Top

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे शानदार और जल्दी बने इसके लिए कमर कसी अवनीश अवस्थी ने

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे शानदार और जल्दी बने इसके लिए कमर कसी अवनीश अवस्थी ने

  • एक्सप्रेस-वे की लगातार मॉनीटरिंग कर रहे, मार्च तक निर्माण कार्य पूरा करने के दिए निर्देश
4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे परियोजना पर लगातार नजर रखे हुए हैं। वे निर्माण कार्यों के निरीक्षण के साथ एक्सप्रेस-वे की मॉनीटरिंग भी कर रहे हैं। ताकि जल्द ही जनता को पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की सौगात मिल सके। इसके लिए वे पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का लगातार दौरा कर रहे हैं। उन्होंने एक्सप्रेस-वे के ठेकेदारों से दो टूक कहा कि इसका निर्माण मार्च के अंत तक पूरा कर लिया जाए। अप्रैल में प्रधानमंत्री मोदी इसका शुभारंभ करेंगे। अवनीश अवस्थी ने कहा कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के बन जाने से व्यापक स्तर पर रोजगार एवं नौकरी की संभावनाएं उपलब्ध होंगी। इससे प्रदेश के युवाओं को रोजगार व नौकरी के लिए अन्य राज्यों व दूसरे देशों में नहीं जाना पड़ेगा। बल्कि अन्य जगहों के लोगों को भी नौकरी और रोजगार यही प्राप्त होगा। अवस्थी ने कहा कि तेजी से निर्माण कार्य जारी है। ऐसा प्रतीत होता है कि दो माह बाद यानी अप्रैल से इस एक्सप्रेस-वे पर वाहन दौड़ने लगेंगे। अवनीश अवस्थी ने कहा कि वर्ष 2018 में प्रारम्भ की गई यह परियोजना, वैश्विक महामारी कोविड-19 के बावजूद तीन साल से पहले ही जनता को समर्पित की जाएगी। उन्होंने कहा कि एक्सप्रेस-वे परियोजना देश में गुणवत्ता व समयबद्धता का एक उदाहरण बनेगी। उन्होंने कहा कि कार्यदायी संस्था, कॉन्ट्रैक्टर तथा स्थानीय जनता इसके समयबद्ध निर्माण के लिए कोई कोर कसर न छोड़े। 6 लेन का यह एक्सप्रेस-वे सर्वांगीण विकास की रूपरेखा तैयार करने वाला एक मार्ग होगा। इस परियोजना के तहत औद्योगिक क्लस्टर्स भी विकसित किए जाएंगे।
अवनीश ने निर्माणाधीन सेतु की प्रगति का मौके पर किया अवलोकन
गाजीपुर के अलावा मोजरापुर, जिला आजमगढ़ में निरीक्षण करने के बाद उन्होंने बताया कि इस परियोजना से प्रदेश के विकास की अपेक्षाओं पर पंख लगेंगे। उन्होंने कहा कि विकास ही वास्तव में हम सभी के जीवन में परिवर्तन लाता है। आशा की किरण के रूप में एक्सप्रेस-वे यहां के औद्योगिक विकास को नई उंचाइयों तक पहुंचाएगा। इस दौरान उन्होंने तमसा नदी पर निर्माणाधीन सेतु की प्रगति का मौके पर अवलोकन किया तथा अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। सुल्तानपुर में ग्राम कलवारी बांध तथा अरवलकीरी करवत में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के निर्माण कार्यों की अद्यतन प्रगति की समीक्षा की।
वाराणसी में पीड़ितों की सुनीं समस्याएं
अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने दो दिन पहले वाराणसी का दौरा किया। वहां उन्होंने देर रात वाराणसी के कैंट थाने का निरीक्षण किया। इसके बाद दिशा-निर्देश दिए। इस दौरान सबसे पहले महिला हेल्प डेस्क से शिकायत करने वाली सुमन कुमारी से मामले की जानकारी ली। अवनीश अवस्थी ने विस्तार से बात करते हुए मामले के निस्तारण और जांच से संतुष्ट होने के बारे में भी जानकारी ली। कई पीड़ितों की समस्याएं सुनते ही पुलिस अधिकारियों को तुरंत निस्तारण के निर्देश दिए। इसके साथ ही पूरे शहर में दर्जन भर और चौकियों को सृजित करने को एसपी सिटी को निर्देशित किया।


