Top

पुलिस जनता के प्रति नहीं, बदमाशों के प्रति बने क्रूर तभी आमजन में बढ़ेगा विश्वास : डीके ठाकुर

पुलिस जनता के प्रति नहीं, बदमाशों के प्रति बने क्रूर तभी आमजन में बढ़ेगा विश्वास : डीके ठाकुर

  • गोमतीनगर विस्तार थाने में पुलिस कमिश्नर ने गरीबों को बांटे कंबल
  • अपराधियों के पीछे दौड़ने वाली पुलिस ने गरीबों के मदद के लिए बढ़ाए हाथ
  • कम्युनिटी पुलिसिंग पर डीके ठाकुर ने दिया जोर
4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। पुलिस जनता के प्रति नहीं बल्कि बदमाशों के प्रति क्रूर बने। इससे जनता का पुलिस में विश्वास बढ़ेगा और हम एक अच्छे समाज कि स्थापना कर पाएंगे। यह शब्द पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने गोमतीनगर विस्तार थाने में कंबल वितरण कार्यक्रम के दौरान पुलिसकर्मियों और जनता को संबोधित करते हुए कहे। जनता का पुलिस में विश्वास बनाने के लिए पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर कम्युनिटी पुलिसिंग पर जोर दे रहे हैं। इसके लिए पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने खुद गोमतीनगर विस्तार थाने पहुंचकर कड़कड़ाती ठंड से बचने के लिए गरीबो में कंबल वितरण किया। यह आयोजन पूजा फाउंडेशन की ओर से किया गया था। पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने कहा कि हम सभी कम्युनिटी पुलिसिंग की बात तो करते हैं लेकिन इसे सार्थक रूप देने में साकार नहीं हो पाए हैं। उन्होंने गोमतीनगर विस्तार थाने में जनता और पुलिस के बीच सामंजस्य को सराहा। हाल ही में गोमतीनगर विस्तार के प्रतिष्ठित लोगों के साथ गोमतीनगर विस्तार पुलिस ने एक वाट्ïसअप ग्रुप बनाया है। इस ग्रुप में क्षेत्रीय पुलिस सारी गतिविधियां डालती रहती है, जिससे जनता पर पुलिस का विश्वास भी बढ़ा है। कमिश्नर ने इस मुहिम की सराहना करते हुए अन्य थाना क्षेत्रों में भी इसी प्रकार लोगों में सामंजस्य बनाकर कानून व्यवस्था बनाए रखने की अपील की है। डीके ने कहा हम लोक तांत्रिक देश में रहते हैं लेकिन फिर भी आज तक देश में लोगों का पुलिस पर विश्वास नहीं कायम हो पाया है। जनता पुलिस को मित्र नहीं बल्कि शत्रु के रूप में देखती है। इसमें समाज और पुलिस की कमी है कि हम ऐसे पुलिसिंग का प्रबंधन नहीं कर पा रहे हैं। गरीबों के लिए किए गए इस आयोजन में 4पीएम सांध्य दैनिक समाचार पत्र के सम्पादक संजय शर्मा, पूजा फाउडेशन के संस्थापक प्रदीप सिंह, प्रशांत विजय सिंह और जनकल्याण समिति के अध्यक्ष उमाशंकर दुबे सहित अन्य लोग मौजूद रहें।
जनता के बीच कमिश्नर ने नई छवि पेश की
कार्यक्रम में 4पीएम के सम्पादक संजय शर्मा ने पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर के द्वारा पुलिस टीम को कम्युनिटी पुलिसिंग को बढ़ावा देने पर जमकर सराहना की। संजय शर्मा ने कहा कि डीके ठाकुर अपने कार्यों से जनता के बीच पुलिस की एक नई छवि पेश कर रहे हैं, जिससे जनता में पुलिस का विश्वास बढ़ा है। उन्होंने गोमतीनगर विस्तार की सोसाइटी और पुलिस के संयुक्त व्हाट्ïसअप ग्रुप में पुलिस की भूमिका की सराहना की। संजय शर्मा ने पुलिस कमिश्नर के निर्देशन में विस्तार क्षेत्र में देर रात पुलिस की मुस्तैदी के साथ ही बनाए गए व्हाट्सएप ग्रुप में गतिविधियों को पुलिस द्वारा अवगत कराने की तारीफ की।

रैली का उद्देश्य जनता को जागरूक करना : नवीन अरोरा

4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। राजधानी के 1090 चौराहे से जेसीपी नवीन अरोरा के नेतृत्व में कोविड-19 जागरुकता बाइक रैली निकाली गई। इस दौरान पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने हरी झंडी दिखाकर रैली को रवाना किया। जेसीपी ने बताया कि रैली का मुख्य उद्देश्य जनता को जागरूक करना है। इस दौरान एडीसीपी ट्रैफिक पूर्णेदु सिंह, एसीपी हजरतगंज राघवेंद्र कुमार मिश्र, इंस्पेक्टर गौतमपल्ली रवींद्र नाथ सिंह, इंस्पेक्टर हजरतगंज श्याम बाबू शुक्ला मौजूद रहे। रैली गोल्फ चौराहे के रास्ते से बंदरिया बाग, सिसेंडी तिराहा, रॉयल होटल चौराहे से हुसैनगंज चौराहा, केकेसी, रवींद्रालय से हजरतगंज, मीराबाई मार्ग, सप्रू मार्ग तिराहा से सिकंदरबाग और दैनिक जागरण चौराहे से जियामऊ होकर पुन: 1090 चौराहे पर पहुंची। बाइक और स्कूटी सवार पुलिस कर्मियों के हाथ में कोविड जागरूकता से संबंधित स्लोगन लिखी तख्तियां थीं। रैली में हिस्सा लेने वाले पुलिसकर्मियों को पीपीई किट, मास्क और प्रशस्ति पत्र दिया गया।



