जल्द ही बदलने वाले हैं कार्ड पेमेंट के नियम, नए नियम में यह होगा बदलाव

जल्द ही बदलने वाले हैं कार्ड पेमेंट के नियम, नए नियम में यह होगा बदलाव


नई दिल्ली। आप नए साल पर आप नए तरीके से भुगतान कर सकेंगे। दरअसल, 1 जनवरी 2022 से कार्ड से पेमेंट करने का तरीका बदलने वाला है। रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने भुगतान (आरबीआई टोकनीकरण नियम) से संबंधित टोकनाइजेशन के नियम जारी कर दिए हैं। यानी अब भुगतान के लिए टोकन सिस्टम लागू किया जाएगा। दरअसल, आरबीआई ने डाटा स्टोरेज से संबंधित टोकन के लिए नियम जारी किए हैं। 1 जनवरी, 2022 से, कार्ड जारी करने वाले बैंक या कार्ड लेनदेन/भुगतान में कार्ड नेटवर्क के अलावा किसी और व्यक्ति द्वारा कोई भौतिक कार्ड डेटा भंडारण नहीं किया जाएगा। ऐसे में कार्ड धारक के डाटा की प्राइवेसी पर विशेष प्रावधान किया गया है।
टोकन, पेमेंट एग्रीगेटर्स के लिए आरबीआई के नए नियमों के मुताबिक, दिसंबर 2021 के बाद व्यापारियों को कस्टमर कार्ड का डेटा कलेक्ट करने की इजाजत नहीं होगी। इसके अलावा टोकन सिस्टम के तहत प्रत्येक लेनदेन के लिए इनपुट कार्ड विवरण की आवश्यकता नहीं होगी। बता दें कि टोकन व्यवस्था ग्राहकों की इच्छाओं पर निर्भर करेगी। इसे लेने के लिए उन पर कोई दबाव नहीं डाला जा सकता। इसके अलावा इसे किसी भी बैंक या कार्ड जारी करने वाली कंपनियों द्वारा अनिवार्य रूप से लागू नहीं किया जाएगा।
बता दें कि टोकन की यह व्यवस्था मोबाइल, लैपटॉप, डेस्कटॉप और स्मार्ट वॉच सहित अन्य के माध्यम से किए गए भुगतान पर भी लागू होगी। इन्हें सर्विस प्रोवाइडर द्वारा जारी किया जाएगा। टोकन फॉर्म में कार्ड डाटा जारी करने की सुविधा एक ही टोकन सर्विस प्रोवाइडर के पास होगी। हालांकि यह ग्राहकों की सहमति पर निर्भर करेगा।
1 जनवरी, 2022 से, आपको अपने कार्ड का विवरण किसी तीसरे पक्ष के ऐप के साथ साझा नहीं करना होगा। अभी ऐसा नहीं है, अगर आप जोमैटो से भोजन मंगवाते हैं या ओला बुक करते हैं तो फिर आपको कार्ड का ब्योरा देना होता है और यहां ग्राहक के कार्ड का पूरा ब्योरा सेव हो जाता है। जहां धोखाधड़ी का खतरा बना रहता है। हालांकि, टोकनीकरण प्रणाली के साथ ऐसा नहीं होगा।


Next Story
Share it