Top

सभी को पता है 2022 का परिणाम: सीएम

सभी को पता है 2022 का परिणाम: सीएम

  • सदन में सरकार की उपलब्धियां गिनाईं, विपक्ष पर साधा निशाना
  • किसानों के मुद्ïदे पर विधान परिषद में हंगामा
  • कोरोना की रोकथाम में अमेरिका और यूरोप को भी यूपी ने पीछे छोड़ा
4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज फिर विधान सभा में विपक्ष पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने अपने भाषण में अपनी सरकार की उपलब्धियां गिनाईं और विपक्ष पर वार करते हुए कोरोना को लेकर कहा अगर 2014 से पहले की स्थिति होती तो क्या होती। ऐसे लोग कोरोना को कैसे संभालते। ऐसी सरकारें तो कोरोना का काबू ही नहीं कर पाती। प्रदेश और गर्त में चला जाता। मगर हमारी सरकार ने कोरोना की रोकथाम में अमेरिका और यूरोप को भी पीछे छोड़ दिया। अमेरिका और यूरोप से कही आगे उत्तरप्रदेश है। डब्ल्यूएचओ ने भी भारत के साथ उत्तरप्रदेश की सराहना की खासकर यूपी के कोविड प्रबंधन की। किसानों के मुद्ïदे पर भी विपक्ष को घेरा तो खूब हंगामा हुआ। कई आरोप-प्रत्यारोप के दौर चले। मुख्यमंत्री ने कहा सदन में चिल्लाने से काम नहीं चलता बल्कि जनता को सुविधाएं देना ही सरकार का काम है। उन्होंने कहा एक मार्च से शुरू हो जाएगा वैक्सीनेशन अभियान। 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन लगेगी। मुख्यमंत्री ने कहा विपक्ष की सरकारें कॉमनवेल्थ गेम्स तो ठीक से करा नहीं पाए, हमें नसीहत देते हैं। हमारी सरकार में कुछ नेता तो जेल गए और अपराधी फरार है। कई तो आने को भी तैयार नहीं है। क्योंकि वे जानते है भाजपा सरकार में उनके लिए जगह नहीं। उन्होंने कहा नेतृत्व बदलने से ही देश की तकदीर बदली। राजा ही अपने समय की परिस्थिति का निर्माण करता है। नेतृत्व बदलने से हालात बदल जाते हैं। इस दौरान सीएम योगी ने सदन में टोपी वाले मसले पर भी चुटकी ली और कहा बगल में सरदार जी थे। विपक्ष उससे ही कुछ सीख लेते। अटल जी ने कहा था आदमी सिर्फ आदमी होता है। उनके बताए मार्गों पर ही विपक्ष चल लेता तो आज यह स्थिति नहीं होती। उन्होंने कहा 26 जनवरी को झांकी में यूपी को प्रथम स्थान मिला। दीपोत्सव कार्यक्रम सफल रहा। बहुत से ऐसे अनेक उदाहरण है, जिनसे विपक्ष पचा नहीं पा रहा है। मुख्यमंत्री ने सदन में कहा 2022 के परिणाम सबको पहले से पता है। किसानों को सिर्फ गुमराह किया जा रहा है। मोदी सरकार ने किसानों को एमएसपी का लाभ दिलाया है। 2014 से पहले किसानों की फसलों का मूल्य जगजाहिर है और आज प्रदेश के किसानों को समर्थन मूल्य दोगुना के करीब है।
सीएम योगी का बंगाल दौरे का कार्यक्रम तय
बंगाल में भारतीय जनता पार्टी के अभियान को धार देने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी जाएंगे। उत्तर प्रदेश में विधानमंडल के बजट सत्र के बीच में भी एक दिन मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की सरकार को चुनौती देने मालदा जाएंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ ही अमित शाह व रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बंगाल में बेहद सक्रिय होने के बीच में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी अपना जलवा दिखाएंगे। भाजपा के स्टार प्रचारकों में शामिल हो चुके सीएम योगी ने हाल ही में केरल का भी दौरा किया था।
15 लाख लोगों को यूपी में लग चुकी है वैक्सीन
सीएम योगी ने सदन में कहा कि यूपी ने श्रमिकों और रिक्शेवाले के भरण-पोषण भत्ता भी दिया गया। हर गरीब को माह में 2-2 बार राशन दिया गया। सरकार ने कोटा से छात्रों को बुलाने का कार्य किया। राजस्थान सरकार से मदद न मिलने के बावजूद हम छात्रों को लाए। कोरोना काल में बस चलाने वाले परिवहन निगम के चालकों-परिचालकों का अभिनंदन करता हूं। सीएम ने कहा कि कम्युनिटी किचन के जरिए करोड़ों फूड पैकेट घर-घर जाकर बांटे गए। कोरोना काल के दौरान डायल 112 ने सराहनीय कार्य किया। सीएम ने बताया कि यूपी में अब तक 15 लाख लोगों को वैक्सीन लग चुकी है।


