आगरा में डबल मर्डर से सनसनी

  • सर्राफ और पत्नी की करंट लगाकर निर्मम हत्या
  • लूट-पाट के बाद हत्या की आशंका, जांच में जुटी पुलिस

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
आगरा। यूपी के आगरा में आज सुबह उस समय सनसनी फैल गई, जब शमसाबाद में डबल मर्डर का मामला सामने आया। सर्राफ एवं उनकी पत्नी की करंट लगाकर निर्मम हत्या कर दी गई। पति-पत्नी के अलावा घर पर कोई नहीं था। शायद हत्या सोमवार को देर रात हुई है। लेकिन घटना की जानकारी आज सुबह घर पर नौकरानी के पहुंचने पर हुई। परिजन किसी से रंजिश होने से इनकार कर रहे हैं। घर से कुछ सामान भी गायब हुआ है। इसलिए माना जा रहा है कि लूटपाट के इरादे से हत्या की गई हो। वहीं पुलिस मामले की जांच पड़ताल में जुटी है। शमसाबाद कस्बे में आज सुबह डबल मर्डर ही घटना सामने आई है। सर्राफा कमेटी के अध्यक्ष मुकेश कुमार गुप्ता (62 वर्ष) और उनकी पत्नी लता गुप्ता (60) की हत्या हुई है। ये दोनों घर पर अकेले ही थे। नौकरानी सोमवती (75 वर्ष) सुबह घर पर काम करने पहुंची तो उसने पहले आवाज लगाई लेकिन अंदर से कोई जवाब नहीं आया। एक कमरे से चाबी लेकर वह दूसरे कमरे में काम करने पहुंचींं तो वहां दंपति मरे पड़े थे। यह देखकर सोमवती शोर मचाने लगी, जिसे सुनकर पड़ोसी इकट्ठा हो गये। मृतक दंपति के परिजनों को सूचित किया गया। मुकेश के तीन पुत्रियां हैं और तीनों का विवाह हो चुका है। वहीं डबल मर्डर की सूचना मिलते ही सीओ फतेहाबाद प्रभात कुमार और एसपी प्रमोद कुमार भी मौके पर पहुंच गये। घटनास्थल पर मुकेश कुमार के पैरों में फ्रिज के तार को बांधकर करंट लगाया गया है। वहीं शरीर से खून निकलने के भी निशान हैं, यानि पहले मारपीट की गई है। मृतका लता गुप्ता हाथों में सोने की अंगूठियां पहने हैं। माना जा रहा है कि हत्यारे घर से अन्य सोने चांदी के आभूषण और नकदी ले गए हैं।
घटनास्थल पर एसएसपी बबलू कुमार और फोरेंसिक एक्सपर्ट भी पहुंच गए हैं। पुलिस की टीम सबूत जुटाने और जांच करने में जुटी है। समाचार लिखे जाने तक एडीजी अजय आनंद, फतेहपुर सीकरी के सांसद राजकुमार चाहर, विधायक फतेहाबाद जितेंद्र वर्मा, पूर्व विधायक डा. राजेंद्र सिंह के अलावा हजारों लोग पहुंच चुके थे। हत्याओं के विरोध में शमसाबाद का बाजार बंद रखा गया है। स्थानीय लोग घटना के खुलासे की मांग कर रहे हैं।

पड़ोसी ने साथ चलने से इनकार करने पर महिला को जिंदा जलाया

  • पुलिस मामले की छानबीन में जुटी, आरोपित फरार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
बरेली। यूपी में बरेली के सुभाषनगर में रहने वाले एक युवक ने अपने ही मोहल्ले की महिला को जिंदा जलाकर मारने की कोशिश की है। महिला को गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां वह अपनी आखिरी सांसे गिन रही है। जबकि आरोपित फरार है, उसके खिलाफ जानलेवा हमला किए जाने का मुकदमा दर्ज कराया गया है।
जानकारी के मुताबिक सुभाषनगर के वंशीनगला में रहकर हलवाई का काम करने वाले युवक के परिवार में पत्नी व दो बच्चे हैं। पति व बच्चे सहालग में गए थे। उसी दौरान पड़ोस में रहने वाला विनोद उनके घर पहुंच गया। उसने महिला पर अपने पति को छोडऩे और साथ चलने का दबाव बनाना शुरू कर दिया लेकिन महिला ने उसकी बात मानने से इनकार कर दिया। इसके बाद आरोपित महिला के घर के बाहर टहलने लगा। पुलिस के मुताबिक रात में करीब साढ़े नौ बजे महिला किसी काम से घर के बाहर निकली तो विनोद ने घेर लिया और वारदात को अंजाम दिया। महिला के पति ने विनोद के खिलाफ पत्नी को जलाकर मारने का प्रयास करने की तहरीर दी है।

