फिर हुई देश को दहलाने की साजिश नाकाम, हथियारों का जाखीरा बरामद

फिर हुई देश को दहलाने की साजिश नाकाम, हथियारों का जाखीरा बरामद


नई दिल्ली। अमृतसर के ग्रामीण इलाके से हैंड ग्रेनेड, कारतूस और टिफिन बॉक्स आईईडी बरामद किया गया है। मिली जानकारी के अनुसार बच्चों के टिफिन बॉक्स में एक आईईडी बम लगाया गया था। इस ऑपरेशन के दौरान पाकिस्तान सीमा से सटे दलिके गांव से आईईडी बम और हथगोले भी बरामद किए गए हैं। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार तो हथियारों का यह जखीरा पाकिस्तान से ड्रोन के जरिए भारत भेजा गया था। इस हथियार को ड्रोन के जरिए बैग के अंदर रखकर यहां भेजा गया था। इस बैग में 5 हैंड ग्रेनेड, 100 9 एमएम के कारतूस और टिफिन बम रखे हुए थे, जिन्हें अमृतसर भेजा गया।
जब्त किए गए आईईडी बम में 2 किलो आरडीएक्स लगाया गया था और इसे एक स्विच के जरिए टाइम बम में बदल दिया गया था। इस पूरे सेट-अप में मैग्नेट लगाकर बम को इस तरह बनाया गया कि बम को गलत तरीके से हैंडल करने से विस्फोट हो सकता है। फोन के जरिए बम को ऑपरेट करने की सुविधा भी इसमें उपलब्ध थी। यहां से बम के अलावा 3 डेटोनेटर भी बरामद किए गए। इस बम का इस्तेमाल उच्च मूल्य के लक्ष्यों के लिए किया जाना था।
मीडिया में आ रही रिपोर्टों के मुताबिक पंजाब के डीजीपी दिनकर गुप्ता के मुताबिक टिफिन बॉक्स बम के जरिए भीड़-भाड़ वाली जगह को निशाना बनाने की तैयारी थी। यह टिफिन बम 2-3 किलो आरडीएक्स से लैस था और इससे भारी नुकसान हो सकता था। डीजीपी दिनकर गुप्ता ने बताया कि इस बम का इस्तेमाल हाई वैल्यू टारगेट के लिए किया जाना था। अगर इस बम का इस्तेमाल किया गया होता, तो यह एक बड़ा विस्फोट और जान-माल की भारी क्षति का कारण बन सकता था।
इस मामले में खालिस्तानी संगठन सिख फॉर जस्टिस और अन्य खालिस्तानी संगठनों के शामिल होने के कयास लगाए जा रहे हैं। इसको लेकर यह भी कयास लगाए जा रहे हैं कि इस मामले में पंजाब के सीएम भी निशाने पर हो सकते हैं। डीजीपी दिनकर गुप्ता ने कहा कि दिल्ली या कश्मीर को हिलाने की साजिश के इस एंगल पर अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी। हालांकि शनिवार शाम को इस ड्रोन की हरकत देखने को मिली और रविवार शाम को तलाशी अभियान के दौरान पंजाब पुलिस को हथियारों से भरा बैग बरामद हुआ. मामले में जांच अभी जारी है।


Next Story
Share it