Top

अगर ट्रेन से ट्रैवल करने का है विचार, तो यह खबर है काम की

अगर ट्रेन से ट्रैवल करने का है विचार, तो यह खबर है काम की


नई दिल्ली। रेल यात्रियों के लिए काम की खबर है। यदि आप ट्रेन से यात्रा करने की योजना बना रहे हैं, तो आपको किसी आरटी-पीसीआर नकारात्मक रिपोर्ट की आवश्यकता नहीं हो सकती है। क्योंकि अगर आपने कोरोना की वैक्सीन ले ली है तो उसका सर्टिफिकेट ही काफी होगा। रेल मंत्रालय ऐसे ही एक प्रस्ताव पर विचार कर रहा है, जिसे इसी महीने मंजूरी मिल सकती है।
कोरोना वैक्सीन की डोज लेने वालों को अब ट्रेन में सफर के दौरान आरटी-पीसीआर रिपोर्ट निगेटिव आने के झंझट से निजात मिल सकती है। वैक्सीन लेने के बाद आप अपने सर्टिफिकेट को आरोग्य सेतु एप पर वेरिफाई कर सकते हैं, यह सुविधा कुछ दिन पहले आरोग्य सेतु एप पर शुरू हुई थी। बशर्ते कि आरोग्य एप का मोबाइल नंबर और कोरोना वैक्सीन के लिए दिया गया नंबर एक ही हो। यदि आपने टीके की पहली खुराक ली है तो आरोग्य सेतु आपको आंशिक रूप से टीकाकृत दिखाएगा और यदि आपने दोनों टीके ले लिए हैं तो आप पूर्ण टीकाकरण दिखाएंगे।
आरोग्य सेतु पर टीकाकरण का यह अपडेट अपने आप में एक सबूत होगा और आप बिना किसी रुकावट के ट्रेनों में यात्रा कर सकेंगे। रेलवे आपसे कोई अन्य दस्तावेज या कोविड जांच परिणाम नहीं मांगेगा। हालांकि अभी यह सिर्फ एक सुझाव है, कई राज्यों ने रेल मंत्रालय को इस तरह के सुझाव दिए हैं। इन सुझावों पर रेल मंत्रालय को अभी अंतिम फैसला लेना है।
बताया जा रहा है कि कोविड टीकाकरण को बढ़ावा देने और घरेलू यात्रा को अधिक से अधिक सुरक्षित बनाने के लिए केंद्र सरकार उन लोगों को बिना किसी पाबंदी के यात्रा करने की अनुमति दे सकती है, जिन्हें कोविड का टीका लग गया है. इससे लोगों में कोरोना वैक्सीन को लेकर भी विश्वास पैदा होगा। सूत्रों का कहना है कि 15 जून तक इस मामले में और स्पष्टीकरण आ सकता है।
इधर, केंद्र सरकार ने उन लोगों के लिए बड़ी राहत दी है जिनकी जन्मतिथि, नाम या अन्य कोई गलती उनके कोविड वैक्सीन सर्टिफिकेट में हुई है, तो वे इसे ठीक कर सकेंगे। इसके लिए सरकार ने पोर्टल पर एक नया फीचर जोड़ा है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव विकास शील ने यह जानकारी दी।


Next Story
Share it