Top

जितिन का भाजपा में जाना कांग्रेस के लिए सबक

जितिन का भाजपा में जाना कांग्रेस के लिए सबक

  • जितिन प्रसाद के आने से यूपी में भाजपा को कोई खास फायदा नहीं

4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। कल तक भाजपा पर ब्राह्मणों की दर्जनों हत्या का आरोप लगाने वाले कांग्रेस के जितिन अब भाजपा के पक्ष में कांग्रेस को कोसेंगे। यही तो राजनीति है। राजनीति का ऊंट इसे ही तो कहते हैं। जितिन प्रसाद का भाजपा में जाना कांग्रेस के लिए नाकामी है। यूपी के पिछले विधानसभा और लोकसभा चुनाव के परिणामों से भी कांग्रेस ने कुछ सीखा नहीं है, यहां तक कि अभी भी पार्टी के पास कोई स्थायी सदस्य नहीं है। जितिन के पिता जितेंद्र भी पार्टी के अंदर लड़कर मजबूत हुए थे, उन्होंने सोनिया गांधी व राजीव गांधी तक को चुनौती दे दी थी। कांग्रेस पार्टी में रहते हुए जितिन के अन्दर जिस तरह का वैचारिक भटकाव था, वह दुखद है। ऐसे समय में जब यूपी भाजपा के अन्दर राजनीतिक संकट जारी है, उस बीच जितिन प्रसाद को ब्राह्मण चेहरा बताकर पार्टी में लाना ब्राह्मणों को खुश करने का एक तरीका मात्र है। ये बात निकलकर आई प्रेस क्लब ऑफ इंडिया के अध्यक्ष उमाकांत लखेड़ा, कई बड़े चैनलों और अखबारों के संपादक रहे एस हनुमंत राव, वरिष्ठï पत्रकार ममता त्रिपाठी, प्रेस क्लब बरेली के अध्यक्ष पवन सक्सेना व 4पीएम के संपादक संजय शर्मा के साथ परिचर्चा में।

परिचर्चा में हनुमंत राव ने कहा जितिन की एंट्री के बाद बड़ा सवाल यही है कि क्या इनके चेहरे को आगे लाकर यूपी में पिछले कुछ समय से भाजपा के लिए चल रही ब्राह्मणों के प्रति सोच को सही किया जाएगा या फिर इन्हें बड़ी जिम्मेदारी दी जाएगी? ममता त्रिपाठी ने कहा जितिन ऐसे नेता हैं जिन्होंने लगातार चुनाव हारे हैं, ऐसे में भाजपा को ज्यादा फायदा नहीं मिलेगा। वहीं पवन सक्सेना ने कहा जितिन के लिए सबसे बड़ी मुश्किल यह है कि भाजपा में जाने के बाद वह अपने मुख्य वोटरों को कैसे समझा पाएंगे, क्योंकि चुनावों में उन्हें मुस्लिम समेत सभी वर्गों से वोट पाते थे। उमाकांत लखेड़ा ने कहा जितिन ने पिछले कई चुनाव हारे हैं ऐसे में मुझे नहीं लगता कि उनके आने से किसी तरह का फायदा भाजपा को होने वाला है।




