कोरोना से हो गए ठीक लेकिन अगर हैं ये लक्षण तो बढ़ रही है एक नई मुसीबत

कोरोना से हो गए ठीक लेकिन अगर हैं ये लक्षण तो बढ़ रही है एक नई मुसीबत


नई दिल्ली। क्या आपको अचानक कम सुनाई देने लगा है? क्या आपको अपने कानों में सीटी बजने की आवाज सुनाई दे रही हैं? अगर आप हाल ही में कोरोना वायरस से ठीक हुए हैं तो आपको इसे ध्यान से पढऩा चाहिए। कोरोना वायरस से ठीक हुए कई मरीजों में बहरापन हो रहा है और कुछ लोगों में यह बीमारी लाइलाज हो गई है। यानी आप पहले की तरह अपनी आवाज नहीं सुन पाएंगे। दिल्ली के एक सरकारी अस्पताल के ईएनटी विभाग में अब तक ऐसे 15 मरीज आ चुके हैं।
एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली के डॉक्टर सौरभ नारायण पिछले साल कोरोना वायरस की चपेट में आए थे। इस वजह से उन्हें 21 दिन एक निजी अस्पताल के आईसीयू में बिताने पड़े, जिसके बाद वह ठीक हो गए। हालांकि, उसके बाद से उन्हें अब पहले जैसा नहीं सुना जा रहा है। लेकिन उन्हें यह बात इतनी देर से समझ में आई कि अब बिना हियरिंग एड के उनका इलाज नहीं हो सकता यानी वे पहले की तरह कभी ठीक से नहीं सुन पाएंगे। उन्होंने दाहिने कान में लगभग अपने सुनने की ताकत खो दी है।
आंकड़ों पर नजर डालें तो पिछले 2 महीने में राजधानी दिल्ली के अंबेडकर अस्पताल में 15 ऐसे मरीज आए हैं, जिनके कान में या तो दर्द है या उनकी सुनने की क्षमता बहुत कम हो गई है। ये सभी मरीज कोरोना वायरस बीमारी से ठीक हुए मरीज हैं। ज्यादातर मामलों में मरीज डॉक्टर के पास इतनी देर से पहुंच रहे हैं कि उनके इलाज का समय बीत चुका है।
अंबेडकर अस्पताल के ईएनटी विशेषज्ञ डॉ. पंकज कुमार ने बताया कि, अगर आपके कान में दर्द हो, कान में भारीपन महसूस हो, सीटी बजती हो या आपको लगता है कि आप कम सुन पा रहे हैं, तो 72 घंटे के भीतर डॉक्टर को दिखाएं। शुरुआत में इस श्रवण हानि को दवाओं से रोका जा सकता है। लेकिन अगर अधिक समय बीत जाता है तो रिकवरी संभव नहीं है।


Next Story
Share it