Top

कोरोना के टीके के बजाए लगा दिया कुत्ता काटने का टीका

कोरोना के टीके के बजाए लगा दिया कुत्ता काटने का टीका

  • यूपी के स्वास्थ्य विभाग में लापरवाही का संक्रमण
  • लखनऊ तक मचा हड़कंप, मामले में जांच के आदेश
  • विपक्ष ने मुख्यमंत्री योगी संग भाजपा सरकार को घेरा
4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। कोरोना से जंग में कल पीएम मोदी ने मुख्यमंत्रियों संग स्वास्थ्य विभाग को संक्रमण रोकने में टेस्टिंग व टीकाकरण में तेजी लाने का मंत्र दिया। वहीं यूपी के शामली में स्वास्थ्य विभाग ने मंत्र का इस तरह पालन किया कि कोरोना के टीके के बजाए 72 वर्षीय महिला को कुत्ता काटने का टीका लगा दिया। इससे अंदाजा लगा सकते है कि यूपी का स्वास्थ्य विभाग किस कदर लापरवाह है। यह खबर जब लखनऊ के मुख्यमंत्री कार्यालय व स्वास्थ्य विभाग तक पहुंची तो हड़कंप मच गया। विभाग ने तुरंत पूरे मामले में जांच के आदेश दे दिए। शामली की इस घटना पर विपक्ष ने भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ संग भाजपा पर सवाल उठाए हैं। विपक्ष ने कहा भाजपा दूसरे देशों में भारत की वैक्सीन की सप्लाई कर रही है जबकि अपने ही देश व राज्यों में कोरोना से लोग मर रहे हैं। राज्यों व अस्पतालों में वैक्सीन की कमी से लोगों को एंटी रैबीज लगाने पर मजबूर होना पड़ रहा है। दरअसल, शामली में तीन वृद्ध महिलाएं कोरोना वैक्सीन का टीका लगवाने गई थीं, लेकिन स्वास्थ्य कर्मियों ने डॉक्टर से बिना पूछे वृद्ध महिलाओं को एंटी रैबीज (कुत्ते का टीका) लगा दिया। इनमें से एक महिला की हालत बिगड़ गई। पीड़ितों ने चिकित्सा अधीक्षक से शिकायत कर गलत वैक्सीन लगाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। बता दें कि सीएचसी कांधला में मोहल्ला सरावज्ञान निवासी महिला सरोज (70), रेलवे मंडी निवासी अनारकली (72) व सत्यवती (60) कोरोना वैक्सीन का टीका लगवाने आई थीं। स्वास्थ्य कर्मियों ने बाहर स्थित मेडिकल स्टोर से 10-10 रुपए वाली सिरिंज मंगवाई। तीनों को वैक्सीन लगा दी गई और घर चले जाने के लिए कहा। कुछ देर बाद सरोज को चक्कर और घबराहट होने लगी। परिवारजन उन्हें लेकर एक निजी चिकित्सक के पास गए। चिकित्सक को ओपीडी की पर्ची दिखाई. उसे देखकर चिकित्सक भी हैरान हो गए और बताया कि एंटी रैबीज वैक्सीन लगाई गई है। बाद में अन्य दोनों वृद्धा को पता चला तो उन्होंने भी पर्ची दिखवाई, उन्हें भी एंटी रैबीज वैक्सीन लगी थी। शामली डीएम ने भी मामले में पूरी रिपोर्ट मांगी है।
वैक्सीन लगवाने गई तो टीका लगाने वाले से कहा कि आधार का नंबर नोट कर लें तो उन्होंने कहा कुत्ते के टीके में आधार की जरूरत नहीं है। जब सिर में दर्द हुआ, चक्कर आया तो पड़ताल में पता चला कि कोरोना के टीके के बजाए मेरे कुत्ता काटने की एंटी रैबीज वैक्सीन लगाई गई है।
अनारकली, पीड़ित महिला
यह घटना दुखद है। स्वास्थ्य विभाग ही नहीं, भाजपा की भी लापरवाही है। सरकार का कोरोना पर नियंत्रण नहीं है। श्मशानों में भी वेटिंग है। सरकार आंकड़ें छुपाने में जुटी हुई है। सरकार दूसरे देशों में वैक्सीन भेज रही जबकि उसके अपने ही देश में एंटी रैबीज वैक्सीन लगाई जा रही है।
आराधना मिश्रा, विधायक कांग्रेस
पूरे प्रदेश में कोरोना का कहर जारी है। अस्पतालों के कोविड वाडर्स में जगह नहीं, जिले से लेकर राजधानी तक के अस्पतालों में अव्यवस्था चरम पर है। श्मशानों में वेटिंग है। शामली में तीन महिलाओं को कोविड के टीके की जगह रैबिज के इंजेक्शन लगा दिए गए। ऐसे में योगी सरकार का सच सामने आ गया।
सुनील सिंह साजन, एमएलसी सपा
स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी सरकार को बदनाम करने की साजिश कर रहे हैं। कर्मचारियों की उदासीनता के चलते यह लापरवाही हुई है। ऐसे लोगों पर हमारी सरकार कठोर कार्रवाई करेगी। यूपी में कोरोना पर नियंत्रण है। इसके लिए मुख्यमंत्री खुद लगातार मॉनिटरिंग कर रहे हैं।
सुरेन्द्र सिंह, विधायक भाजपा