भाजपा राज में गरीबों को नहीं मिल रहा उनका हक: संजय

  • आप नेता ने योगी सरकार पर बोला जोरदार हमला

4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। राज्यसभा सदस्य व आम आदमी पार्टी के यूपी प्रभारी संजय सिंह ने योगी सरकार पर जोरदार हमला बोला है। उन्होंने कहा यूपी में जब सपा का शासन था। तब भाजपा के नेता आरोप लगाते थे कि यूपी में सरकार आंख मूंदकर यादव लोगों की भर्तियां कर रही है, लेकिन अब यही योगी सरकार में भी हो रहा है। आरोप है कि बांदा कृषि विश्वविद्यालय में प्रोफेसर की जो नियुक्तियां हुई हैं, उसमें सामान्य जाति के कोटे में ठाकुर अभ्यर्थियों का ही सिलेक्शन किया गया है। संजय सिंह ने कहा भाजपा सरकार में भी वंशवाद व जातिवाद पनप रहा है। जातिवाद के चलते ही योगी सरकार ठाकुरों को नौकरियों में वरीयता दे रही हैं। ऐसे में योगी से मेरी अपील है कि जरा ध्यान दें... ये है भाजपा का सबका साथ सबका विकास। जनता इसका जवाब आने वाले 2022 यूपी चुनाव में देगी। संजय सिंह ने कहा कि मैं बार-बार कहता हूं कि भाजपा दलितों/पिछड़ों की विरोधी के इस मामले में भी एससी, एसटी, ओबीसी की नौकरी खा ली गई। उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ जी एक बात साफ कीजिए कि अगर 15 में से 11 भर्ती एक जाति की हुई तो आरक्षण का क्या हुआ? ये तो खुलेआम गरीबों का हक मारा जा रहा है। उधर, बिकरू कांड के आरोपी अमर दुबे की पत्नी खुशी दुबे सहित चार महिलाओं और ढाई साल के मासूम बच्चे की रिहाई की मांग को लेकर आप नेता नीलम यादव के नेतृत्व में महिला कार्यकर्ताओं ने शक्ति प्रदर्शन किया।

बिजली आपूर्ति की शिकायतों का तत्काल करें निस्तारण : श्रीकांत

4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। बिजली कटौती की लगातार मिल रही शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने अफसरों को निर्देश दिए हैं कि बिजली आपूर्ति संबंधी समस्याओं का त्वरित निस्तारण सुनिश्चित किया जाए। मंत्री ने पावर कारपोरेशन के अध्यक्ष को यह भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं कि गांवों में सूर्यास्त से सूर्योदय तक बिजली आपूर्ति बनी रहे। शक्ति भवन में विभागीय समीक्षा करत हुए ऊर्जा मंत्री ने कहा कि आंशिक कोरोना कर्फ्यू हटने से सभी तरह की गतिविधियां धीरे-धीरे शुरू होंगी। ऐसे में भी हमें संवेदनशीलता से काम करते रहना है ताकि प्रदेशवासियों को निर्बाध बिजली मिलती रहे। उन्होंने कहा कि सिंचाई के लिए किसानों को बिजली आपूर्ति की समस्या नहीं होनी चाहिए। जहां ट्रांसफार्मर खराब होने की शिकायतें हैं। वहां प्राथमिकता पर उसे बदलकर आपूर्ति बहाल की जाए।

मोबाइल पर बातकर लड़कों संग भाग जाती हैं लड़कियां

  • रेप मामले में बोलीं यूपी महिला आयोग की सदस्य मीना कुमारी
  • विवादित बयान पर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष भड़कीं, बताया घटिया मानसिकता

4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। उत्तर प्रदेश राज्य महिला आयोग की सदस्य मीना कुमारी ने मीडिया से बात करते हुए एक विवादित टिप्पणी की। अलीगढ़ समेत प्रदेश के कई इलाकों में रेप के मामलों पर पूछे एक सवाल के जवाब में मीना कुमारी ने कहा कि समाज को अपनी बेटियों को भी देखना होगा कि वो कहां जा रही हैं। मैं सबको बोलती हूं कि लड़कियां मोबाइल से बात करती रहती हैं और मैटर वहां तक पहुंच जाता है कि वो उसे शादी के लिए लेकर भाग जाती हैं। रेप की घटनाओं पर एक पत्रकार ने सवाल किया कि क्या कारण है कि यूपी में रेप के केस क्यों नहीं रुक रहे। मीना कुमारी ने कहा कि सख्ती तो खूब हो रही है। समाज में इस तरह के केस नहीं रुक रहे। हम लोगों के साथ-साथ समाज को भी इसमें पैरवी करनी होगी। मीना कुमारी ने कहा, अपनी बेटियों को भी देखना होगा कि कहां जा रही हैं और किस लड़के साथ बैठ रही हैं। मोबाइल को भी देखना होगा। इस बयान पर दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा, नहीं मैडम, लड़की के हाथ में फोन रेप का कारण नहीं है। आपने घटिया मानसिकता वाली बात कही है।

Next Story
Share it