मिशन 2022 : तो विकास की नाव पर हिंदुत्व की सवारी करेगी भाजपा

मिशन 2022 : तो विकास की नाव पर हिंदुत्व की सवारी करेगी भाजपा

  • दिल्ली में जारी है मंथन, नाराज सांसदों और विधायकों को साधने की कवायद
  • राम मंदिर निर्माण होगा प्रमुख मुद्दा, जातीय समीकरण पर भी फोकस
  • इरादे नेक, काम अनेक के नए नारे के साथ चुनावी मैदान में उतरेगी भाजपा

4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। यूपी में विधान सभा चुनाव को लेकर सियासी सरगर्मियां तेज हो गई हैं। सत्ता में वापसी के लिए दिल्ली से लेकर लखनऊ तक भाजपा का मंथन जारी है। शीर्ष नेतृत्व न केवल यूपी सरकार से नाराज विधायकों और सांसदों को साधने में जुटी हुई है बल्कि जातीय समीकरण से लेकर हिंदुत्व तक का इस्तेमाल करने की तैयारी कर रही है। विकास की नाव पर हिंदुत्व की सवारी करने के लिए राम मंदिर निर्माण का मुद्दा चुनाव में दिखेगा। हालांकि योगी सरकार इरादे नेक काम अनेक के नारे के साथ चुनावी मैदान में ताल ठोकती दिखेगी। यूपी चुनाव में एक बार फिर से जीत का परचम लहराने के लिए भाजपा ने अभी से कमर कसनी शुरू कर दी है। दिल्ली में शीर्ष नेतृत्व और यूपी के मंत्री और सांसदों की बैठक जारी है। इसमें चुनाव को लेकर फुल प्रूफ प्लान तैयार किया जा रहा है। 'इरादे नेक, काम अनेकÓ नारे के जरिये भाजपा विधान सभा चुनाव में उतरेगी। भाजपा ने 'विकास और विश्वासÓ को आधार बना कर चुनाव लड़ने का मन बनाया है। नारे के साथ जो बुकलेट बनायी गयी है उसके मुख्य पेज पर अयोध्या में विराजमान रामलला की तस्वीर लगाई गई है। तस्वीर के पीछे का मकसद जनता को किसी न किसी बहाने अयोध्या में चल रहे राम मंदिर निर्माण की याद दिलाते रहना है। इससे साफ है कि सरकार जनता के बीच अपने कामों को तो बताएगी ही मगर उसका एजेंडा हिंदुत्व रहेगा। प्रदेश भाजपा ने कामों को गिनाने की रणनीति बनाई है। इसके तहत वह सरकार कोरोना संक्रमण से जंग, किसान हित, रोजगार और माफिया के खिलाफ कार्रवाई को मुद्दा बनाएगी। सरकार का दावा है कि मिशन रोजगार के तहत 4.25 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी दी गई है। तीन लाख युवाओं को संविदा पर सरकारी नियुक्ति दी गई है जबकि 82 लाख एमएसएमई इकाइयों को तीन लाख करोड़ ऋण देकर लगभग दो करोड़ युवाओं को रोजगार दिया गया है। साथ ही एक जनपद, एक उत्पाद योजना में भी 25 लाख लोगों को रोजगार देने का दावा किया गया है। इसके अलावा भाजपा ने हिंदुत्व को धार देने के लिए सरकार प्रयागराज में दिव्य और भव्य कुंभ का आयोजन, काशी विश्वनाथ धाम का विकास, गंगा यात्रा का आयोजन के साथ ही वाराणसी में भव्य देव दीपावली का आयोजन, मथुरा में भव्य कृष्णोत्सव एवं बरसाना में भव्य रंग उत्सव का आयोजन भी अपनी उपलब्धियों में शामिल किया है। इसके अलावा भाजपा की रणनीति अपनी सोशल इंजीनियरिंग पर भी है। वह न केवल ब्राह्मïणों समेत सर्वण वोटरों पर फोकस करेगी बल्कि दलित और ओबीसी वोटरों को भी रिझाने की पूरी कोशिश करेगी।

सांसदों को दी गई समझाइश

अब भाजपा ने सांसदों को मिशन यूपी में लगा दिया है। सांसदों को राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने विधान सभा चुनावों की तैयारी को लेकर समझाइश दी। बैठक में सांसदों को आगरे का पेठा देते हुए नसीहत भी दी गई कि आपसी कड़वाहट और मनमुटाव भूलकर संगठन के लिए एकजुट हो जाएं।

खुली जीप में निकलेंगी आशीर्वाद यात्राएं

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने सभी नए मंत्रियों और पार्टी के सांसदों से अपने-अपने क्षेत्रों में दौरा करने के लिए कहा है। शहरों के साथ गांवों में भी आशीर्वाद यात्राएं निकाली जाएंगी। ये यात्राएं खुली जीप में निकाली जाएंगी। साथ ही किसानों से चर्चा करने और उन्हें सरकार के नए कानून और योजनाओं की जानकारी देने के भी निर्देश दिए गए हैं। बीजेपी इस बार चुनाव में अपने कुछ विधायकों के टिकट काट सकती है। इससे कुछ जगहों पर बगावत हो सकती है। बगावती तेवर वाले विधायकों से निपटने की जिम्मेदारी भी सासंदों की होगी।

