Top

यूपी बोर्ड के विद्यार्थियों की इंतजार की घडिय़ां खत्म

यूपी बोर्ड के विद्यार्थियों की इंतजार की घडिय़ां खत्म


लखनऊ। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (यूपीएमएसपी) 15 जुलाई तक कक्षा 10वीं और 12वीं का परिणाम घोषित कर सकता है। हालांकि बोर्ड ने अभी आधिकारिक तारीख घोषित नहीं की है, लेकिन रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि रिजल्ट लगभग तैयार है और पांच दिन के भीतर घोषित कर दिया जाएगा । इसके जारी होने के बाद यह बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट upmsp.edu.in पर उपलब्ध होगा।
इस साल अधिकांश बोर्डों की तरह यूपीएमएसपी भी विशेष मापदंड के आधार पर रिजल्ट घोषित करेगा। परीक्षाएं न कराने के कारण इस साल कोई मेरिट लिस्ट जारी नहीं की जाएगी, इसलिए किसी भी कक्षा के लिए टॉपर्स की घोषणा नहीं की जाएगी। गौर करने लायक बात यह है कि अगले हफ्ते यूपी बोर्ड में 56 लाख छात्रों का रिजल्ट आने वाला है। यूपी बोर्ड परीक्षा के लिए कुल 56,04,628 छात्रों ने पंजीकरण कराया है जिसमें 29.4 लाख कक्षा 10 के छात्र और 26.10 लाख कक्षा 12 के छात्र शामिल हैं।
परीक्षा पास करने के लिए छात्रों को कम से 35 प्रतिशत अंक पाने की जरूरत है, जबकि महाराष्ट्र, तेलंगाना सहित कुछ बोर्डों ने किसी भी छात्र को फेल न करके और न्यूनतम अंक पाने में फेल होने वाले छात्रों को ग्रेस मार्क्स देकर इस साल पास करने का फैसला किया है । निर्णय लिया है। हालांकि यूपी बोर्ड ने अभी तक ऐसी कोई घोषणा नहीं की है।
बोर्ड के अनुसार कक्षा 12 के छात्रों को उनकी कक्षा 10 और कक्षा नौ के प्रदर्शन के आधार पर अंक दिए जाएंगे। कुल अंकों में से 50 प्रतिशत वेटेज कक्षा 10 बोर्ड परीक्षा में दिया जाएगा, कक्षा 12 प्री-बोर्ड को 10 प्रतिशत वेटेज दिया जाएगा और कक्षा 11 की परीक्षा में 40 प्रतिशत वेटेज दिया जाएगा। जबकि कक्षा 10 के अंकों की गणना के लिए कक्षा 9 को 50 प्रतिशत वेटेज दिया जाएगा, शेष 50 प्रतिशत कक्षा 10 प्री-बोर्ड को दिया जाएगा।
पिछले साल की बात करें तो यूपी बोर्ड की कक्षा 12 की परीक्षा में 74.64 प्रतिशत छात्र पास हुए थे। जबकि 2019 में पास प्रतिशत 79.2 प्रतिशत था। 2020 में कक्षा 10 का पास प्रतिशत 83.31 प्रतिशत था जबकि 2019 में यह 80.07 प्रतिशत था।


Next Story
Share it