राशि के अनुसार करें इस माह में शिव की पूजा, प्राप्त होगी शिवकृपा

राशि के अनुसार करें इस माह में शिव की पूजा, प्राप्त होगी शिवकृपा


नई दिल्ली। सावन के महीने में हर कोई भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए विभिन्न तरीकों से पूजा करता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि अगर भोलेनाथ की पूजा राशि के अनुसार की जाए तो वह बहुत जल्द बहुत खुश हो जाते हैं। इस आर्टिकल में हम आपको बता रहे हैं कि किस राशि के लोगों को सावन के महीने में भोलेशंकर की पूजा किस तरह से करनी चाहिए ताकि वह खुश हो जाए और सभी मुरादें पूरी कर दें।

मेष राशि वाले करें इस तरह से शिव की पूजा
सावन में मेष राशि के जातकों को गाय के कच्चे दूध में शहद मिलाकर भगवान शिव का अभिषेक करना चाहिए। इसके बाद चंदन और सफेद फूल चढ़ाने चाहिए। इसके बाद भक्ति के अनुसार 11, 21, 51 और 108 बार ओम नम: शिवाय मंत्र का जप करना चाहिए। ऐसा करने से भोलेनाथ सभी इच्छाएं पूरी करते हैं।
वृषभ राशि के जातक यूं कर सकते हैं शिव को प्रसन्न

सावन में वृषभ राशि के लोगों को दही से शिव शंकर का अभिषेक करना चाहिए। दही से अभिषेक करने से व्यक्ति को धन, पशु, भवन और वाहन मिलने की संभावना होती है। इसके अलावा सफेद फूल और बेल के पत्ते चढ़ाने चाहिए। यह जीवन की सभी समस्याओं का समाधान प्रदान करते है। शाम को किसी भी शिव मंत्र का जाप करना चाहिए।

मिथुन राशि वालों की भोलेनाथ ऐसा करेंगे इच्छा पूरी
सावन में मिथुन राशि के लोगों को गन्ने के रस से भोलेनाथ का अभिषेक करना चाहिए। मान्यता है कि पूरे सावन में प्रतिदिन गन्ने के रस से अभिषेक करने से भोलेनाथ उनकी सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं। इसके अलावा इस राशि के लोगों को भांग, धतुरा और बेल के पत्ते शिव को चढ़ाने चाहिए। शिव चालीसा का भी पाठ करना चाहिए।
कर्क राशि वालों को इस तरह से मिलेगा पूजा का लाभ

सावन में कर्क राशि के लोगों को दूध में शक्कर मिलाकर भोलेनाथ का अभिषेक करना चाहिए। इससे मन शांत होता है और शुभ कार्य करने की प्रेरणा मिलती है। इसके साथ ही आक के सफेद फूल, धतुरा और बेलपत्र शिव को चढ़ाना चाहिए। साथ ही रुद्राभिषेक का पाठ भी शुभ रहेगा।

सिंह राशि के जातकों को यूं करनी चाहिए पूजा

सावन में सिंह राशि के लोगों को शहद या गुड़ युक्त जल से भोलेनाथ का अभिषेक करना चाहिए। कनेर फूल और लाल चंदन भगवान शिव को चढ़ाना चाहिए। गुड़ और चावल से बनी खीर चढ़ाई जा सकती है। यह बहुत शुभ होता है। सूर्योदय के समय भगवान शिव की पूजा करने से सभी मनोकामनाएं शीघ्र पूर्ति होती हैं। महामृत्युंजय मंत्र का जप करना चाहिए। इससे स्वास्थ्य संबंधी सभी समस्याएं दूर हो जाती हैं।