भाजपा 12 महीने काम करने वाली पार्टी है। आने वाले दिनों में उत्तर प्रदेश का विधानसभा चुनाव है तो स्वाभाविक रुप से हमारी पार्टी का जो कार्यक्रम है उनके संदर्भ में सभी ने विस्तार से चर्चा की है। बूथ स्तर तक जो कार्यकर्ता है उनसे कैसे संपर्क हो। केंद्र और राज्य सरकार की जो योजनाएं हैं वे आम जन तक कैसे पहुंचे ऐसे कई कार्यक्रमों को लेकर बैठक में चर्चा हुई है।

राजेंद्र अग्रवाल, सांसद, भाजपा

न भाजपा के इरादे नेक हैं न इसने कोई काम किया है। पीआर कंपनी के जरिए यूपी की राजनीति व अपनी छवि चमका रहे हैं। राम आस्था का विषय है। राम के नाम पर राजनीति करना शर्मनाक है।

जीशान हैदर, प्रवक्ता, कांग्रेस

धर्म के नाम पर राजनीति करना भाजपा का काम है। बैठकें दिल्ली में हो रही है क्योंकि पिछड़ा, दलित व ब्राह्मïण समाज योगी सरकार से नाराज है। सपा के कामों का शिलान्यास और उद्ïघाटन करना प्रदेश की भाजपा सरकार की आदत है। 2022 के चुनाव में जनता भाजपा को सिरे से नकार देगी।

डॉ. आशुतोष, प्रवक्ता, सपा

प्रदेश में महिलाएं व बेटियां सुरक्षित नहीं हैं। वहीं महंगाई आसमान पर पहुंच चुकी है। राम के नाम पर चंदा चोरी की है। इनकी नीयत में चोरी है। इरादे इनके ऐसे है कि कोरोना काल में प्रदेश में खूब घोटाले किए गए। इनके ही विधायकों व सांसदों की बात नहीं सुनी जाती है।

नीलम यादव, प्रदेश अध्यक्ष, महिला विंग, आप

काम होंगे नहीं और इरादे करने का है नहीं। यही वजह है कि पूर्वांचल एक्सप्रेस अब तक लटका पड़ा है। धर्म व राम के पर राजनीति अब नहीं चलेगी। यदि विकास के मुद्ïदे पर भाजपा चुनाव लड़ेगी तो उसकी हालत पतली हो जाएगी।

रोहित अग्रवाल, प्रवक्ता, आरएलडी



जासूसी कांड पर संसद गर्म, स्पीकर ने दी कार्रवाई की चेतावनी

  • संसद में आज भी विपक्ष ने किया जमकर हंगामा
  • दो विधेयक लोक सभा और एक राज्य सभा में पारित कराया सरकार ने

4पीएम न्यूज नेटवर्क. नई दिल्ली। पेगासस जासूसी कांड की जांच की मांग को लेकर विपक्षी दलों ने अब तक सदन की कार्यवाही नहीं चलने दी है। आज भी संसद में विपक्ष के हंगामें के चलते दोनों सदनों को स्थगित करना पड़ा। विपक्ष ने साफ कर दिया है कि जब तक सरकार चर्चा के लिए राजी नहीं होगी तब तक संसद का संग्राम ठप नहीं होगा। वहीं, लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने संसद में हंगामा करने वाले सांसदों को चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि अगर ऐसा ही होता रहा तो सदस्यों के खिलाफ कार्रवाई करनी होगी। वहीं सरकार ने लोकसभा में दो और राज्यसभा में एक विधेयक पारित कर यह साफ संदेश दे दिया है कि विपक्ष के दबाव की उसे परवाह नहीं। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने सदन में हंगामा करने वाले सांसदों को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर ऐसा ही चलता रहा तो मुझे सदन की मर्यादा बनाए रखने के लिए उन सदस्यों के खिलाफ कार्रवाई करनी होगी। सदन के कुछ सदस्य ऐसी घटनाओं को दोहरा रहे हैं जो संसद के नियमों के विरुद्ध हैं।

अकाली दल ने किया प्रदर्शन

शिरोमणि अकाली दल ने किसानों के मुद्दे पर संसद में प्रदर्शन किया। हरसिमरत कौर बादल ने कहा, नौ दिनों से मैं रोज स्थगन प्रस्ताव दे रही हूं अगर सरकार चर्चा चाहती तो स्थगन प्रस्ताव स्वीकार करके समय देती। ये अन्नदाता विरोधी सरकार है।

Next Story
Share it