हनी ट्रैप, जासूसी और सुरक्षा का सवाल

सवाल यह है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसियों की पैठ भारतीय सेना में कैसे हो गई है? क्या सिर्फ हनी टै्रप के कारण नौ सेना के कर्मियों ने गोपनीय सूचनाएं साझा कीं या इसके एवज में मोटा पैसा भी लिया गया? क्या यह सब लंबे समय से चल रहा है? क्या गोपनीय सूचनाओं से नौ सेना के सुरक्षा चक्र पर नकारात्मक असर पड़ेगा?

Sanjay sharma
नौसेना में जासूसी मामले में एक बड़े रैकेट का खुलासा हुआ है। पाकिस्तान को भारतीय नौसेना की संवेदनशील सूचनाएं पहुंचाने के आरोप में 11 नौसेना के कर्मियों और दो अन्य को गिरफ्तार किया गया है। इन कर्मियों को पाकिस्तानी खुफिया एजेंटों ने सोशल मीडिया के जरिए हनी टै्रप में फंसाया था और नौसेना की गोपनीय जानकारियां ले रहे थे। सवाल यह है कि पाकिस्तानी खुफिया एजेंसियों की पैठ भारतीय सेना में कैसे हो गई है? क्या सिर्फ हनी टै्रप के कारण नौ सेना के कर्मियों ने गोपनीय सूचनाएं साझा कीं या इसके एवज में मोटा पैसा भी लिया गया? क्या यह सब लंबे समय से चल रहा है? क्या गोपनीय सूचनाओं से नौ सेना के सुरक्षा चक्र पर नकारात्मक असर पड़ेगा? क्या ये सूचनाएं भारतीय नौ सैनिक अड्डों के लिए खतरनाक नहीं साबित होंगी? आखिर नौसेना का खुफिया तंत्र क्या कर रहा है? इतना बड़ा नेटवर्क बनाने में पाकिस्तानी एजेंसियां सफल कैसे हो गईं?
भारत के सैन्य तैयारियों पर पड़ोसी पाकिस्तान की नजर हमेशा लगी रहती है। पाकिस्तान की खुफियां एजेंसियां भारतीय सेना की तैयारियों व गोपनीय सूचनाएं पाने की लगातार कोशिश करती रहती हैं। इसके लिए वे न केवल स्थानीय लोगों की मदद लेती हैं बल्कि अब वे सेना में भी सेंध लगा रही हैं। पाकिस्तान को सेना की संवेदनशील जानकारी मुहैया कराने के मामले में देश के कई हिस्सों से स्थानीय लोग पकड़े जा चुके हैं। पाकिस्तानी एजेंट भी पकड़े गए हैं। पाकिस्तान ने भारतीय सेना की जासूसी के लिए एक नया तरीका ईजाद किया है। वह सोशल मीडिया के माध्यम से सुंदर महिलाओं के जरिए सेना के कर्मियों तक पहुंच रही है। ये महिलाएं पहले इनको अपने रूप-जाल में फंसाती हैं और फिर उनको ब्लैकमेल कर सूचनाएं प्राप्त कर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसियों तक पहुंचाती हैं। ताजा मामला भी हनी टै्रप का बताया जा रहा है। बावजूद इसके इस बात की भी जांच किए जाने की जरूरत है कि गोपनीय सूचना के एवज में इन लोगों ने मोटा पैसा तो नहीं लिया। सच यह है कि पाकिस्तान की नौसेना भारत के सामने कहीं नहीं टिकती है। चीन भी हिंद महासागर में अपना प्रभाव बढ़ाना चाहता है। दूसरी ओर भारतीय नौ सेना लगातार अपनी ताकत बढ़ाती जा रही है। वह कुछ घंटों में पाकिस्तान पर समुद्र के रास्ते जबर्दस्त हमला करने में सक्षम है बल्कि उसे धूल भी चटा सकती है। ऐसी स्थिति में नौसेना की तैयारियों के लिए पाकिस्तानी खुफिया तंत्र सक्रिय हो गया है। सेना में लगने वाली यह सेंध बेहद गंभीर है और सरकार व सेना को चाहिए कि वह ऐसी रणनीति बनाए जिससे कोई भी सूचना दुश्मन देशों तक नहीं पहुंच सके।

https://www.youtube.com/watch?v=J3faCTl4Sqg

Loading...
Pin It