Top

उत्तर प्रदेश में आत्मनिर्भर भारत के सपने को साकार करने में जुटे नवनीत सहगल

उत्तर प्रदेश में आत्मनिर्भर भारत के सपने को साकार करने में जुटे नवनीत सहगल

  • निर्यात को बढ़ावा देने के लिए किया 25 जिलों का चयन
  • 1.2 लाख से बढ़ाकर तीन लाख करोड़ का रखा निर्यात का लक्ष्य
4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। यूपी के चर्चित आईएएस अफसर नवनीत सहगल ने कहा यूपी का निर्यात बढ़ाकर तीन लाख करोड़ का लक्ष्य सरकार ने रखा है। इसे अमलीजामा पहनाने के लिए विभाग तैयारियों में जुटा हुआ है। उन्होंने इसके लिए अधिकारियों को कार्य में तेजी लाने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए। सूक्ष्म, लघु-मध्यम उद्यम एवं निर्यात प्रोत्साहन विभाग के अपर मुख्य सचिव डॉ. नवनीत सहगल ने बताया कि प्रदेश में वर्तमान व्यापार अवसरों, विनिर्माण व निर्यात क्षमता की समीक्षा के माध्यम से निर्यात के लिए सबसे ज्यादा संभावना वाले प्राथमिक क्षेत्रों की पहचान की गई है। सहगल ने बताया कि प्रदेश के 25 मुख्य जिलों में ऐसे 17 प्राथमिक क्षेत्रों का चिन्हीकरण किया गया है। इनमें इलेक्ट्रानिक एंड इलेक्ट्रिकल आइटम व कपड़ों के कारोबार के िलए गौतमबुद्घनगर, चर्म एवं चर्म उत्पाद कानपुर, आगरा व उन्नाव, मशीनरी उपकरण गौतमबुद्घनगर व गाजियाबाद के लिए चिन्हित किए गए हैं। विभागीय अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक करते हुए अपर मुख्य सचिव नवनीत सहगल ने बताया कि यूपी से निर्यात को 1.2 लाख करोड़ रुपए से बढ़ाकर तीन लाख करोड़ रुपए तक पहुंचाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। उन्होंने बताया कि अगले आने वाले दस सालों के लिए प्रदेश सरकार यूपी में निर्यात संवर्धन परिषद के माध्यम से अगले पांच वर्षों के लिए निर्यात की रणनीति तैयार कर रही है। ताकि निर्यातकों को आपदा से उबरने और राज्य में निर्यात वृद्घि में सहायता मिल सके। इसके अलावा उन्होंने यह भी बताया कि अब तक लगभग 650 लाख क्विंटल धान खरीदा जा चुका है। लगभग 11,000 करोड़ रुपए से ज्यादा किसानों को भुगतान भी किया गया। किसान सम्मान मिशन भी चलाया जा रहा है। किसानों को कृषि से संबधित सभी जानकारियां उपलब्ध कराई जा रही हैं।
फिल्म प्रोड्ïयूसर अमर बुटाला को सहगल ने भेंट की ब्लैक पॉटरी
एमएसएमई के अपर मुख्य सचिव नवनीत सहगल से फिल्म प्रोड्ïयूसर अमर बुटाला ने भेंट की। इसके बाद सहगल ने उन्हें वोकल फॉर लोकल के तहत आजमगढ़ का ओडीओपी(एक जनपद एक उत्पाद) ब्लैक पॉटरी भेंट किया व उसकी विशेषताओं से अवगत कराया। उन्होंने बुटाला को बताया कि यह पॉटरी आजमगढ़ के निजामाबाद की खास पहचान है। निजामाबाद की विश्व प्रसिद्घ ब्लैक पॉटरी पूरे विश्व में अपना अलग स्थान रखती है। इसकी मांग देश के विभिन्न हिस्सों के साथ विदेशों तक है। सहगल ने कहा परंपरागत उद्योग को बढ़ावा देने के लिए एक जिला एक उत्पाद के तहत निजामाबाद की ब्लैक पॉटरी को विश्व स्तर पर फिर से पहचान दिलाई जाएगी। फिल्म प्रोड्ïयूसर बुटाला ने ब्लैक पॉटरी लेकर सहगल का आभार जताया।