युवक का आरोप- बरहज विधायक ने मुझे व मेरी मां को साथियों संग पीटा

भाजपा विधायक बोले- कर्ज लिये रुपये न देना पड़े इसलिए बोल रहा झूठ

  • देवरिया जिले के रुद्रपुर कोतवाली क्षेत्र के ग्राम रनिहवां का मामला
  • विधायक सुरेश तिवारी बोले युवक द्वारा मारने पीटने का आरोप बेबुनियाद
4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। देवरिया में रुद्रपुर कोतवाली क्षेत्र के ग्राम रनिहवां निवासी एक युवक ने बरहज के भाजपा विधायक सुरेश तिवारी व उनके गनर पर मारपीट का आरोप लगाया है। मामला भूमि विवाद से जुड़ा बताया जा रहा है। हालांकि विधायक तिवारी ने इस आरोप को बेबुनियाद बता रहे हैं। युवक ने अपना आरोप वीडियो रिकार्ड कर जारी किया है। वहीं एसपी का कहना है कि शिकायत मिलने पर कार्रवाई की जाएगी। गांव के बजरंगी त्रिपाठी का कहना है कि पुराने विवाद को लेकर विधायक व उनके गनर ने मेरी पिटाई की। साथ ही परिवार के लोगों की भी पिटाई की है। मेरी मां की भी उन लोगों ने पिटाई की, जिससे वह बेहोश होकर गिर पड़ी। मेरी हत्या भी कराई जा सकती है। एसपी श्रीपति मिश्रा का कहना है कि इस तरह की कोई भी शिकायत उन्हें नहीं मिली है। शिकायत मिलेगी तो जांच कराई जाएगी। इस पूरे मामले में विधायक सुरेश तिवारी का कहना है कि बजरंगी उनसे एक लाख 85 हजार रुपए उधार कई वर्ष पहले लिया है। रुपये की मांग की जा रही है तो यह साजिश के तहत ड्रामा कर रहा है। रुपये लेने का लिखित प्रमाण है। उसके साथ कोई मारपीट नहीं की गई है। मैं या मेरे किसी व्यक्ति ने उस बजरंगी को छुआ तक नहीं है। मारने पीटने का आरोप पूरी तरह से बेबुनियाद है।

विधान परिषद में जनसूचना अधिकारी तक नहीं: नूतन

  • विधान परिषद सचिवालय प्रशासन के खिलाफ सूचना आयोग में की शिकायत
4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। एक्टिविस्ट डॉ. नूतन ठाकुर ने कहा कि विधान परिषद् सचिवालय प्रशासन ने अभी तक विधान परिषद में जनसूचना अधिकारी तक नहीं नियुक्त किया है। इससे कई काम अटके हुए हैं। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश विधान परिषद् को भेजे गए एक आरटीआई प्रार्थनापत्र से यह सामने आया है कि विधान परिषद् में जन सूचना अधिकारी तक नहीं हैं। नूतन ने विधान परिषद सचिवालय से विशेष कार्याधिकारी प्रकाशन, संपादक अनुसेवक आदि की नियुक्ति के संबंध में जारी विज्ञापन संख्या 1/2020 से संबंधित अभिलेख मांगे थे। साथ ही उन्होंने इन पदों पर परीक्षा कराने के लिए चयनित संस्था से संबंधित जानकारी भी मांगी थी। उन्होंने इस संबंध में स्पीड पोस्ट के माध्यम से पत्र प्रेषित किया। विधान परिषद् सचिवालय ने यह कहते हुए पत्र लेने से मना कर दिया कि प्राप्तकर्ता विधान परिषद् में नहीं बैठते हैं और डाक विभाग द्वारा पत्र नूतन को वापस कर दिया गया। नूतन ने आरटीआई एक्ट 2005 के बनने के 15 साल बाद भी विधान परिषद् में लोक सूचना अधिकारी तक नहीं नियुक्त होने तथा इस प्रकार आरटीआई विषयक आवेदनपत्र को वापस किए जाने को गंभीर अनियमितता बताते हुए विधान परिषद् सचिवालय प्रशासन के खिलाफ उत्तर प्रदेश सूचना आयोग में शिकायत भेजी है।

आबकारी विभाग सबसे ज्यादा राजस्व देने वाला विभाग

4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। कोविड के बंदी के बाद भी आबकारी विभाग सबसे ज्यादा राजस्व देने वाला विभाग बन गया है। इस साल दिसम्बर में यूपी में शराब बिक्री से होने वाले राजस्व का आंकड़ा लगभग 3000 करोड़ से ज्यादा होने वाला है। आबकारी विभाग के आंकड़ों के पर अगर गौर किया जाय तो कल तक लगभग 2700 करोड़ रुपये का राजस्व आ चुका है और आज और कल के बीच में लगभग 300 करोड़ से ज्यादा की आय उत्तर प्रदेश सरकार को होने की उम्मीद है। ये हालात तब है जब कि नए साल पर होने वाले कार्यक्रमो पर सरकार ने काफी बंदिशें लगा रखी है। पिछले वर्ष के आकड़ों की अगर बात करे तो दिसम्बर महीने में आबकारी विभाग का पूरा राजस्व 2000 करोड़ तक था लेकिन कोविड के कहर के बाद भी इस महीने अब तक ये आंकड़ा 2700 करोड़ पहुच गया। फिलहाल इस वर्ष का टारगेट विभाग की तरफ से लगभग 30 हजार करोड़ से ऊपर का रखा गया है जो कि पिछले वर्ष से लगभग 3000 करोड़ रुपया ज्यादा है।

Next Story
Share it