Top

कोरोना मरीजों के प्राइवेट इलाज के बिल का हिसाब दे सरकार : अखिलेश यादव

कोरोना मरीजों के प्राइवेट इलाज के बिल का हिसाब दे सरकार : अखिलेश यादव

  • भाजपा ने कोरोना को भी प्रदेश में मॉडलिंग मंच बना दिया
लखनऊ। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा भाजपा सरकार का डबल इंजन 8 सालों से यार्ड में ही खड़ा है। राज्य सरकार के 4 वर्ष और इसी अवधि में केन्द्र के 4 वर्षों में डबल इंजन टस से मस नहीं हुआ। विकास योजनाएं प्लेटफार्म पर इंतजार में हैं। कोई पूछने वाला नहीं। भाजपा सरकार अधिकारियों की शटरिंग करती रहती है। एक अधिकारी दिल्ली से लखनऊ भेजे गए उन्हे काम नहीं करने दिया गया। अखिलेश ने कहा पश्चिम बंगाल में चुनी हुई सरकार के साथ चुनाव में करारी हार का बदला भाजपा निचले स्तर पर आकर ले रही है। यह संघीय ढांचे की मूल भावना की अवहेलना और लोकतंत्र के विरूद्ध भाजपा की साजिश की रणनीति है। निहित स्वार्थवश भारी बहुमत में आई ममता सरकार को परेशान किया जा रहा है। सपा प्रमुख अखिलेश ने कहा उत्तर प्रदेश में भाजपा को कुछ करना नहीं है। यहां तो सत्ता का लालच भाजपा के सिर चढ़कर बोलने लगा हैं। बचे हुए समय में यहां भाजपा सरकार अधिकारियों की सेटिंग में ही समय खपा रही है। कोरोना महामारी में चारों और हाहाकार के बीच पीएम मोदी वाराणसी मॉडल और मुख्यमंत्री गोरखपुर मॉडल की चर्चा में ही लगे रहे। उन्होंने कोरोना को भी प्रदेश में मॉडलिंग मंच बना दिया है। अखिलेश यादव ने कहा भाजपा बदले की भावना से प्रेरित होकर राज्यों के साथ जो व्यवहार कर रही है उसमें राज्यपालों की भूमिका विचारणीय है। कायदे से उत्तर प्रदेश हो या पश्चिम बंगाल राज्यपालों की भूमिका संविधान की परिधि में ही होनी चाहिए पर ऐसा भाजपा राज में नहीं होता है। दोनो की कसौटियां भिन्न है। बंगाल में राज्यपाल अनावश्यक हस्तक्षेप करते रहते है जबकि यूपी में राज्यपाल की सिर्फ सलाहकार की भूमिका है। जनता भाजपा की इन चालबाजियों से तंग आ गई है। राज्य की जनता 2022 के इंतजार में है। आने वाले चुनाव में जनता भाजपा को सबक सिखाएगी।
ब्लैक फंगस का हो फ्री ट्रीटमेंट
पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए लिखा, प्रदेश की भाजपा सरकार ने बड़े जोर शोर से प्रचारित किया था कि वो कोरोना के प्राइवेट इलाज का खर्चा देगी। अब भाजपा सरकार बताए कि अभी तक जनता के कितने बिलों का भुगतान किया है। भाजपा सरकार जनता के सामने आंकड़े रखे। सपा प्रमुख ने कहा कि यूपी सरकार तत्काल 'ब्लैक फंगसÓ के भी मुफ्त इलाज की घोषणा करे। बता दें कि यूपी में ब्लैक फंगस के काफी संख्या में मामले सामने आए हैं। हालांकि सबसे अधिक मामले दिल्ली से सटे गौतम बुद्ध नगर और गाजियाबाद में हैं। वहीं ब्लैक फंगस के अलावा व्हाइट फंगस और यलो फंगस के मामलों से भी लोग परेशान है। बावजूद समय पर उनको इलाज नहीं मिल पा रहा है। अखिलेश ने कहा अब भी समय है कि कोरोना पीड़ितों की हरसंभव सरकार मदद करें। ताकि उनको कोरोना के इस संकट में राहत मिल सके।
बीजेपी में आंतरिक खींचतान का असर कामकाज पर
इससे पहले समाजवादी पार्टी के राष्टï्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने आरोप लगाया था कि भारतीय जनता पार्टी नेतृत्व की आंतरिक खींचतान का असर राज्य के कामकाज पर भी पड़ रहा है। जनहित के निर्णयों में देर की वजह से विकास योजनाएं ठप पड़ी हैं। सरकारी मशीनरी कुंठित और निष्क्रिय भूमिका में है। इलाज और दवा की मारामारी से चारों तरफ हाहाकार मचा है। अखिलेश ने कहा कि बिगड़ती स्थितियों में चार वर्ष बाद भाजपा और सरकार में तालमेल बिठाने के लिए संगठन नेतृत्व को बैठक करनी पड़ रही है।
बीजेपी का दामन छोड़ सपा में शामिल हुईं नेहा
सपा सरकार में रहे पूर्व कैबिनेट मंत्री/पूर्व प्रदेश महासचिव अरविंद कुमार सिंह गोप के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी बाराबंकी के जिलाध्यक्ष हाफिज अयाज अहमद की अध्यक्षता में जिला पंचायत सदस्य नेहा सिंह आनंद ने भारतीय जनता पार्टी का दामन छोड़ कर समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। इन्होंने समाजवादी पार्टी की नीतियों और अखिलेश यादव के नेतृत्व में आस्था जताते हुए 2022 में समाजवादी पार्टी की सरकार बनाने के लिए एकजुट होकर प्रयास करने का संकल्प जताया। इस मौके पर पूर्व विधायक रामगोपाल रावत, जिला उपाध्यक्ष अजय कुमार वर्मा, बबलू जी, पूर्व प्रमुख हसमत अली, युवा सपा नेता जीशान असलम, जिलाध्यक्ष युवजन सभा आशीष सिंह आर्यन, युवा सपा नेता श्याम सिंह, श्री शैलेंद्र सिंह आदि सपा नेता मौजूद रहे।

Next Story
Share it