3500 करोड़ के बाइक बोट घोटाले का मास्टरमाइंड गिरफ्तार
  • एसटीएफ ने लखनऊ से पकड़ा, 50 हजार का इनाम घोषित था
  • घोटाले में करोड़ों की हेराफेरी का आरोप है
4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। उत्तर प्रदेश एसटीएफ की टीम के साथ आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) ने 3500 करोड़ के बाइक बोट घोटाले के मास्टरमाइंड बीएन तिवारी को लखनऊ से गिरफ्तार किया है। बीएन तिवारी पर घोटाले में करोड़ों की हेराफेरी का आरोप है। तिवारी को गिरफ्तार करने के बाद अब नोएडा में पेश किया जाएगा। बाइक बोट घोटाले के आरोपी 50 हजार के इनामी बीएन तिवारी को गोमती नगर से गिरफ्तार किया गया। इसके बाद उत्तर प्रदेश एसटीएफ की टीम उससे पूछताछ कर रही है। बीएन तिवारी के खिलाफ नोएडा में बाइक बोट घोटाले में दो दर्जन से अधिक एफआईआर में से दो में आरोप पत्र भी दाखिल है। नोएडा के साथ लखनऊ में भी बीएन तिवारी पर घोटाले की एक एफआईआर दर्ज है। ईडी ने बीते शनिवार को बीएन तिवारी और उनके बेटे कुश तिवारी के लखनऊ में कई ठिकानों पर छापेमारी की थी। ईडी की टीम ने गोमतीनगर और पारा क्षेत्र में छापेमारी की। घोटाले में बीएन तिवारी के साथ बसपा नेता रहे संजय भाटी को मास्टरमाइंड भी माना जा रहा है।
ये है मामला
बाइक बोट घोटाला 3500 करोड़ रुपए का है। इसमें गॢवत इन्नोवेटिव प्रमोटर्स लिमिटेड के खिलाफ इस घोटाले को लेकर नोएडा में एफआईआर दर्ज की गई। थीम गॢवत प्रमोटर्स लिमिटेड ने बाइक बोर्ड नाम की एक स्कीम शुरू की थी। इस दौरान लोगों को पैसे डबल करने का आश्वासन दिया गया। घोटाले में हजारों की संख्या में लोगों के साथ ठगी की गई है और जिन लोगों से ठगी की गई है।

लोहा कारोबारी लापता, अपहरण की आशंका

  • गोमतीनगर के विरामखंड 5 का मामला, परिजनों ने थाने में दी तहरीर, तलाश जारी
  • घर के पास के सीसीटीवी खंगालने में जुटी पुलिस
4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। गोमतीनगर थाना क्षेत्र के विराम खण्ड-5 से एक लोहा कारोबारी अरविंद पांडेय संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गया। वहीं परिजनों ने व्यापारी के अपरहण होने की आशंका जताते हुए गोमतीनगर थाने में तहरीर दी है। परिजनों के मुताबिक बुधवार शाम मोबाइल चार्जर पर लगाकर पैदल ही कहीं निकल गए। देर शाम तक नहीं लौटे। पुलिस घर के पास लगे सभी सीसीटीवी फुटेज खंगालने में जुटी है। जानकारी के मुताबिक मूलरूप से देवरिया के सिसवा के रहने वाले अरविंद पांडेय गोमतीनगर के विराम खण्ड-5 में रहते हैं। वह पेशे से लोहा कारोबारी हैं। उनके साथ उनकी पत्नी रीना पांडेय और बेटी संस्कृति साथ मे रहती है। बड़ा भाई रामनारायण पांडेय मुंबई में जनरल स्टोर की दुकान चलाता है। दूसरा भाई रतन पांडेय लखनऊ के विराम खण्ड में ही रहता है। वह बजाज में कलेक्शन मैनेजर पद पर तैनात है। सबसे छोटा भाई पवन पांडेय देवरिया में रहता है। अरविंद पाण्डेय के भाई पवन पांडेय के मुताबिक बुधवार दोपहर लगभग तीन बजे वह अपनी बेटी को कोचिंग से घर लेकर छोड़ गए। बाइक घर पर खड़ी कर दी। वहीं अपना मोबाइल चार्जिंग पर लगाकर पैदल ही कहीं निकल गए। देर रात न लौटने पर अरविंद पांडेय की पत्नी रीमा पांडेय ने इसकी जानकारी सभी परिजनों को दी। सुबह तक न लौटने पर परिजनों ने मामले की जानकारी गोमतीनगर थाने में दी। पुलिस घर के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों में फुटेज खंगालने में जुटी है। साथ ही उनकी तलाश भी कर रही है। परिजनों को आशंका है कि किसी ने उनका अपहरण कर लिया है। अभी तीन-चार दिन पहले उनकी किसी से बहस भी हुई थी।

राजधानी में छूटे कर्मचारियों के लिए 117 बूथों पर टीकाकरण जारी

4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। स्वास्थ्य विभाग ने कोविड-19 वैक्सीनेशन अभियान के तहत छूटे हुए स्वास्थ्य कर्मियों व फ्रंटलाइन कर्मचारियों के लिए आज चौथा वा आखिरी मापअप राउंड चलाया है। आज राजधानी लखनऊ के 46 केन्द्रों पर 117 बूथों पर टीकाकरण जारी है। आज का लक्ष्य 9397 रखा गया है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार सुबह नौ बजे से टीकाकरण शुरू हो गया है जो कि शाम पांच बजे तक चलेगा। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ एमके सिंह ने बताया कि यह छूटे हुए स्वास्थ्य कर्मियों व फ्रंटलाइन कर्मियों के लिए आखिरी मापअप राउंड है। इसलिए सभी को अनिवार्य रूप से टीकाकरण कराना है। उन्होंने कहा कि इस बार भी जानबूझकर अगर कोई कर्मचारी नहीं पहुंचता है तो अब उसे बार बार मौका दिया जाना संभव नहीं होगा। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ एमके सिंह ने बताया कि अभी भी मौका है अपनी और परिवार की सुरक्षा के लिए वैक्सीन लगवाना चाहिए। सरकार उन्हें यह मौका दे रही है। पिछली बार तीसरे माप अप राउंड में विभाग ने सौ फीसदी टीकाकरण कराने का रिकॉर्ड बनाया था। आज भी भारी संख्या में हेल्थ वर्कर वैक्सीन लगाने पहुंचे हैं।

Next Story
Share it