डेल्टा वेरिएंट के खिलाफ कोविशील्ड और कोवैक्सीन दोनों हैं कारगर

डेल्टा वेरिएंट के खिलाफ कोविशील्ड और कोवैक्सीन दोनों हैं कारगर

नई दिल्ली। देश में कोरोना की तीसरी लहर के शंकाओं के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने आज बताया कि डेल्टा वेरिएंट भारत समेत कितने देशों में पाया गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव लव अग्रवाल ने बताया कि डेल्टा वेरिएंट भारत सहित 80 देशों में पाया गया है। इस वेरिएंट को वैश्विक स्तर पर 'चिंता के रूप' देखा जा रहा है।

डेल्टा वेरिएंट पर कोरोना रोधी वैक्सीन कितनी कारगार है, इस सवाल पर केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि मोटे तौर पर दोनों वैक्सीन जो हम कोरोना टीकाकरण कार्यक्रम में उपयोग कर रहे हैं कोविशील्ड और कोवैक्सीन डेल्टा वेरिएंट के खिलाफ प्रभावी हैं। लेकिन वे किस हद तक और किस अनुपात में एंटीबॉडी का उत्पादन करती हैं, जिसे हम जल्द ही आपके साथ साझा करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि डेल्टा प्लस वेरिएंट 9 देशों में पाया गया है। ये देश अमेरिका, ब्रिटेन, पुर्तगाल, स्विट्जरलैंड, जापान, पोलैंड, नेपाल, चीन और रूस आदि देश हैं। भारत में डेल्टा प्लस वेरिएंट के 22 मामले पाए गए हैं। इनमें 22 में से 16 मामले रत्नागिरी और जलगांव (महाराष्ट्र) में और कुछ मामले केरल और मध्य प्रदेश में पाए गए हैं।

Next Story
Share it