Top

जाने यलो फंगस के बारे में सबकुछ

जाने यलो फंगस के बारे में सबकुछ

नई दिल्ली। कोरोना वायरस का प्रकोप अब धीरे-धीरे कम हो रहा है, संक्रमण दर भी कम होने लगी है। लेकिन पोस्ट कोविड के बाद अन्य गंभीर बीमारियां लोगों की जान ले रही हैं। जी हां, ब्लैक फंगस रोग सबसे पहले कोविड के बाद सामने आया। इसके बाद सफेद कवक रोग और अब पीला कवक यानी यलो फंगस रोग सामने आया है। जानकारी के मुताबिक यह बीमारी सफेद और काले फंगस से भी ज्यादा घातक बताई जा रही है। आइए जानते हैं इस बीमारी की पहचान कैसे करें, क्या हैं इसके लक्षण, क्या इसका इलाज संभव है?

यलो फंगस के लक्षण क्या हैं?
- भूख न लगना या भूख न लगना
- सुस्ती
- वजन घटना
- अंतर्वर्धित आंखें
- घाव का धीरे-धीरे ठीक होना
- अंगों का काम करना बंद कर देना
क्या घातक है ये
यह रोग शरीर के अंदर हो रहा है। इसके लक्षण भी सामान्य दिखने वाले हैं। लक्षण की पहचान में देरी खतरनाक साबित हो रही है। लक्षण नजर आते ही इलाज शुरू करना बेहद जरूरी है। यह धीरे-धीरे आपके शरीर के सारे आर्गन को नुकसान पहुंचा सकता है।
इस फंगस का कारण गंदगी और नमी है। अपने घर के आसपास साफ-सफाई रखें। फंगस से बचाव के लिए आसपास नमी बिल्कुल न रखें। पुरानी चीजों को फ्रिज से बाहर निकालें। साफ-सफाई का ध्यान रखें।

रोकथाम के उपाय
बहुत सारा पानी पियें
इम्युनिटी मजबूत रखें
घर में नमी नहीं होने दें
ताजा खाना खाएं, बासी खाना न खाएं


Next Story
Share it