Top

देखिए ऐसा है लखनऊ का नया कोविड अस्पताल

देखिए ऐसा है लखनऊ का नया कोविड अस्पताल

  • अवध शिल्प ग्राम में डीआरडीओ द्वारा निर्मित अस्थाई कोविड अस्पताल का निर्माण कार्य जोरों पर
4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। राजधानी लखनऊ में संक्रमण बेकाबू हैं। अस्पतालों में हाहाकार मचा है। अस्पतालों में बेड व आक्सीजन की कमी से हर संक्रमित जूझ रहा है। हालांकि इसी बीच कोरोना मरीजों के लिए एक अच्छी खबर आई है। वह यह है कि अवध शिल्प ग्राम में डीआरडीओ द्वारा निर्मित अस्थाई कोविड अस्पताल का निर्माण कार्य जोरों पर है। दो-तीन दिनों में यह शुरू हो जाएगा। कोरोना से टूटती आस यहां फिर से नई उम्मीद हासिल करेगी। महामारी के कहर के बीच अवध शिल्प ग्राम में यह अस्थाई अस्पताल कईयों को नई जिंदगी देगा। यहां युद्ध स्तर पर काम जारी है। तमाम फैसिलिटी से लेस 500 बेड की क्षमता वाला नया कोविड केयर सेंटर बनाया जा रहा है। पहले यहां 450 बेड लगने थे। मगर अब 50 बेड और बढ़ाए जाएंगे। ऐसे में 500 लोगों को बेड की सुविधा उपलब्ध हो पाएगी। बताया जा रहा है कि 30 अप्रैल से पहले कोरोना संक्रमितों को इस अस्थाई अस्पताल में इलाज मिलना शुरू हो जाएगा। प्रभारी जिलाधिकारी रोशन जैकब ने बताया कि इसके शुरू होने से मरीजों को राहत मिलेगी।
हर एक सांस जरूरी है
कोरोना संक्रमितों के आंकड़ों में रोजाना उतार चढ़ाव बरकरार है। बीते 24 घंटे में 5187 लोग संक्रमित पाए गए, वहीं 6247 मरीज ठीक हुए। मौतों के आंकड़ों में भी गिरावट दर्ज हुई है। इसके चलते स्वास्थ्य महकमे ने राहत की सांस ली है। मगर राजधानी के अस्पतालों के बाहर मरीजों को ऑक्सीजन नहीं मिलने से वे सांस नहीं ले पा रहे हैं। अस्पतालों के गेट पर संक्रमित एक-एक सांस के लिए तड़प रहे हैं, पर उनकी सुनने वाला कोई नहीं। डॉक्टरों के अनुसार अगले दो सप्ताह संक्रमण के लिहाज से काफी अहम है।


लखनऊ पहुंची ऑक्सीजन एक्सप्रेस की दूसरी खेप
लखनऊ के अस्पतालों में ऑक्सीजन की किल्लत को दूर करने के लिए बोकारो से ऑक्सीजन की दूरी खेप लेकर ट्रेन चारबाग स्टेशन पहुंच चुकी है। बोकारो से चार टैंकर ऑक्सीजन लेकर ट्रेन आई है। ऑक्सीजन की इस बड़ी खेप के आने से राजधानी में प्राणवायु की किल्लत दूर होने की उम्मीद है। दरअसल कई अस्पतालों से लगातार अभी भी खबरें आ रही हैं कि मरीज के तीमारदारों को ऑक्सीजन नहीं मिल पा रही है। चार टैंकर में 60 हजार लीटर लिक्ïिवड ऑक्सीजन हैं। इससे पहले तीन टैंकर की खेप लखनऊ पहुंची थी।

Next Story
Share it