जानिए कौन है वो शख्स जिसके चलते आमने-सामने हैं लालू के लल्ला

जानिए कौन है वो शख्स जिसके चलते आमने-सामने हैं लालू के लल्ला


नई दिल्ली। कल तक छात्र राजद के प्रदेश अध्यक्ष रहे आकाश यादव को राजद नेता तेज प्रताप यादव का दाहिना हाथ माना जाता है। तेज प्रताप ने उन्हें पिछले साल 19 मई को उन्हें छात्र राजद का प्रदेश अध्यक्ष घोषित किया था।
आकाश यादव को छात्र राजद के प्रदेश अध्यक्ष बनाते हुए तेज प्रताप ने इसी दिन छात्र राजद का पुनर्गठन भी किया था। हालांकि पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने कभी भी छात्र राजद के प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए कोई नियुक्ति नहीं की।
इसलिए जब जगदानंद सिंह ने कल गगन कुमार को छात्र राजद का नया प्रदेश अध्यक्ष घोषित किया तो उन्होंने कहा कि छात्र राजद अध्यक्ष का पद पहले से ही खाली था जिसे वह नहीं भर सकते थे और अब उन्होंने ऐसा किया है।
जानकारी के मुताबिक तेज प्रताप लंबे समय से आकाश यादव को छात्र राजद का प्रदेश अध्यक्ष बनाना चाह रहे थे, लेकिन जगदानंद सिंह लगातार इसका विरोध कर रहे थे।
सूत्रों के मुताबिक उस दौरान लालू प्रसाद की मध्यस्थता के बाद जगदानंद सिंह ने सहमति जताई थी और तेज प्रताप ने आकाश यादव को छात्र राजद का प्रदेश अध्यक्ष घोषित किया था।
बता दें कि आकाश यादव ने तेजस्वी यादव से नाराजगी तब मोल ले ली थी जब 8अगस्त को पार्टी कार्यालय में छात्र राजद की एक अहम बैठक हुई थी और इस प्रोग्राम से जुड़े बड़े-बड़े बैनर और होर्डिंग लगाए गए थे, जिसमें तेज प्रताप को प्रमुखता से रखा गया था। लेकिन तेजस्वी यादव बैनर-होर्डिंग से गायब थे।
आकाश यादव ने इस गलती के कारण तेजस्वी यादव की आखों की किरकिरी बन गएलेकिन वह तेज प्रताप के फेवरेट बन गए। इस कार्यक्रम की समाप्ति के अगले ही दिन राजद कार्यालय में तेज प्रताप का पोस्टर नीचे उतार लिया गया और तेजस्वी का एक नया पोस्टर फिर से पार्टी कार्यालय में लगा दिया गया।
आकाश यादव को अपनी गलती का खामियाजा बुधवार, 18 अगस्त को भुगतना पड़ा जब जगदानंद सिंह ने छात्र राजद के नए प्रदेश अध्यक्ष गगन कुमार को पटना विश्वविद्यालय का लॉ स्टूडेंट घोषित कर दिया।


Next Story
Share it