Top

यूपी पंचायत चुनाव की तारीखों का ऐलान

यूपी पंचायत चुनाव की तारीखों का ऐलान

  • चार चरणों में मतदान, दो मई को मतगणना
  • 15 अप्रैल को होगी पहले चरण की वोटिंग, आचार संहिता लागू
  • हर चरण में नामांकन के लिए रखे गए हैं दो दिन
4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। राज्य निर्वाचन आयोग ने आज यूपी पंचायत चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है। प्रदेश के 75 जिलों में चार चरणों में पंचायत चुनाव होंगे। 15 अप्रैल को पहले चरण का मतदान होगा। 19 अप्रैल को दूसरे, 26 अप्रैल को तीसरे और 29 अप्रैल को चौथे चरण का मतदान होगा। 2 मई को मतगणना होगी। चुनाव की तारीखों के ऐलान के साथ ही यूपी में आचार संहिता लग गई है। राज्य निर्वाचन आयुक्त मनोज कुमार ने बताया कि हर चरण में नामांकन के लिए दो दिन रखे गए हैं। पहले चरण के मतदान वाले जिलों में नामांकन तीन और चार अप्रैल को होगा। दूसरे चरण का नामांकन 7-8 अप्रैल को होगा। तीसरे चरण का नामांकन 13 और 15 अप्रैल को होगा। चतुर्थ चरण का नामांकन 17-18 अप्रैल को होगा। पहले चरण में 15 अप्रैल को मतदान होगा। पहले चरण में 18 जिलों सहारनपुर, गाजियाबाद, रामपुर, बरेली, हाथरस, आगरा, कानपुर नगर, झांसी, महोबा, प्रयागराज, रायबरेली, हरदोई, अयोध्या, बस्ती, संतकबीरनगर, गोरखपुर, जौनपुर और भदोही में मतदान होगा। 19 अप्रैल को दूसरे चरण में 20 जिलों मुजफ्फरनगर, बागपत, गौतमबुद्ध नगर, बिजनौर, अमरोहा, बदायूं, एटा, मैनपुरी, कन्नौज, इटावा, ललितपुर, चित्रकूट, प्रतापगढ़, लखनऊ, लखीमपुर खीरी, सुल्तानपुर, गोंडा, महाराजगंज, वाराणसी, आजमगढ़ में मतदान होगा। 26 अप्रैल को तीसरे चरण में 20 जिलों शामली, मेरठ, मुरादाबाद, पीलीभीत, कासगंज, फिरोजाबाद, औरैया, कानपुर देहात, जालौन, हमीरपुर, फतेहपुर, उन्नाव, अमेठी, बाराबंकी, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, देवरिया, चंदौली, मिर्जापुर, बलिया में मतदान होगा। 29 अप्रैल को चौथे चरण में 17 जिलों बुलंदशहर, हापुड़, संभल, शाहजहांपुर, अलीगढ़, मथुरा, फर्रुखाबाद, बांदा, कौशांबी, सीतापुर, अंबेडकर नगर, बहराइच, बस्ती, कुशीनगर, गाजीपुर, सोनभद्र, मऊ में मतदान होगा।
यहां नहीं होगा मतदान
गोंडा जिले में नौ (बहादुरा, खानपुर, सरावां, जलालपुर बल्लीपुर, मोहनपुर, साहिबापुर, परसिया, रामपुर व खरहटा), सीतापुर जिले में तीन (कैमहरा, रघुवरदयाल व भटपुरवा) तथा बहराइच जिले में एक (कपूरपुर) ग्राम पंचायत का कार्यकाल पूरा न होने के कारण यहां पर मतदान नहीं होगा। बुलंदशहर में पांच ग्राम पंचायतों का विलय औद्योगिक क्षेत्र में होने के कारण वहां भी मतदान नहीं होगा।
गड़बड़ी करने वालों पर लगेगा एनएसए
त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों के दौरान गड़बड़ी फैलाने वालों के खिलाफ एनएसए की कार्रवाई की जाएगी। चुनावों के दौरान सुरक्षा के तगड़े इंतजाम रहेंगे। जोनल मजिस्ट्रेटों को भी खास जिम्मेदारियां सौंपी गई हैं।
बढ़े मतदान केंद्र
राज्य निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव में इस बार कोरोना वायरस संक्रमण के कारण फिजिकल डिस्टेंसिंग पर जोर दिया है। इसी कारण मतदान स्थलों में इजाफा भी हो गया है। इससे पहले 2015 चुनाव में 179413 मतदान स्थल थे। 2021 में मतदान स्थलों की संख्या 203050 हो गई है।
आरक्षण आवंटन सूची जारी
लखनऊ। उत्तर प्रदेश में गांव की सरकार के गठन की प्रक्रिया ने गति पकड़ ली है। राज्य निर्वाचन आयोग ने पंचायत सामान्य निर्वाचन 2021 के लिए त्रिस्तरीय पंचायतों के आरक्षण एवं आवंटन की सूची को विभागीय वेबसाइट पर जारी कर दी है। इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ खंडपीठ के निर्देश के बाद पंचायती राज विभाग ने 27 मार्च तक नई आरक्षण सूची जारी करने का लक्ष्य रखा था, जिसको देर रात पंचायती राज विभाग की वेबसाइट पर अपलोड कर दिया गया। इसके होम पेज के मेन मेन्यू में पंचायत सामान्य निर्वाचन 2021 नामक लिंक से जन सामान्य त्रिस्तरीय पंचायतों की आरक्षण एवं आवंटन की सूची प्राप्त कर सकेगा।

