपा प्रभारी दुष्यंत कुमार गौतम मौजूद थे। अहम बात यह कि तीरथ को सीएम पद के दावेदारों में आगे नहीं माना जा रहा था।
आरएसएस के प्रचारक भी रह चुके हैं तीरथ
वर्ष 1983 से 1988 तक तीरथ सिंह रावत राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के प्रचारक रहे। वह अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् (उत्तराखण्ड) के संगठन मंत्री और राष्ट्रीय मंत्री भी रह चुके हैं। तीरथ सिंह रावत के राजनीतिक सफर की शुरुआत छात्र जीवन में ही हो गई थी। वह हेमवती नंदन गढ़वाल विश्वविद्यालय में छात्र संघ अध्यक्ष और छात्र संघ मोर्चा (उत्तर प्रदेश) में प्रदेश उपाध्यक्ष भी रहे।
कौन हैं तीरथ सिंह
तीरथ सिंह रावत, फरवरी 2013 से दिसंबर 2015 तक उत्तराखंड भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष थे। वह चौबट्टाखाल से विधायक (2012-2017) रह चुके हैं। वर्तमान में तीरथ सिंह रावत भाजपा के राष्ट्रीय सचिव के साथ-साथ गढ़वाल लोकसभा से सांसद हैं। पौड़ी सीट से भाजपा के उम्मीदवार के अतिरिक्त 2019 के लोकसभा चुनाव में उन्हें हिमाचल प्रदेश का चुनाव प्रभारी भी बनाया गया था। तीरथ सिंह रावत वर्ष 2000 में नवगठित उत्तराखंड के प्रथम शिक्षा मंत्री चुने गए थे। इसके बाद 2007 में भाजपा उत्तराखण्ड के प्रदेश महामंत्री चुने गए। इसके बाद प्रदेश चुनाव अधिकारी और प्रदेश सदस्यता प्रमुख रहे। 2013 उत्तराखंड दैवीय आपदा प्रबंधन सलाहकार समिति के अध्यक्ष रहे। वर्ष 2012 में चौबटाखाल विधान सभा से विधायक निर्वाचित हुए और वर्ष 2013 में उत्तराखण्ड भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बने।


सेल्फी लेकर सीएम योगी बोले- जल शक्ति मंत्रालय ने दिखाया पानी का पावर
  • चित्रकूट में रसिन बांध परियोजना का किया लोकार्पण, 17 गांवों को मिलेगा लाभ
4पीएम न्यूज नेटवर्क. बांदा। सीएम योगी आदित्यनाथ आज चित्रकूट पहुंचे। यहां पर उन्होंने रसिन बांध का लोकार्पण करने के बाद सेल्फी भी ली। इससे 17 गांवों को लाभ मिलेगा। लहचुरा बांध और अर्जुन सहायक परियोजना के रेगुलेटर को देखने के बाद उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार में जलशक्ति मंत्रालय ने पानी का पावर दिखा दिया है। उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड में पेयजल का काम चल रहा है, उसमें प्रशासन युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराएं। अभी तक लोग समझते थे कि जलशक्ति मंत्रालय केवल हैंडपंप ही लगवाता है लेकिन मंत्रालय ने पानी का पावर दिखा दिया है। जब से मोदी सरकार आई है, तब से तमाम बड़ी-बड़ी सिंचाई योजनाएं संचालित की गई हैं। उन्होंने कहा कि महोबा वीरों की भूमि है, यहां से मेरा विशेष लगाव रहा है। पिछली बार जब आया था तब यहां से कई बातों को सीखा है। मुख्यमंत्री ने अर्जुन सहायक परियोजना के रेगुलेटर, लहचुरा बांध तथा अन्य कार्यों को देखा और अफसरों से पूछताछ की। दो दिवसीय बुंदेलखंड के दौरे पर आए मुख्यमंत्री आज ललितपुर से सीधे महोबा पहुंचे थे।

कानपुर : गैंगरेप पीड़िता के पिता को ट्रक ने रौंदा

  • - परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप, हंगामा, सड़क जाम
  • - दबिश में पुलिस के साथ गया था पीड़िता का पिता
  • - आरोपियों ने दी थी जान से मारने की धमकी
4पीएम न्यूज नेटवर्क. कानपुर। जिले के सजेती थाना क्षेत्र में एक 13 वर्षीय किशोरी के गैंगरेप की घटना के एक दिन बाद ही पीड़िता के पिता की ट्रक की टक्कर के बाद मौत हो गई। गुस्साए परिजनों ने हत्या का आरोप लगाते हुए कानपुर-सागर हाईवे जाम कर दिया। पीड़िता के पिता ने भी आरोपियों के भाई द्वारा पुलिस में शिकायत करने पर जान से मारने की धमकी देने की बात कही गई थी। पीड़िता का पिता पुलिस के साथ था। सजेती थाना क्षेत्र के एक गांव में रहने वाली 13 साल की किशोरी से गैंगरेप हुआ था। परिजनों की शिकायत के मुताबिक गांव के गोलू यादव और दीपू यादव ने किशोरी को अगवा कर दुष्कर्म किया। पुलिस ने दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। दीपू यादव के पिता पुलिस में दारोगा है जोकि कन्नौज में तैनात बताए जा रहे हैं। दीपू के परिजनों ने पीड़िता के घरवालों को कार्रवाई नहीं करने के लिए धमकाया था। एसपी कानपुर ग्रामीण बृजेश श्रीवास्तव का कहना है कि पीड़िता का पिता पुलिस के साथ ही दबिश में था। ट्रक की चपेट में आने उसकी मौत हो गई।
प्रियंका ने साधा सरकार पर निशाना
कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा ने कहा कि यूपी सरकार करोड़ों रुपए के झूठे विज्ञापन देकर मिशन शक्ति का ढोंग करेगी। यूपी के सीएम साहब जगह-जगह घूमकर वहां की कानून व्यवस्था को कोसेंगे लेकिन अपनी जिम्मेदारी वाले राज्य में न्याय तो देना दूर, पीड़ित परिवार को सुरक्षा तक देने में असमर्थ हैं। क्या बीत रही होगी इस परिवार पर? और ये ऐसी यूपी में पहली घटना नहीं है।

Next Story
Share it