दो दिन बाद दिग्गी राजा को मिला कमलनाथ का साथ

दो दिन बाद दिग्गी राजा को मिला कमलनाथ का साथ



नई दिल्ली। कांग्रेस सांसद और पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह पर वाटर कैनन के इस्तेमाल के खिलाफ कांग्रेस खड़ी हो गई है। नेता प्रतिपक्ष और पूर्व सीएम कमलनाथ ने सीएम शिवराज को पत्र लिखकर उस घटना की कड़ी निंदा की है। कांग्रेस सांसद विवेक तन्खा ने भी सीधे तौर पर कहा कि शिवराज सरकार इस गलत परंपरा को शुरू कर रही है।
पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस ने भोपाल के गोविंदपुरा औद्योगिक क्षेत्र में आरएसएस संगठन लघु उद्योग भारती को मिट्टी खरीदने का विरोध किया। विरोध के दौरान पुलिस ने दिग्विजय सिंह पर वाटर कैनन का इस्तेमाल किया। एक वरिष्ठ नेता और पूर्व सीएम के खिलाफ इस तरह की कार्रवाई पर पार्टी में तीखी प्रतिक्रिया दी है। दिग्विजय सिंह के समर्थन में कांग्रेस के तमाम नेता खड़े हो गए हैं।
दिग्विजय सिंह के धरने के 48 घंटे बाद पूर्व सीएम कमलनाथ ने सीएम शिवराज को पत्र लिखकर घटना की निंदा की है। उन्होंने दिग्विजय सिंह पर वाटर कैनन का इस्तेमाल करने के पुलिस के व्यवहार को निंदनीय बताया है। कमलनाथ ने सीएम शिवराज को पत्र लिखकर आरएसएस से जुड़े संगठन को एक रुपये में दी जा रही जमीन का आवंटन रद्द करने की मांग की है। कमलनाथ ने अपने पत्र में लिखा है कि गोविंदपुरा औद्योगिक क्षेत्र में 10,000 वर्ग फुट पार्क की जमीन संघ से जुड़े किसी संगठन को देना गलत है। भूमि आवंटन में नियमों और प्रक्रियाओं का पालन करना आवश्यक है। उन्होंने सीएम शिवराज से भूमि आवंटन रद्द करने की मांग की है। कमलनाथ ने सरकार को चेतावनी दी है कि भूमि आवंटन रद्द नहीं किया गया तो कांग्रेस इसका विरोध जारी रखेगी।
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और सांसद विवेक तन्खा ने भी दिग्विजय सिंह पर वाटर कैनन के इस्तेमाल की कड़ी निंदा की है. उन्होंने कहा कि शिवराज सरकार गलत प्रथा अपना रही है। प्रदेश में जो हो रहा है वह ठीक नहीं है।
प्रदेश की शिवराज सरकार ने संघ से जुड़े संगठन को भोपाल के गोविंदपुरा औद्योगिक क्षेत्र में 10 हजार वर्ग फुट जमीन महज एक रुपये में देने का फैसला किया है। इसके खिलाफ पूरी कांग्रेस पार्टी खड़ी हो गई है। दो दिन पहले दिग्विजय सिंह ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ धरना दिया था। इस दौरान उनकी और अधिकारियों के बीच तीखी नोकझोंक भी हुई। इसके बाद जिला प्रशासन के निर्देश पर प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए वाटर कैनन का इस्तेमाल किया गया।


Next Story
Share it