छात्रों को फ्री में मिलेगी नीट सिविल और डिफेंस परीक्षाओं की कोचिंग: रंजन कुमार
  • छात्रों के उज्ज्वल भविष्य के लिए लाई गई है अभ्युदय योजना
  • आज से पंजीकरण प्रक्रिया शुरू
  • बसंत पंचमी से होगी पढ़ाई
  • मुख्यमंत्री करेंगे इसकी शुरुआत
4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। लखनऊ के मंडलायुक्त रंजन कुमार ने कहा मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना के लिए पंजीकरण की प्रक्रिया आज से शुरू हो चुकी है। 16 फरवरी को बसंत पंचमी के दिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस योजना की शुरुआत करेंगे। इस योजना के तहत सिविल सेवा, जेईई, नीट, एनडीए, सीडीएस समेत अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं की निशुल्क कोचिंग कराई जाएगी। अभ्यर्थी
http:// abhyuday. up. gov.इन
लिंक पर रजिस्ट्रेशन कर सकते है। मंडलायुक्त रंजन कुमार ने बताया ग्रामीण क्षेत्र, निर्बल आय वाले परिवारों के बच्चे प्रतिभावान, मेधावी, परिश्रमी होते हुए भी धन के अभाव में कई बार इन परीक्षाओं की तैयारी नहीं कर पाते हैं। इसे देखते हुए मुख्यमंत्री ने इस योजना को शुरू करने का फैसला किया है। इस योजना से किसी मेधावी के सामने परीक्षाओं की तैयारी को लेकर धन की कमी आड़े नहीं आएगी। मंडलायुक्त ने बताया कि अभ्युदय योजना का उद्देश्य प्रदेश में प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे:- सिविल सेवा, जेईई, नीट, एनडीए, सीडीएस इत्यादि हेतु निजी क्षेत्र में प्रशिक्षण व्यवस्थाओं में गरीब विद्यार्थियों की मदद करना। उन्होंने बताया कि सभी मंडल मुख्यालयों पर प्रतियोगी परीक्षाओं की फ्री कोचिंग शुरू की जाएगी। इस रणनीति पर काम चल रहा है।
मंडलायुक्त ने बताया कि अभ्यर्थियों को सहजता के साथ गुणवत्तापूर्ण स्टडी मैटेरियल मिल सके। इसके लिए राज्य स्तर पर ई-लर्निंग कंटेंट प्लेटफार्म बनाया जा रहा है। पंजीकृत अभ्यर्थियों को ई-लर्निंग प्लेटफार्म पर सवाल पूछने का भी मौका होगा, जिसका विशेषज्ञ समुचित निराकरण करेंगे। बता दें कि इस योजना के क्रियान्वयन के लिए 6 सदस्यीय राज्य स्तरीय समिति तथा मण्डलायुक्त की अध्यक्षता में 12 सदस्यीय मण्डलीय समिति का गठन किया गया है। राज्य स्तरीय समिति कंटेंट तथा पठन-पाठन सामग्री इत्यादि हेतु अपनी आवश्यतानुसार विषेशज्ञों को आमंत्रित करेगी। समिति द्वारा शिक्षण कलेण्डर बनाना व विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं से सम्बन्धित सामग्री (सभी माध्यमों से यथा-वीडियो आदि) तैयार कराने का कार्य किया जाएगा।

नाका में दबंगों ने युवक को बंधक बनाकर पीटा

4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। नाका थाना क्षेत्र में मजरुब नामक युवक ने कुछ दबंगों द्वारा बंधक बनाकर पीटने का आरोप लगाया है। पुलिस ने इस मामले में बंटी नामक युवक को हिरासत में लिया है। घायल को मेडिकल के लिए अस्पताल भेजा है। प्रभारी निरीक्षक नाका मनोज मिश्रा के मुताबिक मजरुब नाका क्षेत्र का रहने वाला है। बीती रात शराब पीने के दौरान मजरुब की उसके दोस्तों के साथ आपसी झगड़े के बाद मारपीट हुई है। पुलिस का कहना है कि परिजनों द्वारा तहरीर मिलने के बाद मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी। मजरुब का आरोप है कि उसे बीते 7 फरवरी को जान से मारने की धमकी मिली थी।

स्कूल खुले तो छात्रों के चेहरे खिले

4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। राजधानी लखनऊ में उच्च प्राथमिक स्तर के सरकारी व निजी स्कूल आज से खुल गए। पहले दिन कक्षाओं में विद्यार्थियों की संख्या कम ही रहीं। कोरोना गाइडलाइन के अनुसार अभी हफ्ते में दो-दिन ही कक्षाएं चलेंगे और 50 फीसदी विद्यार्थी ही प्रत्येक कक्षा में बुलाए जाएंगे। स्कूल खुलने की खुशी में छात्र खुश दिखे। विद्यार्थियों का कहना है कि अब पढ़ाईर् बाधित नहीं होगी। पढ़ने में भी मन लगेगा।

Next Story
Share it