यह उत्सव नहीं वैक्सीन शॉर्टेज का गंभीर मुद्ïदा है: राहुल गांधी
4पीएम न्यूज नेटवर्क. नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 11 से 14 अप्रैल तक टीका उत्सव मनाने की बात कही थी। इस पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कोरोना वायरस के खिलाफ वैक्सीन की कमी गंभीर मुद्दा है। यह कोई उत्सव नहीं है। केरल के वायनाड से सांसद राहुल ने पीएम मोदी पर टीका उत्सव को लेकर निशाना साधा है। साथ ही उन्होंने दूसरे देशों को निर्यात किए जा रहे वैक्सीन डोज पर भी सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा बढ़ते कोरोना संकट के बीच वैक्सीन की कमी होना एक बहुत ही गंभीर मुद्दा है, कोई उत्सव नहीं है। उन्होंने कहा क्या अपने देशवासियों की जान को जोखिम में डालकर वैक्सीन निर्यात करना सही है? उन्होंने इस संबंध में मोदी को पत्र लिखकर आग्रह किया है कि कोरोना वायरस के टीके की खरीद एवं वितरण में राज्यों की भूमिका बढ़ाई जाए और टीके निर्यात पर तत्काल रोक लगाई जाए।

कोरोना से संक्रमण की जंग में खुद ही फील्ड पर उतरे मुख्यमंत्री

4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। यूपी में एक बार फिर तेजी से अपने पांव पसार रहे कोरोना वायरस संक्रमण से जंग में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मोर्चा संभाल लिया है। कोविड पर नियमित समीक्षा करने के साथ ही आज वे प्रयागराज तथा वाराणसी के दौरे पर है। दोपहर 12 बजे इलाहाबाद पहुंचे योगी ने कहा कोरोना नियंत्रण के हर व्यापक इंतजाम किए जाए। प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन कराया जाए। साथ ही अधिकारियों को कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए। उन्होंने संक्रमण रोकने के लिए अधिकारियों को मोर्चे पर बेहद मुस्तैद रहने का आदेश दिया। कोरोना से बचाव के लिए हुए इंतजामों की समीक्षा की। कोविड-19 से बचाव की तैयारियों के बारे जानकारी मांगी। सीएम योगी स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल (एसआरएन) के कोविड वार्ड का निरीक्षण करने के लिए रवाना हो गए। मुख्यमंत्री के साथ यूपी के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह और नंद गोपाल नंदी भी हैं।

Next Story
Share it