आखिर तेजप्रताप का छलका दर्द, कहा हीरो नहीं बनने देते

आखिर तेजप्रताप का छलका दर्द, कहा हीरो नहीं बनने देते


नई दिल्ली। बिहार के मुख्य विपक्षी दल राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेज प्रताप यादव ने एक बार फिर अपनी ही पार्टी के विरोधियों पर हमला बोला है। पटना में आयोजित पार्टी के 25वें स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए तेज प्रताप यादव ने खुद को कृष्ण बताया जबकि तेजस्वी यादव को अर्जुन कहा इसके साथ ही यह भी कहा कि जब भी तेजस्वीगबेमत पर हमला होगा, तेज प्रताप हमेशा आगे रहेंगे। लालू के बड़े बेटे ने कहा कि जब पटना में लाठीचार्ज हो रहा था, मैं आगे खड़ा था। मैं आगे जाना चाहता था लेकिन कुछ लोगों ने मुझे वापस खींच लिया । लोग पीछे खींच लेते हैं ताकि हम असली हीरो न बन जाएं।
पिता लालू का जिक्र करते हुए तेज प्रताप यादव ने कहा कि लालू जी ने छात्र जीवन से राजनीति की शुरुआत की थी। मैंने बीएन कॉलेज में एडमिशन भी लिया था, मैं उसी बेंच पर बैठता था, जिस पर लालू जी बैठते थे। तेज प्रताप ने पार्टी को निर्देश देते हुए कहा कि पार्टी में अभी भी कई ऐसे लोग हैं जो पार्टी को कमजोर करने की कोशिश कर रहे हैं। सत्य कड़वा है, इसे सुनना हर किसी के लिए आसान नहीं है।
तेज प्रताप ने कहा कि आज मुझे आने में कुछ समय लगा, इसलिए तेजस्वी ने पहले जीत हासिल की। अगर तेजस्वी दिल्ली और बाहर में हैं तो मैं पार्टी कार्यालय को संभालता हूं। तेज प्रताप ने प्रदेश अध्यक्ष पर निशाना साधते कहा कि जगदा बाबू नाराज लगते हैं। महिलाएं आज पार्टी में नीचे बैठी हैं, जबकि महिलाओं को पार्टी में मंच पर बैठना चाहिए। पार्टी कार्यकर्ता पार्टी की रीढ़ हैं। पार्टी को मिलकर आगे बढऩा है।
तेज प्रताप यादव ने हाल ही में रिलीज हुई महारानी वेब सीरीज पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि यह सब भगवा रंग की साजिश है। तथ्यों के बिना कुछ भी एक कहानी के रूप में दिखाया जा रहा है ।


Next Story
Share it