Top

फोटो खिंचवाने के लिए ताक पर रख दी दो गज की दूरी

फोटो खिंचवाने के लिए ताक पर रख दी दो गज की दूरी

  • मुख्यमंत्री ने नए कोविड अस्पताल का किया शुभारंभ
4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। एक ओर पीएम मोदी से लेकर सीएम योगी तक दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी पर जोर दे रहे हैं दूसरी ओर खुद सीएम योगी के कार्यक्रम में दो गज की दूरी का पालन नहीं किया जा रहा है। आज जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ डीआरडीओ के अवध शिल्प ग्राम में बने अटल बिहारी वाजपेयी कोविड अस्पताल का शुभारंभ कर रहे थे तो उनके साथ फोटो खिंचवाने के लिए नेताओं और अफसरों ने कोरोना के सारे प्रोटोकॉल की धज्जियां उड़ा दीं। कहीं भी दो गज की दूरी नहीं दिखी। गौरतलब है कि राजधानी लखनऊ में 505 बेड के डीआरडीओ के अवध शिल्प ग्राम में अटल बिहारी वाजपेयी कोविड अस्पताल संक्रमित मरीज के लिए शुरू हो गया है।


भाजपा सांसद ने वीडियो बनवाकर किया साबित- कोरोना काल में बिना पैसे के नहीं हो रहा कोई काम, मचा हड़कंप
  • यूपी के कैबिनेट मिनिस्टर स्वामी प्रसाद की बेटी हैं संघमित्रा मौर्य
  • बदायूं में कोरोना जांच में घूसखोरी के बाद बनवाया इसका वीडियो
  • खुद अस्पताल का दौरा किया तो खुल गयी लूट की पोल
  • कोरोना टेस्ट की रिपोर्ट ही नहीं हो रही लोड और मांगे जा रहे पैसे
4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। भाजपा के सांसद और विधायक ही महामारी काल में प्रदेश की योगी सरकार के सब-कुछ चुस्त-दुरूस्त होने के दावे की पोल खोलने लगे हैं। अस्पतालों में गले तक भ्रष्टïाचार है। खुलेआम कोरोना जांच के लिए रुपये लिए जा रहे हैं। वेबसाइट पर रिपोर्ट तक नहीं लोड की जा रही है। ऐसे ही भ्रष्टïाचार के एक मामले का खुलासा बदायूं से भाजपा सांसद डॉ. संघमित्रा मौर्य ने किया है। उन्होंने घूसखोरी के मामले का वीडियो बनवाया और खुद जांच के लिए मौके पर पहुंची। मामला सही मिलने पर उन्होंने इसकी शिकायत सीएम योगी से करने की बात कही है। वहीं विपक्ष ने कहा कि अब तो भाजपा के विधायक और सांसद ही महामारी काल में प्रदेश में हो रही घूसखोरी और भ्रष्टïाचार का मामला उठा रहे हैं। सरकार हर मोर्चे पर विफल हो चुकी है। कोरोना संक्रमण के बीच प्रदेश के हालात बेहद खराब है। अस्पतालों में जांच से लेकर इलाज तक में लूट हो रही है। इसकी शिकायत बदायूं से सांसद डॉ. संघमित्रा मौर्य तक पहुंची तो उन्होंने अव्यवस्थाओं और जांच के नाम पर हो रही घूसखोरी का वीडियो बनवाया। वे बिना प्रोटोकॉल बदायूं के जिला अस्पताल पहुंच गईं। सांसद ने जांच के बारे में जानकारी की तो उन्हें सही जवाब नहीं मिला। सांसद ने कहा कि लापरवाह अफसरों पर कार्रवाई कराई जाएगी। संघमित्रा प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या की बेटी है।
बदायूं के कुछ लोगों का कोरोना टेस्ट हुआ लेकिन पंद्रह दिन बाद भी उनको न इसकी कोई रिपोर्ट दी गई न कोई कॉल की गई जबकि अन्य जगह से जांच कराने पर एक व्यक्ति के परिवार का सदस्य पॉजिटिव पाया गया है। यह भी शिकायत मिली थी कि अस्पताल में पैसे लेकर जांच की जा रही है। मेरे पास उसके वीडियो उपलब्ध हैं। मैंने इसकी शिकायत मुख्यमंत्री जी से की है। मैंने खुद निरीक्षण किया है और यहां व्याप्त अव्यवस्था की रिपोर्ट मुख्यमंत्री को प्रेषित करूंगी।

संघमित्रा मौर्य, भाजपा सांसद, बदायूं
उत्तर प्रदेश में सरकार और व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं बची है। चारों ओर लूट और भ्रष्टïाचार का बोलबाला है। सपा लगातार बेड, ऑक्सीजन की कमी और अस्पतालों में हो रहे भ्रष्टïाचार पर सवाल उठाती रही है। अब तो भाजपा के सांसद और विधायक भी इसको स्वीकार कर रहे हैं। हालत यह है कि सरकार संक्रमितों और मरने वालों का आंकड़ा तक छिप रही है। सरकार हर मोर्चे पर पूरी तरह विफल है।
सुनील सिंह साजन, एमएलसी, सपा
बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था की वजह से बड़ी संख्या में लोगों की मौत हो रही हैं, लगातार भाजपा सहित सभी दलों के नेता इसको उठा भी रहे हैं लेकिन अहंकार में डूबे मुख्यमंत्री सीधे तौर पर इस बदहाली को खारिज कर रहे हैं। वे मरते हुए लोगों की रिपोर्ट करने वाले पत्रकारों और आमजन को मुकदमे से धमका रहे हैं। हाईकोर्ट ने भी सरकार की कलई खोल दी है। भाजपा के अपने संगठन में भारी असंतोष और गुस्सा है।
वैभव माहेश्वरी, प्रवक्ता, आप
इसके पहले प्रदेश के कानून मंत्री बृजेश पाठक और भाजपा सांसद कौशल किशोर ने भी योगी सरकार पर सवाल उठाए। यूपी में कोरोना नियंत्रण में नहीं है। दवाओं की कालाबाजारी हो रही है। अस्पतालों में भी घूसखोरी चरम पर है। यूपी के हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। लोगों को अस्पताल में न इलाज मिल रहा न ही ऑक्सीजन।
जीशान हैदर, प्रवक्ता, कांग्रेस

Next Story
Share it