Top

अगर करना है विदेश में पढ़ाई तो जान लें ये बातें

अगर करना है विदेश में पढ़ाई तो जान लें ये बातें


विदेश जाना हर किसी का सपना होता है। दुनिया का शायद ही कोई ऐसा इंसान हो जो किसी दूसरे देश की यात्रा पर न जाना चाहता हो और वहां संस्कृति को न जानना और समझना चाहता हो। ऐसे में अगर बात करें छात्रों की तो हर छात्र सात समंदर पार जाकर अपनी पढ़ाई पूरी करना अपने सपनों को एक नई उड़ान देना चाहता है। इसके लिए छात्र जी तोड़ मेहनत भी करते हैं। वो भी चाहते हैं कि दुनिया की चुनिंदा विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में प्रवेश ले वे वहां की उत्तर शिक्षा प्रणाली का हिस्सा बनें। लेेकि इसके साथ यह बात भी हर छात्र को समझ लेनी चाहिए वो जिस देश में जाकर अपनी आगे की शिक्षा ग्रहण करना चाहता है वो वहां की पूरी शिक्षा प्रणाली के विषय में जानकारी जुटाए उसके बाद ही वह इस दिशा में कोई कदम उठाए है।
भारतीय छात्र जिन देशों में जाकर शिक्षा ग्रहण कर अपने कॅरियर को और ऊंचाई तक ले जाना चाहते हैं उनमें से एक देश है न्यूजीलैंड। न्यूजीलैंड में कई प्रसिद्ध यूनिवर्सिटीज हैं, जिनकी दुनियाभर में काफी मान्यता है। अगर आप वहां पर कॉलेज में ऐडमिशन लेने के बारे में सोच रहे हैं, तो पहले वहां की शिक्षा व्यवस्था के बारे में कुछ अहम चीजें जान लें।
दअरसल न्यूजीलैंड में बैचलर या मास्टर्स डिग्री की पढ़ाई के दौरान आपको एक साल की पढ़ाई और करनी पड़ेगी। वहां की पढ़ाई का यह सिस्टम हमारे देश से अलग है। वहां प बैचलर डिग्री कोर्स तीन साल का होता है। इसके बाद ऑनर्स पाने के लिए एक साल और कोर्स की पढ़ाई होती है। हालांकि, कुछ कोर्स में बैचलर डिग्री चार साल की भी है, ऐसे में आप किस कोर्स के लिए अप्लाई कर रहे हैं, इसके अनुसार चीजों को तय करें। अगर आप बैचलर डिग्री में ऑनर्स नहीं करते हैं तो मास्टर्स डिग्री कोर्स में इसके लिए एक साल की और पढ़ाई करते हुए ऑनर्स लेना होगा। बैचलर्स की स्टडी के दौरान अगर आपने ऑनर्स का कोर्स पूरा कर लिया है तब आप मास्टर्स डिग्री एक साल में कंप्लीट कर सकते हैं।
न्यूजीलैंड में जो व्यवस्था उसके तहत बाहर से आने वाले किसी भी छात्र को किसी भी प्रकार की छूट नहीं मिलती है। यानी आप इस बात की उम्मीद न रखें कि वहां की पढ़ाई सस्ती होगी अलबत्त न्यूजीलैंड के नागरिकों के लिए वहां पर कई ऐसी व्यवस्थाएं हैं जो उनकी पढ़ाई के खर्च को कम कर देती हैं। न्यूजीलैंड में स्थानीय स्टूडेंट्स के लिए शिक्षा से जुड़ी कई सुविधाएं हैं, जो उनके लिए पढ़ाई को सस्ता बना देती हैं। हालांकि, बाहरी स्टूडेंट्स को कोई छूट नहीं दी जाती है। उन्हें हर चीज के लिए पूरी फीस का भुगतान करना होगा।
न्यूजीलैंड में डिग्री कोर्स करने के लिए कम से कम 6 महीने पहले तैयारी करें। यहां पर ज्यादातर इनटेक प्रोसेस जनवरी और जुलाई के महीने में होता है। ऐडमिशन की तैयारी के दौरान भाषा, ऐप्टिट्यूड टेस्ट आदि पहले ही क्लियर कर लें। इसके बाद फॉर्म को भरने व उसमें लगने वाले दस्तावेजों को अच्छे से तैयार कर लें, ताकि ऐन वक्त पर कोई दिक्कत न आए। कुछ यूनिवर्सिटीज सितंबर, अक्टूबर में भी ऐडमिशन देती हैं। वहीं वोकेशनल कोर्स के लिए कुछ कॉलेज मार्च, अप्रैल, मई या जुलाई में ऐडमिशन ओपन करते हैं। ऐसे में आप जहां भी प्रवेश लेना चाहते हों वहां की पूरी जानकारी जुटा ले नहीं तो आपको ऐन वक्त में किसी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।


Next Story
Share it