Top

सीएम योगी और अखिलेश भी आए कोरोना की चपेट में, यूपी में मचा हाहाकार

सीएम योगी और अखिलेश भी आए कोरोना की चपेट में, यूपी में मचा हाहाकार

  • कैबिनेट मंत्री आशुतोष टंडन, सुनील बंसल सहित कई अफसर भी कोरोना की चपेट में
  • 5 अप्रैल को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ली थी कोरोना की पहली डोज
  • इस बीच बंगाल में लगातार योगी कर रहे थे चुनावी जनसभाएं
4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। यूपी में कोरोना से हाहाकार मचा हुआ है। इसी बीच चौकाने वाली खबर सामने आई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना पॉजिटिव है। समाजवादी पार्टी के राष्टï्रीय अध्यक्ष व पूर्व सीएम अखिलेश यादव, यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री आशुतोष टंडन व बीजेपी के दिग्गज नेता सुनील बंसल भी कोरोना की चपेट में आ गए हैं। मुख्यमंत्री कार्यालय के कई अफसर और कर्मचारियों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद सीएम योगी ने खुद को आइसोलेट कर लिया था पर आज उन्होंने ट्वीट किया कि शुरुआती लक्षण दिखने पर मैंने कोविड की जांच कराई और मेरी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। मैं सेल्फ आइसोलेशन में हूं और चिकित्सकों के परामर्श का पूर्णत: पालन कर रहा हूं। सभी कार्य वर्चुअली संपादित कर रहा हूं। प्रदेश सरकार की सभी गतिविधियां सामान्य रूप से संचालित हो रही हैं। बता दें कि 5 अप्रैल को ही सीएम योगी ने कोरोना वैक्सीन की पहली डोज ली थी। योगी इन दिनों पश्चिम बंगाल में लगातार चुनावी सभाएं करते रहे हैं। उधर सपा प्रमुख अखिलेश ने ट्वीट में लिखा कि पिछले कुछ दिनों में उनके संपर्क में आने वाले लोग खुद को आइसोलेट कर लें। क्योंकि मैं कोरोना पॉजिटिव हो गया हूं। बता दें कि देश में मंगलवार को 1 लाख 85 हजार 104 नए मरीज मिले। 82,231 ठीक हुए और 1,026 की मौत हो गई।
गुजरात से मंगाई 25 हजार रेमडेसिविर दवा
प्रदेश में हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं। यहां एक्टिव मरीजों की संख्या करीब एक लाख हो गई है। अस्पतालों में बेड, ऑक्सीजन और वेंटिलेटर का संकट सामने आने लगा है। पूरे राज्य में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी हो गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुजरात के अहमदाबाद से रेमडेसिविर इंजेक्शन के 25 हजार डोज मंगवाने को कहा है। उन्होंने अधिकारियों को तत्काल प्रभाव से इंजेक्शन की सप्लाई कराने का आदेश दिया है। वहीं योगी सरकार के मंत्री आशुतोष टण्डन की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उन्होंने अपने आप को घर में आइसोलेट कर लिया है।
एमबीबीएस छात्रों की लगेगी कोविड ड्ïयूटी
बढ़ते संक्रमण और मरीजों के बेहतर इलाज के लिए यूपी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। कोरोना के मरीजों का बेहतर इलाज करने के लिये अब एमबीबीएस के चौथी और पांचवें वर्ष के छात्रों को भी कोविड ड्यूटी पर लगाया जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने साथ ही कोविड के इलाज के लिए साधनों को बेहतर बनाने के लिए निजी अस्पतालों व प्रयोगशालाओं को अधिग्रहित करने का फैसला भी लिया है।
मेरी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जो लोग भी मेरे संपर्क में आएं हैं वह अपनी जांच अवश्य करा लें और एहतियात बरतें।
- सीएम योगी
मैं कोरोना पॉजिटिव हूं। घर पर ही उपचार शुरू हो गया है। पिछले कुछ दिनों में जो लोग मेरे संपर्क में आए, वो भी जांच करा लें।
- अखिलेश यादव


चुनावी रैली व रोड शो में हो रहा कोरोना नियमों का घोर उल्लंघन: मायावती
4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री व बसपा प्रमुख मायावती ने संविधान निर्माता बाबा साहेब डॉ.भीमराव अम्बेडकर की जयंती पर उनको नमन करने के साथ ही केन्द्र सरकार को निशाने पर लिया। डॉ. अम्बेडकर की 110 जयंती पर बसपा प्रमुख मायावती ने आज अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित भी किया। मायावती ने कहा केन्द्र ने कोरोना वायरस की वैक्सीन लगाने को जो टीका उत्सव चलाया, वो अच्छी बात है। उन्होंने कहा अगर यह उत्सव देश के गरीब और जरूरत मंद लोगों को फ्री में वैक्सीन लगाने के रूप में मनाया जाता तो ज्यादा उचित होता। उन्होंने कहा कि मैं बाबा साहब डॉ. भीमराव अंबेडकर की जयंती पर केंद्र और सभी राज्य सरकारों से अनुरोध करती हूं कि वो आज पूरे देश में गरीब और जरूरत मंद लोगों को वैक्सीन मुफ्त में लगाने का निर्णय लें। मायावती ने कहा, इन दिनों देश में लोगों की बेवजह दौड़ भाग के चुनावी रैली व रोड शो आदि में कोरोना नियमों के घोर उल्लंघन के प्रति निष्क्रियता अति-दु:खद व चिन्ताजनक है। इस ओर उचित ध्यान देने की जरूरत है।

कोरोना के चलते टाली गईं सीबीएसई की परीक्षाएं

  • 10वीं की परीक्षा रद्द, 12वीं के पेपर्स टाले गए, चार मई से होने थे एग्जाम
4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। कोरोना के बढ़ते संकट के बीच सीबीएसई की परीक्षाओं को लेकर भारत सरकार ने बड़ा फैसला लिया है। सीबीएसई ने 12वीं की परीक्षाओं को टाल दिया है, जबकि 10वीं की परीक्षाओं को रद्द कर दिया है। आज प्रधानमंत्री मोदी ने शिक्षा मंत्री और मंत्रालयों के अधिकारियों के साथ बैठक की थी, जिसमें ये फैसला लिया गया है। नए आदेश के मुताबिक 4 मई से 14 जून तक होने वाली 12वीं की परीक्षाओं को रद्ïद कर दिया गया है। 1 जून को एक और बैठक होगी, जिसमें तब के हालात को देखते हुए फैसला लिया जाएगा। अगर परीक्षाएं होंगी तो 15 दिन पहले ही छात्रों को सूचित कर दिया जाएगा। वहीं सीबीएसई 10वीं के पेपर्स जो कि 4 मई से होने थे, उन्हें रद्द कर दिया गया है। छात्रों के परफॉर्मेंस के आधार पर नंबर्स दे दिए जाएंगे।

Next Story
Share it