शिव का अभिषेक साबित होगा कन्या राशि के लिए लाभदायक

कन्या राशि के जातकों को शम्भूनाथ का गन्ने के रस से अभिषेक करना चाहिए। इसके अलावा शिव को भांग, दुर्वा, पान के पत्ते चढ़ाएं। ओम नम: शिवाय मंत्र का जाप करें। ऐसा करने से जल्द ही मनोकामनाएं पूरी होंगी। शिव चालीसा का पाठ करना भी बेहतर होगा।

तुला राशि के जातकों के पलिए यह काम है जरूरी

सावन में तुला राशि के लोगों को गाय के घी, इत्र या सुगंधित तेल या दूध में शक्कर ़ुमिलाकर भगवान शिव का अभिषेक करना चाहिए। पूजा में शिव को सफेद फूल भी चढ़ाना चाहिए। दही, शहद या श्रीखंड का चढ़ावा चढ़ाने का काम करना चाहिए। शिव सहस्रनामावली का पाठ करना चाहिए। माना जाता है कि इसको् पढऩे से जीवन में सुख, समृद्धि और लक्ष्मी की प्राप्ति होती है।

वृश्चिक राशि वालों के लिए शुभ रूद्राभिषेक

सावन में वृश्चिक राशि के लोगों को पंचामृत या शहद युक्त जल से भगवान शिव का अभिषेक करना चाहिए। लाल फूल और लाल चंदन भी शिव को चढ़ाना चाहिए। बेलपत्र या बेल के पौधे की जड़ चढ़ाने से भी काम में सफलता मिलती है। रुद्राभिषेक का पाठ भी बेहतर होगा।

धनु राशि वालों से ऐसे प्रसन्न होंगे भोलेनाथ

सावन में धनु राशि के लोगों को दूध में हल्दी या पीला चंदन मिलाकर भोलेनाथ का अभिषेक करना चाहिए। इसके अलावा पीले फूल या गेंदा के फूल चढ़ाने चाहिए। खीर का प्रसाद भी शुभ रहेगा। ओम नम: शिवाय का जाप करें और शिव चालीसा का पाठ करें।

मकर राशि वाले ऐसे कर सकते हैं प्रसन्न
सावन में मकर राशि वालों को भोलेशंकर का नारियल पानी से या गंगा जल से अभिषेक करना चाहिए। ऐसा करने से व्यक्ति को हर काम में सफलता मिलती है। इसके अलावा त्र्यंम्बकेश्वर पर ध्यान करते समय बेल के पत्ते, धतूरा, शमी के फूल, भांग और अष्टगंध चढ़ानी चाहिए। उड़द से बनी मिठाइयां चढ़ानी चाहिए। इससे शनिदेव का कष्ट समाप्त हो जाता है। नीले कमल का फूल भी प्रभु को चढ़ाना चाहिए।

कुंभ राशि के जातकों से ऐसे खुश होंगे महादेव

सावन में कुंभ राशि के लोगों को प्रतिदिन नारियल पानी, सरसों के तेल या तिल के तेल से भगवान शिव का अभिषेक करना चाहिए। इसके अलावा शिवाष्टक का पाठ करना चाहिए। इस कारण जातकों के शुभ कार्य बनते हैं। इसके साथ-साथ धन और समृद्धि में वृद्धि होता है। शमी के फूल भी पूजा में चढ़ाने चाहिए। शिव की कृपा से शनि का प्रकोप कम होता है।
मीन राशि वाले हासिल कर सकते हैं सबकुछ
मीन राशि के लोगों को पूरे सावन में केसर मिश्रित जल के साथ भोलेनाथ का जलाभिषेक करना चाहिए। इसके अलावा पूजा में पंचामृत, दही, दूध और अपर्णा के फूलों का प्रयोग करना चाहिए। इसके साथ-साथ ओम नम: शिवाय का जाप करना चाहिए। शिव चालीसा का पाठ करना भी शुभ रहेगा। इससे जीवन की सारी टेंशन दूर हो जाते हैं। साथ ही आपके घर और बाहर दोनो जगह के काम बन जाते हैं।


Next Story
Share it