Top

किसान नेताओं के खिलाफ लुकआउट नोटिस, जब्त हो सकते हैं पासपोर्ट

किसान नेताओं के खिलाफ लुकआउट नोटिस, जब्त हो सकते हैं पासपोर्ट

  • बॉर्डर्स पर भारी संख्या में तैनात है पुलिस, लाल किला 31 जनवरी तक बंद
  • आरोपी प्रदर्शनकारियों के विदेश भागने का शक, गणतंत्र दिवस पर हुई थी हिंसा
  • दिल्ली हिंसा को लेकर पुलिस का बड़ा एक्शन, कई नेता हैं नामजद

4पीएम न्यूज नेटवर्क. नई दिल्ली। गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर परेड के दौरान देश की राजधानी दिल्ली में हुई हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस ने बड़ा एक्शन लिया है। कई नामजद किसान नेताओं के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी किया गया है। पुलिस इन नेताओं के पासपोर्ट सरेंडर करवाने की प्रक्रिया भी शुरू करेगी। इससे पहले, पुलिस ने किसान नेताओं से पूछा था कि वे बताएं कि तय समझौते का उल्लंघन करने पर उनके खिलाफ कार्रवाई क्यों न की जाए? किसान नेताओं को जवाब देने के लिए तीन दिन का वक्त दिया गया है। नोटिस 20 से ज्यादा किसान नेताओं को दिए गए हैं जिनमें योगेंद्र यादव, बलबीर राजेवाल, बलदेव सिंह सिरसा, राकेश टिकैत जैसे नाम शामिल हैं। बॉर्डर्स पर भारी संख्या में पुलिस तैनात है। लाल किले को 31 जनवरी तक बंद कर दिया गया।किसान नेताओं के खिलाफ लुकआउट नोटिस, जब्त हो सकते हैं पासपोर्ट

दिल्ली पुलिस ने लाल किले पर हिंसा को सबसे निंदनीय और राष्ट्र विरोधी कृत्य करार दिया है। समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार अधिकारियों ने कहा कि हिंसा के मद्देनजर एफआईआर में जिन किसान नेताओं के नाम है, उनसे पासपोर्ट सरेंडर करने के लिए कहा जाएगा। पुलिस ने बताया है कि इमीग्रेशन की मदद से किसान नेताओं के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया गया है। साथ ही 26 जनवरी को लाल किले पर प्रदर्शनकारियों द्वारा एक बस में तोड़फोड़ का एक वीडियो भी पुलिस ने जारी किया है। पुलिस एक नंबर जारी करेगी जिस पर लोग हिंसा के विडियो भेज सकेंगे। साथ ही जगह-जगह पर आरोपियों के पोस्टर्स भी लगाए जाएंगे। पुलिस कमिश्नर एसएन श्रीवास्तव ने कहा कि हिंसा में किसान नेता शामिल थे। उन्होंने चेतावनी दी है कि किसी को बख्शा नहीं जाएगा। नोटिस में ट्रैक्टर परेड के लिए निर्धारित शर्तों के उल्लंघन का भी हवाला दिया गया है। एफआईआर में अभिनेता दीप सिद्धू और 'गैंगस्टरÓ से सामाजिक कार्यकर्ता बने लक्खा सिधाना के नाम भी शामिल किए हैं। दिल्ली पुलिस ने भारतीय दंड संहिता, सार्वजनिक संपत्ति को क्षति से रोकथाम अधिनियम और अन्य कानूनों की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

यूपी गेट से किसानों को हटाने की तैयारी

यूपीगेट पर जमा हजारों किसानों को यहां से हटाने की तैयारी में उत्तर प्रदेश पुलिस जुट गई है। बताया जा रहा है कि मेरठ रेंज से भारी फोर्स यहां आ चुकी है। लखनऊ से सीधे संकेत दिए गए हैं कि किसानों को यहां से हटाया जाए। एडीजी जोन, आईजी रेंज सहित कई अधिकारियों की मीटिंग जारी है। इसी कड़ी में यूपी गेट पर भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत से पूछताछ करने के लिए गाजीपुर थाने की पुलिस भी पहुंची है।

