Top

एसीएस होम अवनीश अवस्थी के पिता का निधन

एसीएस होम अवनीश अवस्थी के पिता का निधन

  • दिवंगत आदित्य कुमार अवस्थी प्रख्यात लोक गायिका और पद्मश्री मालिनी अवस्थी के ससुर थे
4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी के पिता आदित्य का 94 वर्ष की आयु में आज सुबह निधन हो गया है। अवनीश अवस्थी के पिता आदित्य कुमार अवस्थी पिछले कुछ दिनों से अस्वस्थ चल रहे थे, जिसके बाद वे राजधानी लखनऊ के पीजीआई में भर्ती थे, जहां इलाज के दौरान उन्होंने अंतिम सांसें ली। लखनऊ के भैंसा कुंड में कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए उनकी अत्येष्टि की गई। दिवंगत आदित्य अवस्थी ने अपने जीवन में कई उल्लेखनीय योग्यताएं हासिल की थी। आदित्य अवस्थी बेहद अनुशासनप्रिय थे। वह दृढ़ इच्छा-शक्ति और शांत व्यक्तित्व के लिए अपने काम में लगन से जुट जाने के लिए विख्यात थे। एसीएस होम अवनीश अवस्थी के पिता के निधन पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत कई नेताओं और तमाम वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों ने गहरा शोक जताया है। आदित्य अवस्थी की मौत से उनके परिजनों और अन्य परिचितों में शोक की लहर है। दिवगंत आदित्य कुमार अवस्थी प्रख्यात लोकगायिका और पद्मश्री मालिनी अवस्थी के ससुर थे। उनके परिवार में पत्नी उषा अवस्थी के साथ तीन पुत्र अवनीश कुमार अवस्थी, मनीष कुमार अवस्थी व आशीष अवस्थी और तीन पुत्रवधू पद्मश्री मालिनी अवस्थी, मनाली अवस्थी व जूही अवस्थी हैं। अवनीश कुमार अवस्थी उत्तर प्रदेश कॉडर के सीनियर आईएएस अफसर हैं, जबकि मनीष व आशीष अमेरिका में कार्यरत हैं। स्वर्गीय आदित्य कुमार अवस्थी के परिवार में सात पोता-पोती में अद्वितीया-गायत्री, श्रेया, अनुग्रह, अक्षत अवस्थी और केशव-अनन्या मल्होत्रा हैं। बता दें कि 1987 बैच के आईएएस अधिकारी अवनीश अवस्थी मूल रूप से कानपुर के रहने वाले हैं।

रोगियों के लिए जल्द शुरू होगा हज हाउस का कोविड हास्पिटल : जिलाधिकारी

  • हज हाउस में बने 255 बेड के कोविड हॉस्पिटल का हुआ ड्राई रन
  • हॉस्पिटल में होंगे 25 वेंटिलेटर, 100 एचएफएनसी व 130 ऑक्सीजनयुक्त बेड
4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने कोविड रोगियों को जल्द उपचार उपलब्ध कराने के उद्ïदेश्य से एचएएल व राज्य सरकार के सहयोग से हज हाउस में बनाए जा रहे 255 बेड के कोविड हॉस्पिटल का ड्राई रन कराया और व्यवस्थाओं का जायजा लिया। डीएम ने बताया कि जल्द ही हास्पिटल में कोविड रोगियो का उपचार शुरू हो जाएगा। 24 घंटे कार्य सुचारू है। लगातार इस अस्पताल की मॉनटिरिंग की जा रही है। जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने बताया कि हॉस्पिटल में निर्बाध ऑक्सीजन सप्लाई की व्यवस्था उपलब्ध है ताकि रोगियों को किसी प्रकार की असुविधा न हो। डीएम ने बताया कि हॉस्पिटल एल 2 और एल 3 बेड सुविधा से लैस है। यहां 25 वेंटिलेटर, 100 एचएफएनसी एवं 130 ऑक्सीजनयुक्त बेड हैं। डीएम ने बताया कि केयर इंडिया के माध्यम से डॉक्टर्स, नर्स व पैरामेडिकल स्टाफ सपोर्ट मिल रहा है। हॉस्पिटल में ट्राइएज, होल्डिंग एरिया का निर्माण कराया गया है। साथ ही भर्ती रोगियों के स्वास्थ्य जानकारी उनके परिजनों को देने के लिये हेल्पडेस्क बनाई गई है। इसमें प्रतिदिन दोपहर 3 बजे से शाम 5 बजे तक परिजन रोगियों का हाल जान सकेंगे। कोविड मरीजों की मॉनीटरिंग के लिए कंट्रोल रूम बनाया गया है, जहां से सीसीटीवी कैमरों से उनकी मॉनीटरिंग की जाएगी। डीएम ने बताया कि हास्पिटल को एचएएल कोविड हास्पिटल के नाम से जाना जाएगा। हास्पिटल संचालन के लिए एचएएल और मुख्य चिकित्साधिकारी के मध्य एमओयू का हस्तांतरण किया गया। जिलाधिकारी ने बताया कि केयर इंडिया एनजीओ के माध्यम से डॉक्टर्स, नर्स व पैरामेडिकल स्टाफ सपोर्ट भी मिल रहा है। इस अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ संजय भटनागर, उपजिलाधिकारी सरोजनीनगर संतोष कुमार व अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।


