Top

उत्तर भारत में 21 जुलाई तक भारी बरसात की संभावना

उत्तर भारत में 21 जुलाई तक भारी बरसात की संभावना


नई दिल्ली। देशभर में मानसून के आने के बाद अगले एक सप्ताह तक उत्तर भारत में भारी बारिश की संभावना है। मौसम विभाग ने भविष्यवाणी की है कि 18 से 21 जुलाई तक पूरे उत्तर भारत में भारी बारिश होगी, जबकि ये हालात 23 जुलाई तक पश्चिमी क्षेत्रों में रहेंगे।
विभाग ने कहा है कि दक्षिण पश्चिम मानसून के फिर से सक्रिय होने के बाद उत्तरी क्षेत्र समेत देश के कई हिस्सों में अगले छह-सात दिनों में भारी बारिश होगी। मानसून का सबसे ज्यादा असर दिल्ली, यूपी, बिहार, राजस्थान, हरियाणा और पंजाब के इलाकों में पड़ेगा। यहां लोगों को भीषण गर्मी से राहत मिलेगी।
मौसम विभाग के अनुसार पश्चिमी हिमालय क्षेत्र (जम्मू, कश्मीर, लद्दाख, गिलगित, बाल्टिस्तान, मुजफ्फराबाद, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड) में भारी बारिश जारी रहेगी। इसके साथ ही उत्तर-पश्चिम भारत में पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, यूपी और उत्तर मध्य प्रदेश में भी 18 से 21 जुलाई तक भारी बारिश होगी।
इसके बाद इन इलाकों में बारिश कम होने की उम्मीद है। पश्चिम और दक्षिण भारत में भी भारी बारिश की संभावना है। अगले पांच-छह दिनों के दौरान पश्चिमी तट और आसपास के इलाकों में भारी से बहुत भारी बारिश जारी रहने की संभावना है। महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में भारी बारिश होगी। 18-19 जुलाई को उत्तराखंड के दूरस्थ इलाकों और 19 जुलाई को यूपी के उत्तर-पश्चिमी हिस्सों में भारी बारिश की संभावना है। 18 और 19 जुलाई को दिल्ली और चंडीगढ़ के ऊपर अलग-अलग स्थानों पर मध्यम से भारी वर्षा होने की संभावना है।
मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि अगले 24 घंटों के दौरान उत्तर प्रदेश, गुजरात, मध्य प्रदेश और पूर्वी राजस्थान के ऊपर अलग-अलग स्थानों पर बिजली गिरने और तेज गरज-चमक के साथ बौछारें पडऩे की संभावना है। विभाग ने चेतावनी दी है कि इन हालातों में बाहर रहने वाले लोगों और जानवरों को नुकसान हो सकता है।
आईएमडी के अनुसार, हाल ही में उपग्रह छवियों में जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पश्चिम उत्तर प्रदेश, हरियाणा चंडीगढ़ और दिल्ली के कुछ हिस्सों, उत्तरोत्तर मध्य प्रदेश, पूर्वोत्तर राजस्थान, उत्तरी कोंकण, बिहार पर तीव्र या बहुत तीव्र संवहन दिखाई देता है ।


Next Story
Share it