उजरियांव में भी महिलाओं के संघर्ष का एक महीना हुआ पूरा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी लखनऊ के गोमतीनगर थाना क्षेत्र स्थित उजरियांव में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ शुरू हुए विरोध प्रदर्शन को एक महीना पूरा हो चुका है। इस प्रदर्शन की शुरुआत 19 जनवरी को 40- 50 की संख्या में जुटीं महिलाओं ने की थी। जो शाहीन बाग व घंटाघर में सीएए के विरोध में शुरू हुए धरने को समर्थन दे रही हैं। तब शायद ही किसी को इस बात का अंदाजा रहा होगा कि यह आंदोलन इतना बड़ा आकार ले लेगा। उजरियांव में महिलाओं के प्रदर्शन का एक महीना पूरा होने पर विशेष कार्यक्रमों का भी आयोजन किया गया है।
बता दें कि उजरियांव का धरना 19 जनवरी शाम 6 बजे करीब 50 महिलाओं से शुरू ही हुआ था। इसकी सूचना मिलते ही पुलिस धरना स्थल पहुंच गई थी। पुलिस ने धरने पर बैठी हुई महिलाओं को धमकाते हुए कहा कि आप लोग यहां धरना नहीं दे सकती हैं। यह कहते हुए धरने स्थल पर लगे टेंट, कम्बल,दरी, चेयर, पोस्टर को पुलिस थाने उठा ले गई। लेकिन महिलाओं ने हार नहीं मानी, वे ठिठुरती सर्द रात में भी धरने पर बैठी रही है। इस धरना प्रदर्शन को लगातार महिलाओं का समर्थन मिल रहा है। प्रदर्शनकारी महिलाओं की संख्या बढऩे लगी और अब महिला संघर्ष के एक माह भी पूरा हो गया।

होली के मद्देनजर बढ़ी यात्रियों की मुसीबत

  • जनता समेत कई ट्रेनें 31 मार्च तक निरस्त

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। रेलवे ने पहले से निरस्त चल रहीं ट्रेनों का निरस्तीकरण 31 मार्च तक बढ़ा दिया है। ट्रेनों के निरस्त होने से होली पर घर जाने वालों को मुसीबत का सामना करना पड़ेगा। निरस्त ट्रेनों में जनता, शहीद, फरक्का एक्सप्रेस, लखनऊ जंक्शन मऊ, आगरा इंटरसिटी, सियालदह, कुंभ एक्सप्रेस, डबल डेकर समेत कई प्रमुख ट्रेनें शामिल हैं।
रेलवे ने 16 दिसम्बर से 15 जनवरी 2020 तक जनता, शहीद समेत 32 ट्रेनों को निरस्त किया था। इसके बाद ट्रेनों का निरस्तीकरण बढ़ाकर 29 फरवरी कर दिया गया, जिसे अब बढ़ाकर 31 मार्च कर दिया है। इससे होली पर विभिन्न शहरों से घर आने वालों लोगों को परेशानी होगी। कई यात्रियों ने ट्रेनों में आरक्षित सीटें भी बुक करा ली थीं। मगर, रेलवे ने ट्रेनों को निरस्त करने की तिथि बढ़ाकर यात्रियों की मुसीबत बढ़ा दी। ट्रेनों के निरस्तीकरण के अलावा कुछ ट्रेनों के फेर भी घटाए गए हैं। कैफियत, पंजाब मेल, लखनऊ जंक्शन-बरौनी एक्सप्रेस समेत करीब 28 ट्रेनें फेरे घटाकर चलेंगी। वहीं, कोटा-पटना एक्सप्रेस 31 मार्च तक बदले हुए रूट से गुजरेगी।

https://www.youtube.com/watch?v=hxE5mCHGRqo

Loading...
Pin It