Top

Loksabha में सत्ता और विपक्ष में घमासान

Loksabha में सत्ता और विपक्ष में घमासान

सत्ता और विपक्ष में घमासानलोक सभा में किसानों और कश्मीर के मुद्दे पर सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच जमकर घमासान हुआ। बजट सत्र में अपना जवाब पेश करते हुए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर सीधा हमला बोला। उन्होंने कांग्रेस पर किसानों को गुमराह करने का आरोप लगाया। वहीं कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी ने कश्मीर मुद्दे पर सरकार पर हमला करते हुए कहा कि धारा 370 हटाने के बाद सरकार ने कश्मीर में जो सपने दिखाए थे, वे पूरे नहीं हुए। कश्मीरी पंडित अभी तक वापस क्यों नहीं पहुंचे।

वोट के लिए किसानों को गुमराह कर रही कांग्रेस : सीतारमण

4पीएम न्यूज नेटवर्क. नई दिल्ली। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज बजट पर लोकसभा में अपना जवाब पेश किया और इसे नीतियों पर आधारित बताते हुए कहा कि सुधारों से भारत, दुनिया के शीर्ष अर्थव्यवस्था में शामिल होगा। यह बजट आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ाया गया एक कदम है। उन्होंने किसानों के लिए उठाए गए कदमों का जिक्र किया। साथ ही कांग्रेस नेता राहुल गांधी के बयान पर पलटवार किया। उन्होंने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि हम न दामाद के लिए काम करते हैं और न ही क्रोनी के लिए। हम देश की आम जनता के लिए काम करते हैं। हमने अर्थव्यवस्था को खोला और कई सुधार किए। भारतीय उद्यम जिस सम्मान का हकदार है हमने वह दिया। कांग्रेस क्यों पहले कृषि कानूनों का समर्थन करती थी और अब बदल गई। किसानों को ज्ञान देने वाली कांग्रेस बहुत से राज्यों में चुनाव जीतने के लिए कहती थी कि हम कृषि लोन देंगे लेकिन मध्य प्रदेश में यह लागू नहीं हुआ। कांग्रेस ने वोट के लिए किसानों को गुमराह किया और कर रही है। निर्मला ने राहुल के हम दो हमारे दो वाले बयान पर कहा कि दरअसल, हम दो हमारे दो ये हैं। हम दो लोग पार्टी की देखरेख कर रहे हैं। बाकी दो लोग (बेटी और दामाद) दूसरी चीजों को देखेंगे लेकिन हमारी पार्टी ऐसा नहीं करती है।
मोदी हों या मनमोहन, प्रधानमंत्रियों का हमेशा अपमान करते हैं राहुल
केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने राहुल गांधी के व्यवहार पर आक्रोश जाहिर करते हुए कहा कि प्रधानमंत्रियों का अपमान करना उनकी फितरत हो गई है, भले ही वो मनमोहन सिंह ही क्यों नहीं हों। पूर्व पीएम मनमोहन सिंह जब विदेश गए थे तो राहुल ने उनकी ओर से लाए गए अध्यादेश को फाड़कर फेंक दिया था। गौरतलब है कि राहुल ने चीन को लेकर कल पीएम मोदी के खिलाफ अभद्र शब्दों का इस्तेमाल किया था।

सरकार ने कश्मीर को जो सपने दिखाए थे, वे पूरे नहीं हुए : अधीर रंजन

  • कश्मीरी पंडितों को अभी तक क्यों नहीं लाया गया वापस
4पीएम न्यूज नेटवर्क. नई दिल्ली। संसद के बजट सत्र के पहले चरण का आज आखिरी दिन है। लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने जम्मू-कश्मीर को लेकर सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि सरकार ने अनुच्छेद 370 को खत्म करने के बाद जो सपने दिखाए थे, वे पूरे नहीं हुए हैं। जम्मू और कश्मीर में हालात सामान्य नहीं हुए। 90 हजार करोड़ रुपये से अधिक का स्थानीय व्यापार खत्म हो गया। हम चाहते हैं कि आप हमें बताएं कि आप जम्मू-कश्मीर में चीजों को कैसे सुधारेंगे। उन्होंने यह बात जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन (संशोधन) विधेयक,2021 पर चर्चा के दौरान कही। अधीर रंजन चौधरी ने आगे कहा कि अमित शाह जी, आपने कहा था कि आप ब्राह्मणों को वापस लाएंगे। क्या आप पंडितों को वापस लाने में सफल रहे? आप कहते हैं कि आप गिलगित बाल्टिस्तान वापस लाएंगे। यह बाद की बात है। लेकिन कम से कम उन लोगों को वापस लेकर आएं, जो आंतरिक रूप से विस्थापित हुए, जो लोग कश्मीर घाटी नहीं जा सकते। अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि आप कश्मीरी पंडितों को 200-300 एकड़ जमीन देने में सफल नहीं हुए। अपने चुनाव घोषणा पत्र में, आपने वादा किया था कि आप कश्मीरी पंडितों को वापस लाएंगे। क्या आप सफल हुए? आपको कम से कम कहना चाहिए, रात गई तो बात गई। चुनाव गया तो वादा गया। आपको अपना रुख स्पष्ट करना चाहिए।