थाई युवती केस: जांच गलत, एफआईआर की मांग
4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। पूर्व आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर तथा डॉ नूतन ठाकुर ने थाईलैंड की कथित कॉलगर्ल की रहस्यमय मृत्यु के संबंध में लखनऊ पुलिस द्वारा की जा रही जांच को विधिविरुद्ध बताते हुए एफआईआर की मांग की है। अमिताभ ठाकुर तथा डॉ नूतन ने धारा 154(3) सीआरपीसी में पुलिस कमिश्नर लखनऊ को भेजे अपने प्रार्थनापत्र में कहा कि उन्होंने कल इस मामले में एफआईआर की मांग की थी। अब तक इस संबंध में कोई एफआईआर दर्ज नहीं की गई है और लखनऊ पुलिस द्वारा बताया गया है कि मामले की जांच डीसीपी पूर्वी को दी गयी है। अमिताभ तथा नूतन ने कहा कि उनके द्वारा प्रस्तुत प्रार्थनापत्र में धारा 5 अनैतिक (व्यापार) निवारण अधिनियम 1956 के साथ आईपीसी की धारा 109 (अपराध का दुष्प्रेरण), 120बी (आपराधिक षडयंत्र), 177 (लोक सेवक को मिथ्या सूचना देना), 193 (मिथ्या साक्ष्य देना), 201 (साक्ष्य विलोपन), 203 (मिथ्या सूचना देना), 465 व 466 (सरकारी अभिलेखों में कूटरचना) का अपराध दिख रहा है, जो संज्ञेय अपराध है। इतने गंभीर मामले में एफआईआर की जगह प्रशासनिक जांच किया जाना विधिविरुद्ध है। पूर्व आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर तथा डॉ नूतन ठाकुर ने मामले में तत्काल एफआईआर दर्ज कराते हुए विधिक कार्यवाही किए जाने की मांग की है।

जून में हो सकता है कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष पद का चुनाव

4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आज कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक बुलाई। बैठक में पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में पार्टी की हार पर मंथन किया गया। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि पार्टी को विधानसभा चुनावों में अपनी असफलताओं पर ध्यान देना होगा और सही सबक निकालने के लिए वास्तविकता का सामना करना होगा। कांग्रेस वर्किंग कमेटी (सीडब्ल्यूसी) की बैठक में सोनिया गांधी ने कहा कि वह ऐसे हर पहलू को देखने के लिए एक छोटा समूह गठित करने का इरादा रखती हैं, जो इस तरह के बदलाव का कारण बने। इस बैठक में ये भी बताया गया कि जून के आखिर में कांग्रेस के अगले अध्यक्ष का चुनाव कराया जाएगा। आज इसकी विस्तृत घोषणा की जा सकती है। कांग्रेस की कार्यसमिति में पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के अलावा एके एंटनी और पार्टी के असंतुष्ट गुट जी-23 के गुलाम नबी आजाद भी शामिल हैं। बैठक में सोनिया ने कहा मैं हर पहलू को देखने और बहुत जल्दी रिपोर्ट करने के लिए एक छोटा समूह स्थापित करने का इरादा रखती हूं। उन्होंने कहा कि हमें यह समझने की आवश्यकता है कि केरल और असम में हम असंगत गुंडों को नापसंद करने में क्यों असफल रहे और पश्चिम बंगाल में हमारा खाता भी नहीं खुल सका।

यूपी में होम आइसोलेशन के लिए बदलेंगे नियम

4पीएम न्यूज नेटवर्क. लखनऊ। यूपी में होम आइसोलेशन के नियम-कानून में बदलाव होगा। कोरोना की दूसरी लहर में बार-बार वायरस का मिजाज बदला। होम आइसोलेशन के मरीजों को दिक्कतों से बचाने के लिए राज्य कोविड नियंत्रण विशेषज्ञ समिति होम आइसोलेशन की गाइडलाइन नए सिरे से तैयार कर रही है। दो से तीन दिन में 14 विशेषज्ञों की समिति शासन को रिपोर्ट सौंपेगी। कोरोना का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है। रोजाना 20 से 30 हजार लोग वायरस की चपेट में आ रहे हैं। सैकड़ों मरीजों की मौत हो रही है। होम आइसोलेशन में कई मरीजों की मौत हो चुकी है। ऐसे में विशेषज्ञों ने होम आइसोलेशन के नियमों में तब्दीली की जरूरत बताई है। समिति के अध्यक्ष व पीजीआई के निदेशक डॉ. आरके धीमान ने कहा कि होम आइसोलेशन की नई गाइडलाइन तैयार की जा रही है।
इन बिंदुओं पर गौर करें
बुखार न आने की दशा में होम आइसोलेशन के मरीज 14 के बजाए 10 दिन में बाहर आ सकेंगे।
दोबारा कोरोना जांच भी जरूरी नहीं होगी।
होम आइसोलेशन के मरीज को भी स्टराइड दिया जा सकता है। यह डॉक्टरों की टीम तय करेगी। किन परिस्थितियों में मरीज को स्टराइड दिया जा सकता है।
प्रोन वेंटिलेशन (पेट के बल लिटाने की प्रक्रिया) को भी बढ़ावा दिया जा सकता है। इससे शरीर में ऑक्सीजन का स्तर बढ़ता है।
कोरोना मरीज जिस कमरे में रहेगा उसमें खिड़कियां होनी चाहिए। ताकि हवा का आवागमन हो।
सर्दी-जुकाम, बुखार गले में खराश आदि लक्षण होने पर होम आइसोलेशन की दवा देने की सलाह दी जा सकती है। ताकि जांच के इंतजार में मरीज को गंभीर होने से रोका जा सके।
घर में रेमडेसिविर इंजेक्ïशन की मनाही होगी। इसे सिर्फ हॉस्पिटल में दिया जा सकेगा।

Next Story
Share it