Top

Lifestyle

  • व्हाट्सएप से करें पेमेंट पर रहें सावधान

    श्व भर में सर्वाधिक इस्तेमाल किया जाने वाला मैसेंजर व्हाट्सएप, भारत में भी उतना ही लोकप्रिय है। इसकी लोकप्रियता का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि भारत में इसके आसपास कोई दूसरा मैसेजिंग एप नहीं ठहरता। भारत में तकरीबन 40 करोड़ के आसपास यूजर व्हाट्सअप का इस्तेमाल करते हैं। कहा जा सकता है कि...

  • सर्दी-खांसी-जुकाम में करें इनका उपयोग बढ़ जायेगी इम्यूनिटी

    पमान में गिरावट आते ही लोगों को सर्दी-खांसी-जुकाम की समस्या होने लगती है। इससे राहत पाने के लिए लोग पानी की तरह पैसा बहाने लगते हैं। कोरोना काल में सर्दी-जुकाम और बुखार से बचने और इम्युनिटी बढ़ाने के लिए इन चीजों का इस्तेमाल करें। ये सर्दी के मौसम में आपकी सेहत का ख्याल...

  • आ गया SMOCK रहें सावधान

    मॉग एक ऐसा बाहरी वायु प्रदूषण है जो गर्मी और ठंड दोनों ही मौसम में स्वास्थ्य के लिए कई समस्याएं पैदा करता है। स्मॉग स्थिर हवा की एक घनी परत है जो वायु प्रदूषण अधिक होने पर जमीन स्तर के पास बनती है। यह घने ट्रैफिक वाले क्षेत्रों या उच्च उत्सर्जन वाले उद्योग के पास के क्षेत्रों में अधिक आम है। यह...

  • शादी का घर… तो ऐसी हो सजावट

    दी का मौसम शुरू हो चुका है। ऐसे में मेहमानों के स्वागत में साज-सज्जा को खास महत्व दिया जाता है। संक्रमण के इस दौर में अगर आप बाहर न जाकर घर पर ही कार्यक्रम की व्यवस्था कर रहें हैं तो आपको अपने घर को खूबसूरत अंदाज देने की जरूरत होगी। घर की साजसज्जा कुछ यूं कीजिए कि बाहर से आयोजन न कर पाने की कसक न...

  • प्रकृति संरक्षण एवं राष्ट्र संवर्धन का महापर्व दीपावली

    १ डा. विवेकानंद तिवारीहिन्दू धर्म में प्रकृति पूजन को प्रकृति संरक्षण के तौर पर मान्यता है। भारत में पेड़-पौधों, नदी-पर्वत, ग्रह-नक्षत्र, अग्नि-वायु सहित प्रकृति के विभिन्न रूपों के साथ मानवीय रिश्ते जोड़े गए हैं। पेड़ की तुलना संतान से की गई है तो नदी को मां स्वरूप माना गया है। ग्रह-नक्षत्र, पहाड़...

  • सुहागिनों को दीदार का इंतजार कराएगा चांद करवा चौथ

    रवा चौथ का पर्व सुहागिनों के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण होता है। इस दिन महिलाएं निर्जल व्रत करके रात को चंद्र देव के दर्शनों के बाद ही व्रत खोलती हैं। हर वर्ष कार्तिक महीने के कृष्णपक्ष की चतुर्थी को ये पर्व मनाया जाता है। इस बार करवा चौथ 4 नवंबर को है। इस दिन महिलाएं पति की लंबी उम्र के लिए उपवास रखती...

  • किसी चमत्कारी बूटी से कम नहीं

    युर्वेद की दुनिया में कई समस्याओं का समाधान मौजूद है। यहां ज्यादातर बीमारियों का इलाज जड़ी-बूटियों से किया जाता है। आयुर्वेद में कई अद्भुत जड़ी बूटियां मौजूद होती हैं, इन्हीं में से एक शतावरी भी है। इसके बारे में कम ही लोगों को जानकारी हैं। ये कहा पाया जाता है, इसका कैसे इस्तेमाल करते हैं, किन-किन...

  • सर्दियों के मौसम में फायदेमंद है मूंगफली

    गफली का मूल स्थान ब्राजील या पेरु माना जाता है जहां पर धार्मिक रीति के तहत सूर्य देव को अर्पित करने के लिए सबसे पहली बार जंगली मूंगफली की खेती की गई थी। मूंगफली में प्रोटीन, तेल और फाइबर प्रचुरता में मौजूद होता है। मूंगफली न केवल सेहत के लिए लाभकारी होती है बल्कि इसका स्वाद भी लोगों को बहुत पसंद आता ...

  • अमरूद की पत्तियों में छिपा है सेहत का खजाना

    मरूद ही नहीं, इसकी पत्तियां भी सेहत के लिए काफी फायदेमंद होती हैं। अमरूद की पत्तियों में एंटीऑक्सीडेंट्स, कई पोषक तत्व और मेडिसिनल प्रॉपर्टीज मौजूद होती हैं जो सेहत को अमरूद से भी अधिक लाभ पहुंचाती हैं। जानें, अमरूद की पत्तियों के बारे में जो सेहत के लिए फायदेमंद कहलाते...

  • दूध के साथ न करें इन चीजों का सेवन

    हा जाता है कि अगर खानपान को लेकर सही तरह का ज्ञान न हो तो फायदेमंद आहार भी हमारे शरीर के लिए नुकसानदायक हो सकते हैं। कई ऐसी खाने की चीजें होती हैं जिनके साथ या आगे-पीछे कोई अन्य चीज को नहीं खाना चाहिए, वरना बाद में इसका असर बुरा भी हो सकता है। इन्हीं में से एक दूध भी है, जिसे हर किसी चीज के साथ सेवन ...

  • ऑयली स्किन है तो न करें ये गलतियां

    स तरह हर महिला का मिजाज अलग होता है, ठीक उसी तरह उनकी स्किन भी अलग होती है। यही कारण है कि हर महिला को अपनी स्किन के अनुसार ही उसकी केयर करनी होती है। कभी भी दो अलग-अलग तरह की स्किन का स्किन केयर रूटीन एक जैसा नहीं हो सकता है। उदाहरण के तौर पर अगर आपकी स्किन ऑयली है और आप रूखी स्किन वाली महिलाओं की...

  • बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक

    रदीय नवरात्रि का पर्व चल रहा है। नौ दिनों तक मां दुर्गा के विभिन्न स्वरुपों की तिथियों के अनुसार पूजा अर्चना की जा रही है। कलश स्थापना से प्रारंभ होने वाली नवरात्रि का समापन दशहरा या विजयादशमी को होगा। इस दिन मां दुर्गा की मूर्तियों का विसर्जन होगा। साथ ही कामना की जाएगी कि वे अगले वर्ष भी हमारे घर...

Share it