स्वतंत्र देव ने खोला भाजपा का राज, बसपा की शान में पढ़े कसीदे

स्वतंत्र देव ने खोला भाजपा का राज, बसपा की शान में पढ़े कसीदे

  • टाइम्स नॉउ के कार्यक्रम में कहा, मजबूती से चुनाव लड़ेगी बसपा
  • भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष का बयान अंदरखाने दे रहा साठगांठ का संकेत
  • विपक्ष ने कहा, पहले से मिली हुई है भाजपा-बसपा, अब खुल रहा है राज
  • बड़ा सवाल क्या सपा को रोकने के लिए भाजपा का बी प्लान है बसपा

4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। उत्तर प्रदेश के भाजप प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव ने टाइम्स नॉउ के एक कार्यक्रम में न केवल बसपा की तारीफ की बल्कि उसे मजबूत पार्टी भी बताया। इससे यह सवाल उठने लगे हैं कि क्या बसपा और भाजपा के बीच अंदरखाने तालमेल हो चुका है और इसी राज को आज भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने खोल दिया है। वहीं दूसरी ओर विपक्ष ने स्वतंत्र देव के इस बयान के बाद भाजपा को निशाने पर ले लिया है। विपक्ष ने भाजपा और बसपा के बीच मिलीभगत का आरोप लगाया है। टाइम्स नॉउ के कार्यक्रम में आज यूपी भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने दावा किया कि प्रदेश में बसपा मजबूत पार्टी है और मजबूती से चुनाव लड़ेगी। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के इस बयान से साफ हो गया है कि भाजपा बसपा के साथ है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि आगामी चुनाव में बसपा मजबूती से लड़ेगी, उसे कोई नुकसान नहीं होगा। अब जब यूपी विधान सभा चुनाव के होने में कुछ महीने बाकी है, स्वतंत्र देव का यह बयान भाजपा-बसपा की नजदीकियों को जाहिर कर रहा है। वहीं विपक्ष का कहना है कि बसपा-भाजपा पहले से मिले हुए हैं। सरकार के प्रति बसपा प्रमुख मायावती का नरम रुख भी इसकी पुष्टिï करता रहा है। विधान सभा चुनाव में भाजपा की सत्ता में किस तरह वापसी हो इसे देखते हुए दोनों ने बंद कमरे में साठगांठ कर ली है। यही वजह है कि भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष ने खुले तौर पर बसपा की तारीफ की है।

स्वामी प्रसाद मौर्या भी कर चुके हैं तारीफ

प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव के बयान से पहले योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या ने भी रायबरेली में भाजपा द्वारा आयोजित प्रबुद्घ सम्मेलन में बसपा की जमकर तारीफ की थी। मौर्या ने तो बाकायदा बसपा का नाम लेकर संबोधन शुरू किया था। मंच पर मौजूद लोगों ने मौर्या को उनकी गलती का एहसास कराया। इसका वीडियो भी खूब वायरल हुआ था। गौरतलब है कि योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या की गिनती बसपा के कद्ïदावर नेताओं में होती थी। वह लंबे समय तक बसपा में रहे। उन्हें मायावती का भी बेहद करीबी माना जाता था।



क्या है भाजपा का बी प्लान

आगामी चुनाव में सपा को रोकने के लिए भाजपा ने बी प्लान तैयार किया है। इसके केंद्र में बसपा है। इसके जरिए भाजपा सपा की सत्ता में वापसी को रोकना चाहती है।

महंगाई के बयान पर घिर चुके हैं भाजपा प्रदेश अध्यक्ष

इससे पहले स्वतंत्र देव सिंह ने आज तक के पंचायत कार्यक्रम में कहा था कि महंगाई कोई मुद्ïदा नहीं है। यूपी में कोई महंगाई नहीं है और जनता भी खुश है। उनके मुताबिक, यूपी में उन्हें एक भी ऐसा व्यक्ति नहीं मिला जो महंगाई की वजह से राज्य सरकार या उनकी पार्टी से नाराज हो। इस पर भी उन्हें विपक्ष ने खूब घेरा था। तब कांग्रेस के सीनियर नेता प्रमोद तिवारी ने कहा था कि जब से मोदी सरकार आई है तब से महंगाई आसमान पर है जबकि कांग्रेस राज में आज तक कभी इतनी तेजी से महंगाई नहीं बढ़ी।

सपा से भाजपा और बसपा डरी हुई है। दोनों के बीच अंदरखाने मिलीभगत है। इस तरह के बयान देकर वे एक-दूसरे को फायदा पहुंचाना चाहते हैं लेकिन इस बार सपा की सरकार बननी तय है।

अब्दुल हफीज गांधी, प्रवक्ता, सपा

सभी जानते हैं कि भाजपा-बसपा मिले हुए हैं। बसपा बी टीम का काम कर रही है। साढ़े चार साल में भाजपा सरकार ने कोई काम किया नहीं है इसलिए बंद कमरे में रणनीति बना रहे हैं लेकिन जनता इन दोनों को नकार देगी।

अंशु अवस्थी, प्रवक्ता, कांग्रेस

भाजपा चाहे जितने हथकंडे अपना ले, जनता उसके झांसे में नहीं आने वाली है। भाजपा सरकार का जाना तय है।

अनिल दुबे, राष्टï्रीय सचिव, आरएलडी

अब तो खुलासा हो गया है कि भाजपा की बसपा बी टीम है। दोनों ही पार्टियां जनता को गुमराह कर रहीं हैं। 2022 में जनता के सामने दोनों दलों की दाल नहीं गलेगी।

नीलम यादव, प्रदेश अध्यक्ष, महिला विंग, आप

Next Story
Share it