खाली कराया गया बागपत बॉर्डर, धरना खत्म

बागपत। प्रदेश में कृषि कानूनों के विरोध में पिछले 40 दिनों से चल रहे धरने को पुलिस प्रशासन ने बुधवार आधी रात खत्म करवा दिया। डीएम और एसपी के निर्देशन में धरना स्थल पर पहुंची कई थानों की फोर्स ने हल्का बल प्रयोग कर धरना स्थल पर मौजूद किसानों को खदेड़ दिया। नेशनल हाईवे 709 बी पर चल रहे धरने में दर्जनों से ज्यादा लोग बैठे थे। एडीएम बागपत अमित कुमार की मानें तो इन किसानों ने पिछले काफी दिनों से नेशनल हाईवे का एक साइड जाम कर रखा था। एनएचआई ने हाईवे खाली करवाने को लेकर जिला प्रशासन को पत्र लिखा था। उसी पत्र पर कार्रवाई करते हुए पुलिस प्रशासन ने हाईवे खाली कराया है।

घायल पुलिसकर्मियों से मिले शाह

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह आज सिविल लाइंस स्थित सुश्रुत ट्रॉमा सेंटर पहुंचे। यहां उन्होंने किसानों की ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा में घायल पुलिसकर्मियों से मुलाकात की और उनका हाल-चाल जाना।



वायरस हो या सीमा विवाद, हर चुनौती से निपटने को तैयार भारत : मोदी

  • नागरिक कर्तव्यों को निभाना सभी का दायित्व, एनसीसी के कार्यक्रम में पीएम ने लिया भाग

4पीएम न्यूज नेटवर्क. नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली में आज राष्ट्रीय कैडेट कॉर्प्स के कार्यक्रम में हिस्सा लिया। इस दौरान उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। इस मौके पर प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले साल भारत ने दिखाया है कि वायरस हो या सीमा की चुनौती, भारत पूरी तरह से तैयार है। आज देश दो देशी वैक्सीन बना चुका है, सेना का आधुनिकीकरण भी हो रहा है। भारत को फ्रांस से तीन और राफेल मिले हैं। उन्होंने कहा कि ये वर्ष एक कैडेट के रूप में,भारतीय नागरिक के रूप में नए संकल्प लेने का वर्ष है। देश के लिए संकल्प लेने का वर्ष है, देश के लिए नए सपने लेकर चल पड़ने का वर्ष है। एनसीसी में महिला कैडेटों में 35 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। उन्होंने कहा कि हमारे संविधान में जिन नागरिक कर्तव्यों की बात कही गई है, वो निभाना सभी का दायित्व है।

केजरीवाल का ऐलान, यूपी समेत छह राज्यों में चुनाव लड़ेगी आप

  • देशभर में हो रही दिल्ली में आम आदमी पार्टी के सुशासन की बात

4पीएम न्यूज नेटवर्क. नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी की नेशनल काउंसिल की मीटिंग में पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने आज बड़ा ऐलान किया है। केजरीवाल ने कहा कि आम आदमी पार्टी देश में अगले दो साल में होने वाले सभी चुनाव लड़ेगी। उत्तराखंड, यूपी, हिमाचल प्रदेश, गुजरात, पंजाब और गोवा में आम आदमी पार्टी चुनाव लड़ेगी। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि देश के लोग दिल्ली में आप के सुशासन की बात कर रहे हैं। देश में हर जगह, लोग दिल्ली की तरह बिजली और पानी की सब्सिडी और कल्याणकारी योजनाएं चाहते हैं। हमें दूरियां मिटाने की जरूरत है। इसके लिए, हमें एक मजबूत संगठन बनाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि अगले दो वर्षों में, हमारी पार्टी उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश और गुजरात में चुनाव लड़ेगी। लोग तैयार हैं और अब हमें सिर्फ उनके पास तक पहुंचना है।

Next Story
Share it