राहुल गांधी ने साधा भाजपा और आरएसएस पर निशाना

राहुल गांधी ने साधा भाजपा और आरएसएस पर निशाना


नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी और आरएसएस को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी के विवादित बयान पर बीजेपी नेता संबित पात्रा ने पलटवार किया है। संबित पात्रा ने कहा कि भगवान को राजनीति में लाना गलत है। इसके साथ ही राहुल गांधी को देवताओं का अपमान करने के लिए माफी मांगनी चाहिए। भाजपा नेता ने कहा कि कांग्रेस की हिंदुत्व से दुश्मनी है। आपको बता दें कि इससे पहले राहुल गांधी ने अपने बयान में कहा था कि वह खुद को हिंदू पार्टी बताते हैं और पूरे देश में लक्ष्मी और दुर्गा पर हमला करते हैं। वे जहां जाते हैं, कहीं लक्ष्मी को मारते हैं, कहीं दुर्गा को मारते हैं। वे हिंदू धर्म का उपयोग करते हैं, वे धर्म की दलाली करते हैं। लेकिन वे हिंदू नहीं हैं। उन्होंने कहा कि जब आप (महात्मा) गांधी की तस्वीर देखेंगे तो आपको उनके आसपास 2-3 महिलाएं नजर आएंगी। क्या आपने किसी महिला के साथ मोहन भागवत की तस्वीर देखी है? ऐसा इसलिए है क्योंकि उनका संगठन महिलाओं का दमन करता है और हमारा संगठन उन्हें एक मंच देता है। मोदी-आरएसएस ने किसी महिला को देश का पीएम नहीं बनाया।
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को राजधानी दिल्ली में बीजेपी पर जमकर निशाना साध।. उन्होंने कहा कि कांग्रेस की विचारधारा भाजपा और आरएसएस से अलग है। एक कांग्रेस कार्यकर्ता के रूप में मैं अन्य विचारधाराओं के साथ समझौता कर सकता हूं लेकिन भाजपा और आरएसएस की विचारधारा से नहीं। हमारे लिए यह एक बड़ा सवाल है कि गांधी, कांग्रेस, गोडसे और सावरकर की विचारधाराओं में क्या अंतर है. राहुल गांधी ने कहा कि मैं दूसरी विचारधाराओं से समझौता कर सकता हूं, लेकिन आरएसएस और बीजेपी की विचारधारा से कभी समझौता नहीं कर सकता।
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आगे कहा कि अगर महात्मा गांधी ने हिंदू धर्म को समझने के लिए अपना पूरा जीवन लगा दिया तो गोडसे ने उन्हें क्यों मारा। यह एक विरोधाभास है और आपको इसके बारे में सोचना होगा। बीजेपी-आरएसएस के लोग कहते हैं कि वे हिंदू पार्टी हैं। पिछले 100-200 वर्षों में, महात्मा गांधी वह व्यक्ति हैं जिन्होंने हिंदू धर्म को समझा और उसका पालन किया। हम इसे और भाजपा और आरएसएस के लोगों को भी पहचानते हैं।


Next Story
Share it