सुप्रीम कोर्ट का दखल से इंकार सरकार को राहत

नई दिल्ली। यूपी पंचायत चुनाव को लेकर सुप्रीम कोर्ट से योगी सरकार को बड़ी राहत मिली है। सुप्रीम कोर्ट ने मामले में दखल देने से मना कर दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने याचिककर्ता को हाईकोर्ट जाने के लिए कहा है। सुप्रीम कोर्ट में याचिकाकर्ता द्वारा कहा गया कि हाइकोर्ट ने मुख्य दलीलों को नहीं सुना है। याचिकाकर्ता के मुताबिक 1995 की आरक्षण सूची के आधार पर चुनाव करना बेहतर प्रयास था लेकिन उसको बदल दिया गया।


असीम अरुण कानपुर और ए सतीश गणेश वाराणसी के पहले पुलिस कमिश्नर
4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। प्रदेश की योगी सरकार ने लखनऊ और नोएडा के बाद दो बड़े शहरों वाराणसी और कानपुर में भी कमिश्नरी प्रणाली लागू कर दी है। कैबिनेट से प्रस्ताव पास होने के बाद इस पर नोटिफिकेशन जारी हो गया है। डायल 112 के एडीजी असीम अरुण को कानपुर और आगरा जोन में एडीजी रहे ए सतीश गणेश को वाराणसी का पुलिस कमिश्नर बनाया गया है। दोनों जिलों को दो-दो हिस्सों में बांट दिया गया है। वाराणसी में वाराणसी नगर और ग्रामीण और कानपुर में कानपुर नगर व कानपुर आउटर के रूप में बांटा गया है। वाराणसी नगर में पुलिस कमिश्नर और ग्रामीण में एसपी को कमान सौंपी जाएगी। इसी तरह कानपुर नगर में पुलिस कमिश्नर और कानपुर आउटर में एसपी को जिम्मेदारी दी जाएगी। जिलाधिकारी का दखल ग्रामीण क्षेत्रों में ही रहेगा।

मुख्तार अंसारी को दो हफ्ते में यूपी भेजने का आदेश दिया सुप्रीम कोर्ट ने

4पीएम न्यूज नेटवर्क. नई दिल्ली। पंजाब की रोपड़ जेल में बंद बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को दो हफ्ते में उत्तर प्रदेश के जेल में शिफ्ट किया जाएगा। मुख्तार के मुकदमे और उसकी कस्टडी ट्रांसफर की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने आज यह फैसला सुनाया। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि दो हफ्ते के अंदर मुख्तार को यूपी शिफ्ट किया जाए इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि ये विशेष कोर्ट तय करेगी कि अंसारी को इलाहाबाद या बांदा किस जेल में शिफ्ट किया जाए।

भारत बंद: किसानों ने जाम की सड़कें, रोकीं ट्रेनें

  • कृषि कानूनों के खिलाफ कई महीने से कर रहे हैं आंदोलन
4पीएम न्यूज नेटवर्क. नई दिल्ली। कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले चार महीने से आंदोलन कर रहे किसानों ने आज भारत बंद का आह्वान किया। किसानों ने सड़कें जाम कर दीं और ट्रेनों को रोक दिया। लखनऊ में भी किसानों ने प्रदर्शन किया। वे कृषि कानूनों की वापसी की मांग कर रहे हैं। विपक्षी दलों ने भी किसानों के समर्थन में प्रदर्शन किया। पंजाब में किसानों ने 32 स्थानों पर रेल पटरियों को जाम कर दिया। दिल्ली के कई मेट्रो स्टेशनों को बंद कर दिया गया है। गाजीपुर बॉर्डर को भी जाम किया गया । वहीं ओडिशा में कांग्रेस और लेफ्ट पार्टियों और बिहार में आरजेडी कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया।

Next Story
Share it