दीप सिद्धू व इकबाल को लेकर लाल किला पहुंची दिल्ली पुलिस
  • दिल्ली हिंसा की हकीकत जानने को सीन किया रीक्रिएट
4पीएम न्यूज नेटवर्क. नई दिल्ली। 26 जनवरी के दिन हुई हिंसा के आरोपी इकबाल सिंह और दीप सिद्धू को दिल्ली पुलिस की टीम लाल किला लेकर पहुंची और सीन रीक्रिएट किया। पुलिस जानना चाहती है कि लोग कैसे यहां पहुंचे और किस प्रकार से हिंसा हुई। साथ ही हिंसा के बाद ये लोग कैसे लौटे। क्राइम ब्रांच की टीम दोनों से पूछताछ में जुटी है। इस जांच को बहुत ही महत्वपूर्ण माना जा रहा है। इससे पहले आरोपी दीप सिद्धू ने पुलिस पूछताछ में कई खुलासे किए थे। दीप सिद्धू ने बताया कि लाल किला हिंसा के बाद उसने सोनीपत में अपना मोबाइल बंद कर दिया था। इसके बाद उसने फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े लोगों के मोबाइल नंबरों का इस्तेमाल किया था। इसने इन लोगों के नामों से फोन कई दिन चलाए थे। दीपू सिद्धू ने व्हाट्सएप व मैसेंजर पर दो ग्रुप बना रखे थे। इस ग्रुप में लक्खा सिधाना और जुगराज जैसे आरोपी जुड़े थे। जुगराज ने ही लाल किले की प्राचीर पर झंडा फहराया था। पुलिस अधिकारियों के अनुसार, शुरूआती जांच के बाद ऐसे संकेत मिले हैं कि आरोपियों ने ग्रुप में ही लाल किला हिंसा व लाल किले की प्राचीर पर झंडा फहराने की साजिश रची थी। मोबाइल की फोरेंसिक रिपोर्ट आने के बाद ही इसका खुलासा हो पाएगा।

जैश आतंकी ने की एनएसए डोभाल के ऑफिस की रेकी, अलर्ट पर सुरक्षा एजेंसियां

  • पाकिस्तान के आकाओं के पास भेजे थे रेकी के वीडियो, बढ़ाई गई डोभाल की सुरक्षा
4पीएम न्यूज नेटवर्क. नई दिल्ली। जैश आतंकी ने देश के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल के ऑफिस की रेकी की थी। जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े आतंकी हिदायत-उल्लाह मलिक के पास से रेकी का वीडियो मिलने के बाद सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट हो गई हैं और डोभाल की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। कश्मीर में शोपियां के रहने वाले मलिक को छह फरवरी को गिरफ्तार किया गया था। बताया जा रहा है कि आतंकवादी ने अपने पाकिस्तान स्थित हैंडलर के निर्देश पर सरदार पटेल भवन और राजधानी में अन्य महत्वपूर्ण स्थानों की रेकी की थी। मलिक ने डोभाल के कार्यालय और श्रीनगर के अन्य इलाकों के वीडियो रिकॉर्ड करके पाकिस्तान के अपने आकाओं को भेजे थे। इसकी जानकारी मिलने के बाद सुरक्षा एजेंसियां अलर्ट हो गई हैं। डोभाल 2016 में उरी सर्जिकल स्ट्राइक और 2019 बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद से ही पाकिस्तान से संचालित होने वाले आतंकी समूहों के निशाने पर हैं। एनएसए को होने वाले संभावित खतरे के बारे में सुरक्षा एजेंसियों और केंद्रीय गृह मंत्रालय को अवगत करा दिया गया है। दिल्ली और श्रीनगर के अधिकारियों ने बताया कि आतंकी से पूछताछ के दौरान डोभाल के कार्यालय के वीडियो के बारे में जानकारी सामने आई है। मलिक के खिलाफ जम्मू के गंग्याल पुलिस स्टेशन में धारा 18 और 20 यूएपी अधिनियम के तहत एफआईआर दर्ज की गई है।

Next Story
Share it