रसोई में मौजूद है ग्रहदोष से बचने के उपाय

रसोई में मौजूद है ग्रहदोष से बचने के उपाय


नई दिल्ली। भारत एक ऐसा देश है जहां मसालों की बड़ी मात्रा में खपत होती है। इन मसालों का अपना अलग स्वाद होता है। ये मसाले खाने का स्वाद दोगुना कर देते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि स्वाद बढ़ाने के साथ-साथ वास्तु के अनुसार मसाले भी काफी फायदेमंद होते हैं। इन मसालों से संबंधित कुछ उपाय करने से ग्रहों के दोषों को दूर कर भाग्य बदला जा सकता है। आइए जानते हैं इन मसालों के बारे में...

जीरा- यदि कुंडली में राहु-केतु ग्रह से परेशान हैं और परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है ऐसी स्थिति में जिन लोगों की हालत राहु-केतु की स्थिति खराब हो, उन्हें शनिवार के दिन जीरा का दान करना चाहिए। जीरा का संबंध राहु-केतु ग्रह से है।

लौंग और काली मिर्च- लौंग और काली मिर्च का संबंध शनि ग्रह से है। इनके सेवन से कुंडली में शनि ग्रह मजबूत हो सकता है। इसके लिए सरसों के तेल में लौंग या काली मिर्च डालकर शनिवार के दिन दीपक जलाएं। इससे शनि के कुप्रभावों से मुक्ति मिलेगी।

हींग- हींग का संबंध बुध और बृहस्पति से माना जाता है। ऐसी स्थिति में दिन के भोजन में हींग खाने से मन शांत रहता है। इसके साथ ही यह बुध दोष से छुटकारा पाने में मदद करता है।

सौंफ - सौंफ का संबंध शुक्र और मंगल से है। वास्तु के अनुसार सौंफ और चीनी को एक साथ खाने से कुंडली में शुक्र ग्रह मजबूत होता है।

माना जाता है कि हल्दी का संबंध बृहस्पति ग्रह से है। ऐसी स्थिति में कुंडली में बृहस्पति को मजबूत करने के लिए जेब में हल्दी की गांठ या रूमाल में चुटकी भर हल्दी रखें।


Next Story
Share it