Top

मौत का तांडव, चौबीस घंटे में तीन हजार से अधिक जिंदगियां खत्म

मौत का तांडव, चौबीस घंटे में तीन हजार से अधिक जिंदगियां खत्म

  • चौबीस घंटे में तीन लाख साठ हजार से अधिक कोरोना संक्रमित
  • देश में मौतों का आंकड़ा दो लाख के पार, दहशत में लोग
4पीएम न्यूज नेटवर्क. नई दिल्ली। कोरोना की नयी लहर ने देश में मौत का तांडव मचा रखा है। बीते चौबीस घंटे में तीन हजार से अधिक लोगों की मौत संक्रमण की वजह से हुई। वहीं एक दिन में रिकॉर्ड तीन लाख साठ हजार से अधिक लोग संक्रमित हुए। देश में मौतों का आंकड़ा दो लाख के पार पहुंच गया है। लगतार बढ़ते संक्रमण से लोगों में दहशत फैल गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक बीते 24 घंटों में 3,60,960 नए मामले आए। इस दौरान 3,293 लोगों की मौत से देश में कोरोना से अब तक हुई मौतों का आंकड़ा बढ़कर दो लाख से अधिक हो गया। ऐसा पहली बार है जब कोरोना से इतनी तादाद में मौतें हुईं और नए मामले सामने आए। संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 1,79,88,637 हो गई। देश में सक्रिय मामले बढ़कर 29,78,709 हो गए हैं। वहीं 3,293 मौतों से कुल मृतक संख्या 2,01,172 हो गई। इस दौरान 2,62,039 लोगों को अस्पताल से छुट्टी मिल गई है। लोगों के ठीक होने की दर घटकर 82.54 फीसदी और मृत्यु दर 1.12 फीसद हो गई है। देश में कोरोना के जो नए मामले सामने आए हैं उनमें से 69.1 फीसद मामले सर्वाधिक प्रभावित दस राज्यों के हैं। इन राज्यों में महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, कर्नाटक, केरल, छत्तीसगढ़, बंगाल, तमिलनाडु, गुजरात और राजस्थान शामिल हैं।
एक मई से प्रदेश में 18 से अधिक उम्र वालों को फ्री में लगेगा टीका
लखनऊ। कोरोना संक्रमण से जारी जंग को और प्रभावी तरीके से लड़ने के लिए एक मई से टीकाकरण के तीसरे चरण की शुरुआत होने जा रही है। टीकाकरण के तीसरे चरण में 18 साल से ऊपर के लोगों को कोरोना वैक्सीन की डोज दी जाएगी। प्रदेश की योगी सरकार ने युवाओं के लिए शुरू हो रहे इस टीकाकरण अभियान को भी मुफ्त कर दिया है। आज से कोविन पोर्टल या आरोग्य सेतु ऐप के माध्यम से 18 साल से ऊपर वाले अपना पंजीकरण करवा रहे हैं।
स्पूतनिक-वी की पहली खेप अगले माह
नई दिल्ली। भारत में कोरोना वायरस के खिलाफ दो हथियारों (कोविशील्ड और कोवैक्सिन) के साथ जंग जारी है। वहीं 1 मई को भारत में रूसी कोरोना वैक्सीन स्पूतनिक-वी की पहली खेप आ जाएगी। स्पूतनिक-वी वैक्सीन को गमालया नेशनल रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी द्वारा विकसित किया गया है।


यूपी में ऑक्सीजन-बेड को लेकर हाहाकार, भड़क रहा लोगों का गुस्सा
उत्तर प्रदेश में कोरोना के बढ़ते प्रकोप के कारण हाहाकार मचा है। कई अस्पतालों में बेड्स और ऑक्सीजन की किल्लत है। अब मरीजों के परिजनों का गुस्सा भी फूटने लगा है। वाराणसी और इटावा में लोग सड़कों पर उतर आए। वाराणसी में कोरोना के प्रकोप के कारण अस्पतालों की व्यवस्था बिगड़ती जा रही है। यहां के रोहनिया क्षेत्र में जब निजी अस्पताल ने लापरवाही की हदों को पार कर दिया तो गुस्साए परिजनों ने जमकर हंगामा किया और तोड़फोड़ की। परिजनों का आरोप है कि अस्पताल ने कोविड मरीज को अस्पताल में भर्ती कर लिया लेकिन देखभाल नहीं हो रही है। वहीं इटावा में अस्पताल के कर्मचारियों की लापरवाही जारी है। एक महिला की मौत के बाद परिजनों का गुस्सा फूट पड़ा और कोविड अस्पताल के आईसोलेशन सेंटर में तोड़फोड़ कर दी। इसके अलावा फर्रुखाबाद, मुरादाबाद, मेरठ और लखनऊ समेत अन्य कई शहरों से भी ऑक्सीजन की किल्लत, बेड्स की कमी और डॉक्टरों की लापरवाही सामने आ रही है।

Next Story
Share it