भारत को विश्वगुरू बनाने के लिए हर व्यक्ति का शिक्षित और संस्कारी होना जरूरी: राजनाथ सिंह

  • कहा, प्रलोभन देकर लोगों का धर्म बदलवाना महापाप

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। एकल अभियान के तीन दिवसीय परिवर्तन कुंभ के समापन समारोह में मंगलवार को रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत को विश्वगुरु बनाना है तो हर व्यक्ति को शिक्षित और संस्कारी होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि यही कार्य एकल अभियान कर रहा है जो जिस धर्म का पालन कर रहा है उसे उसका पालन करने की पूर्ण आजादी है लेकिन प्रलोभन देकर धर्मान्तरण कराना महापाप है। कानून बनाकर, भय पैदा करके जो कामयाबी हासिल नहीं की जा सकती वह काम जनसहयोग से पूरा किया जा सकता है। इस संकट से भी एकल अभियान निजात दिला सकते हैं।
राम मनोहर लोहिया विधि विश्वविद्यालय के अंबेडकर सभागार में आयोजित समापन समारोह में रक्षा मंत्री ने कहा कि नक्सल, उग्रवाद, आदिवासी वनवासी जैसे इलाके जहां जाने में बड़े-बड़े हिम्मती नहीं जा पाते, वहां एकल अभियान विद्यालय चला रहा है। उन्हें शिक्षा के साथ संस्कार दे रहा है। नए भारत के निर्माण में भी एकल अभियान कार्यकर्ता अहम भूमिका निभा रहे हैं। विदेशी ताकतें तोडऩे की कोशिश कर रही हैं लेकिन भारत विश्वगुरु बनने की ओर बढ़ रहा है। कार्यक्रम में लखनऊ चैप्टर के महासचिव भूपेन्द्र अग्रवाल भीम मौजूद रहे। एकल अभियान ट्रस्ट के चेयरमैन लक्ष्मी नारायण गोयल, संस्थापक सदस्य श्याम जी,माघवेन्द्र सिंह, प्रशांत भाटिया, डॉ. आर वी सिंह, भारतीय लोक शिक्षा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष नंदकिशोर अग्रवाल, अमेरिका एकल फाउंडेशन के चेयरमैन अरुण गुप्ता समेत कई अन्य लोग मौजूद रहे।

छात्रों को किया सम्मानित

एकल विद्यालय के छात्र जो देश सेवा में सेना, अर्धसैनिक बल और पुलिस सेवा में कार्यरत हैं वे भी कार्यक्रम के दौरान मंच पर पहुंचे। इन लोगों के पहुंचते ही पूरा प्रेक्षागृह वंदे मातरम और भारत माता के जयकारों से गूंज उठा। रक्षा मंत्री व अन्य अतिथियों ने इनके साथ फोटो खिंचवाकर सम्मान दिया। वहीं राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह कृष्ण गोपाल और राष्ट्रीय संत रमेश भाई ओझा ने प्रोफेसर एकल संस्थान की राष्ट्रीय अध्यक्ष मंजूश्री द्वारा कृत परिवर्तन कुंभ स्मारिका का विमोचन किया। स्मारिका को कार्यक्रम के अंत में प्रेक्षागृह में वितरित किया गया।

https://www.youtube.com/watch?v=jU0TsiiKmCM

Loading...
Pin It