अगर करते हैं वास्तु शास्त्र पर विश्वास तो ये चीजें हो आपके पास

अगर करते हैं वास्तु शास्त्र पर विश्वास तो ये चीजें हो आपके पास


नई दिल्ली। आजकल घरों में देखा जाता है कि लोग मूर्तियों को सजावट के लिए रखते हैं। ये मूर्तियां धातु की हो सकती हैं, कांच की हो सकती हैं या किसी अन्य सामग्री की हो सकती हैं। वास्तु में मूर्तियां रखने का बहुत ही खास महत्व बताया गया है। घर को सजाने और खूबसूरती बढ़ाने की चाह में कई बार हम कुछ ऐसी मूर्तियां लगा देते हैं जो वास्तु दोष पैदा करते हैं। आज हम आपको ऐसी ही 7 मूर्तियों के बारे में बता रहे हैं, जिनको कोई भी व्यक्ति को घर में लगाकर शुभ परिणाम प्राप्त कर सकता है।
हाथियों को प्राचीन काल से ही धन और ऐश्वर्य का प्रतीक माना जाता रहा है। मां लक्ष्मी की सवारी होने के कारण हाथी को सुख-समृद्धि का प्रतीक माना जाता है। अगर आप अपने घर में हाथी की मूर्ति रखेंगे तो आपके घर पर भी मां लक्ष्मी की कृपा होगी। यदि आप इसे उत्तर या पूर्व दिशा में रखें तो यह सबसे शुभ होगा। इसके साथ ही यह भी माना जाता है कि बेडरूम में चांदी के हाथी की मूर्ति रखने से आप पर राहु का अशुभ प्रभाव खत्म हो जाता है। यदि आप चांदी की मूर्ति नहीं रख सकते हैं, तो आप उचित स्थान पर एक तस्वीर भी लगा सकते हैं।
घर में कछुआ होना बहुत शुभ होता है। कुछ लोग अपने एक्वेरियम में कछुए डाल देते हैं। पौराणिक मान्यताओं में कछुआ भगवान विष्णु का रूप माना जाता है, जिसके कारण लोग इसे अपने घर में रखना पसंद करते हैं। अगर आप जीवित कछुए को नहीं रख सकते हैं तो घर में उत्तर दिशा में कछुए की मूर्ति रख सकते हैं। इसका प्रभाव भी उतना ही शुभ माना जाता है। इसके साथ ही आप ड्राइंग फॉर्म में मुख्य दरवाजे के सामने धातु का कछुआ भी रख सकते हैं। आप घर में चांदी का एक छोटा सा कछुआ भी रख सकते हैं जहां आप अपना पैसा रखते हैं।
हंस को प्रेम, शांति और सद्भाव का प्रतीक माना जाता है। आप अपने लिविंग रूम में हंस दंपती की मूर्ति लगा सकते हैं। इससे वित्तीय लाभ मिलने के अलावा घर में प्रेम और सद्भाव का वातावरण रहेगा। घर में एक जोड़ी हंस की मूर्ति रखकर पति-पत्नी के बीच संबंध बहुत मधुर बने रहते हैं।
वैसे, लोग अपने घर में एक्वेरियम रखना और उसमें रंगीन मछली रखना पसंद करते हैं। वास्तु और फेंग शुई दोनों में मछली बहुत शुभ मानी जाती है। अगर आपके लिए घर में एक्वेरियम रखना संभव नहीं है तो आप घर में पीतल या चांदी की मछली भी रख सकते हैं। इसका प्रभाव भी उतना ही अच्छा है। मछली को घर की पूर्व या उत्तर दिशा में रखें।
तोता को वास्तु में प्रेम और खुशी का प्रतीक माना जाता है और यह घर में सकारात्मकता को बढ़ाता है। अगर आप अपने बच्चों के कमरे में मूर्ति या तोते की तस्वीर लगाते हैं तो ऐसा करने से उनकी एकाग्रता बढ़ती है और उनका मन पढ़ाई में मशगूल रहता है। दूसरी ओर फेंग शुई के अनुसार तोता पृथ्वी, अग्नि, जल, लकड़ी और धातु का प्रतीक है। तोता को घर में रखने या तोते की मूर्ति रखने से वातावरण प्रसन्न रहता है और धन और वैभव में वृद्धि होती है।
वास्तु और फेंग शुई में ऊंट प्रगति से जुड़ा होता है। ऊंट की मूर्ति को घर में रखना शुभ माना जाता है। आप ड्राइंग रूम में या लिविंग रूम में ऊंट की मूर्ति लगा सकते हैं। बेहतर होगा कि आप इसे उत्तर-पश्चिम दिशा में रखें। ऐसा करने से आपके करियर और बिजनेस में सफलता देने वाला माना जाता है।
गाय की सेवा करना हिंदू धर्म में हर व्यक्ति का कर्तव्य माना जाता है। गांव के पर्यावरण से जुड़े कई लोग, जिनका घर बड़ा है, गाय भी रखते हैं, लेकिन आज की दिनचर्या में ऐसा करना हर किसी के लिए संभव नहीं है। इसीलिए आप अपने घर में गाय की मूर्ति सजा सकते हैं। चाहे यह मूर्ति पीतल की हो या सफेद पत्थर की, इसे सबसे शुभ माना जाता है। घर में गाय की मूर्ति रखने से बच्चों का स्वास्थ्य बेहतर रहता है और उनका मन पढ़ाई में लगा रहता है।


Next Story
Share it