ड्राइवर को वेतन मांगने की सजा थर्ड डिग्री, पुलिस कमिश्नर ने दिए जांच के आदेश
  • चालक की पिटाई का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल
4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। हसनगंज पुलिस पर ड्राइवर ओम को थर्ड डिग्री दिए जाने का आरोप लगा है। वहीं चालक की पिटाई के बाद उसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है। बताया जा रहा है कि हसनगंज थाने की पुलिस ने गाड़ी मालिक के कहने पर ड्राइवर ओम को वेतन मांगने पर थर्ड ड्रिग्री टार्चर किया है। पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने डीसीपी उत्तरी रईस अख्तर को मामले की जांच के आदेश दिए हैं। जानकारी के मुताबिक ओम हसनगंज थाना क्षेत्र के बब्बू वाली गली का रहने वाला है। वह पेशे से ड्राइवर है। ओम का आरोप है कि गाड़ी मालिक से उसे वेतन मांगना भारी पड़ गया। वेतन न देने पर इसकी शिकायत लेकर थाने गया था। ओम का आरोप है कि गाड़ी मालिक ने हसनगंज थाने पर पुलिसकर्मियों के साथ मिलकर ड्राइवर को बेरहमी से पिटवाया। ओम का आरोप है कि पृथ्वी राज, सुमित कुमार और अंकुर सिंह नामक पुलिसकर्मियों ने मिलकर वाहन मालिक के कहने पर जमकर पिटाई की। वहीं डीसीपी उत्तरी रईस अख्तर ने बताया कि बीते 23 अगस्त 2018 को एसआई पृथ्वीराज ने ओम को अवैध तमंचे के साथ गिरफ्तार किया था। इसका मुकदमा दर्ज है। हालांकि पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने डीसीपी उत्तरी को घटना के संबंध में जांच के आदेश दिए हैं और कहा कि पीड़ित से भी पूछताछ की जाए।

लखनऊ के 98 बूथों पर वैक्सीनेशन शुरू

  • फ्रंटलाइन वर्करों का आज दूसरा चक्र, 28 अस्पतालों में चल रहा अभियान
4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। कोविड-19 वैक्सीनेशन के दूसरे चरण के दूसरे चक्र में स्वास्थ्य विभाग ने आज फ्रंटलाइन वर्करों का टीकाकरण का शुरू कर दिया है। आज 12250 कर्मियों को टीका लगाने के लिए 28 अस्पतालों व जिला जेल समेत कुल 29 केंद्रों पर 98 बूथ बनाए गए हैं। ऐशबाग डिपो से बुधवार की देर शाम सभी कोल्ड चेन प्वाइंट पर वैक्सीन रवाना कर दी गई थी, जहां से आज सुबह आठ बजे अन्य सभी वैक्सीनेशन केन्द्रों पर वैक्सीन भेज दी गई। दूसरे चरण का पहला चक्र पांच फरवरी को ही पूरा किया जा चुका है। अबकी बार 50 फीसदी लोगों को कोविशील्ड व 50 फीसदी को को-वैक्सीन दी जा रही है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार 12 फरवरी को भी इतने ही बूथों पर इतने ही कर्मचारियों का वैक्सीनेशन किया जाएगा। हर बार की तरह प्रत्येक बूथ पर 100 से 125 फ्रंटलाइन वर्कर का टीकाकरण होना है। इसके लिए केजीएमयू में सर्वाधिक 20 बूथ बनाए गए हैं। वहीं जिला जेल में तीन बूथ बने हैं। लोहिया संस्थान, लोकबंधु अस्पताल, केजीएमयू एसजीपीजीआई, रानी लक्ष्मीबाई अस्पताल इत्यादि में टीकाकरण सुबह नौ से शुरू हो गया है जो कि शाम पांच बजे तक होगा। इसके अलावा छूटे हुए स्वास्थ्यकर्मियों को भी कोरोना की डोज दी जा रही है।
इस बार 50 फीसदी को लगेगी को-वैक्सीन
सीएमओ डॉ. संजय भटनागर ने बताया कि इस बार 50 फीसदी को कोविशील्ड व 50 फीसदी लोगों को को-वैक्सीन की डोज दी जाएगी। 14 केन्द्रों पर को-वैक्सीन व शेष केंद्रों पर कोविशील्ड लगाई जाएगी। 15 फरवरी को होने वाले मॉपअप राउंड के लिए भी कोवैक्सीन सुरक्षित रख ली गई है। पिछली बार लोकबंधु अस्पताल, रानी लक्ष्मीबाई अस्पताल व डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी सिविल अस्पताल में को-वैक्सीन की डोज दी गई थी।

यूपी बोर्ड: शिक्षकों को 15 दिन में देना होगा आईकार्ड

4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। आगामी 24 अप्रैल से शुरू होने वाली यूपी बोर्ड हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षाओं के लिए केंद्रों का निर्धारण करने के बाद अब कक्ष निरीक्षकों के आइकार्ड बनाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। जिला विद्यालय निरीक्षक ने स्कूलों से 15 दिन में आईकार्ड के निर्धारित प्रारूप पर शिक्षकों का विवरण देने के लिए कहा है। इसके बाद पहचान पत्र बनाए जाएंगे। लखनऊ में यूपी बोर्ड परीक्षा के लिए 135 केंद्र प्रस्तवित किए गए हैं। अब परीक्षा के लिए कक्ष निरीक्षकों की ड्यूटी लगाई जानी है। कोविड की वजह से प्राइवेट स्कूलों में शिक्षकों की संख्या कम हो गई है, ऐसे में बोर्ड परीक्षा के दौरान शिक्षकों की कमी को देखते हुए जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय ने सभी स्कूलों से 2021 की बोर्ड परीक्षा के लिए अभी से तैयारी शुरू कर दी है। सभी स्कूलों को पत्र जारी कर 15 दिन में अपने यहां पढ़ाने वाले शिक्षकों का ब्यौरा आइकार्ड के निर्धारित प्रारूप पर देने के लिए कहा है।

Next Story
Share it