यूपी में पीएफआई के सक्रिय सदस्यों की छानबीन तेज

  • सीएए के विरोध में हिंसा के पीछे गहरे षड्यंत्र की आशंका

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में हुई हिंसा के दौरान पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) व उनके सहयोगी संगठनों के बैंक खातों में हुए लेनदेन को लेकर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की रिपोर्ट आने के बाद यूपी पुलिस की जांच एजेंसियां व खुफिया तंत्र सक्रिय हो गया है। प्रदेश में पीएफआई के सक्रिय सदस्यों और उनसे जुड़े लोगों के बारे में गहनता से छानबीन शुरू कर दी गई है। पीएफआई के सदस्यों से जुड़े उनके करीबियों की आय के बारे में भी जानकारियां जुटाई जा रही हैं।
लखनऊ में पीएफआई के प्रदेश अध्यक्ष वसीम अहमद समेत तीन सक्रिय सदस्यों की गिरफ्तारी के बाद साफ हो गया कि सीएए के विरोध में हिंसा के पीछे गहरा षड्यंत्र है। हिंसक प्रदर्शनों के मामले में पुलिस ने प्रदेश में पीएफआई के 25 सक्रिय सदस्यों की गिरफ्तारी की थी। डीजीपी ने पीएफआई के सहयोगी संगठनों की छानबीन के भी निर्देश दिए थे। पुलिस का मानना है कि पीएफआई कुछ अन्य संगठनों की मदद से करीब एक साल से प्रदेश में हिंसा भडक़ाने की फिराक में था। पीएफआई ने महिला व स्टूडेंट फ्रंट भी बनाए हैं। खुफिया रिपोर्ट में सिमी के कई सक्रिय पदाधिकारियों व सदस्यों के पीएफआई से जुड़े होने के तथ्य भी सामने आ चुके हैं। पश्चिमी यूपी में पीएफआई काफी सक्रिय है।

इलेक्शन कमीशन ने अनुराग ठाकुर से मांगा जवाब

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 के लिए चुनाव प्रचार जोरों पर है। इस बीच विवादित बयानों का सिलसिला भी तेज हो गया है। मॉडल टाउन विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी प्रत्याशी कपिल मिश्रा के बाद अब अब केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर पर रिठाला विधानसभा क्षेत्र में विवादित बयान देने का आरोप लगा है। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद दिल्ली के रिटर्निंग ऑफिसर ने केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर से इस पर जवाब मांगा है।
सांसद अनुराग ठाकुर पर आरोप है कि उन्होंने भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में प्रचार के दौरान आपत्तिजनक नारे लगवाए। यह नारा रिठाला में आयोजित जनसभा में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के पहुंचने के पहले लगवाया गया। दरअसल, अनुराग ठाकुर ने अपने संबोधन के दौरान इशारों-इशारों में टुकड़े-टुकड़े गैंग, सीएए और एनआरसी का विरोध कर रहे लोगों पर तंज कसा था।

केंद्र सरकार सीएए पर करे पुनर्विचार: माया

  • अदनान सामी को पद्मश्री दिए जाने को बनाया आधार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार जब पाकिस्तानी मूल के गायक अदनान सामी को नागरिकता व पद्मश्री से सम्मानित कर सकती है तो फिर जुल्म-ज्यादती के शिकार पाकिस्तानी मुसलमानों को वहां के हिन्दू, सिख, ईसाई आदि की तरह यहां सीएए के तहत पनाह क्यों नहीं दे सकती है। इसलिए केंद्र सरकार सीएए पर पुनर्विचार करे तो काफी बेहतर होगा।
बसपा नेता सतीश चंद्र मिश्रा ने भी सीएए को लेकर केंद्र सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि जब सीएए में सब कुछ ठीक है तो सरकार को इतनी रैलियां क्यों करनी पड़ रही हैं? सरकार के विरोध में लोग सडक़ों पर उतरकर नारेबाजी और विरोध-प्रदर्शन क्यों कर रहे हैं? सरकार को सीएए के मुद्दे पर एक बार ‘री कॉल’ करना चाहिए। यह भी कहा कि सरकार सीएए को लेकर विश्वास नहीं जुटा पा रही है। इसलिए बसपा सीएए का विरोध करती रही है, आगे भी करती रहेगी। यह विरोध तब तक जारी रहेगा, जब तक सरकार सीएए को वापस नहीं लेगी।

यूपी को मिला पुरस्कार

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
गणतंत्र दिवस के अवसर पर निकाली गई झांकी में उत्तर प्रदेश ने बहुत ही बेहतरीन प्रदर्शन किया है। सर्वोत्कृष्ट झांकी में यूपी को दूसरा स्थान मिला है। इसलिए रक्षा मंत्री व लखनऊ के सांसद राजनाथ सिंह ने यूपी के सूचना निदेशक शिशिर को अपने हाथों से पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया।

सपा नेत्री पूजा शुक्ला रिहा

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
सीएए व एनआरसी के खिलाफ घंटा घर पर होने वाले धरना प्रदर्शन में शामिल पूजा शुक्ला को कोर्ट से जमानत मिल गई है। यूपी पुलिस ने पूजा के खिलाफ कई गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था लेकिन कोर्ट के समक्ष पुलिस एक भी पुख्ता सबूत पेश नहीं कर सकी। इसलिए पूजा को कोर्ट से जमानत मिल गई। आज जेल से छूटने पर पूजा का जोरदार स्वागत किया गया।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.