भाजपा सरकार में जनता कर रही त्राहि-त्राहि: अखिलेश यादव

  • बेरोजगारी के कारण नौजवानों का भविष्य अंधकारमय
  • हकीकत में नहीं बदला किसानों की आय दोगुनी करने का वादा 

 

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। सपा प्रमुख अखिलेश यादव कहा कि भाजपा सरकार में जनता संकटों में घिरती जा रही हैं। देश में आर्थिक संकट गहराता जा रहा है। बेरोजगारी से नौजवानों का भविष्य समाप्तप्राय है। किसान की बदहाली में ही गुजर-बसर हो रही है। प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति सुधरने का नाम नहीं ले रही है। अपराधी निरंकुश हो गए हैं। अपहरण-बलात्कार की घटनाएं रूकने का नाम नहीं ले रही हैं। जनता त्राहि-त्राहि कर रही है। मुख्यमंत्री फर्जी आंकड़े गढक़र उपलब्धियों की थोथी वाहवाही बटोर रहे हैं।
उन्होंने कहा कि सत्ता में बैठे अधिपतियों को हर तरफ हरा-हरा ही दिख रहा है। किसान को फसल का लागत मूल्य भी नहीं मिल रहा है। आय दुगनी करने का दावा कहीं से भी सार्थक होता नहीं दिख रहा है। प्रदेश के सम्भल, मुरादाबाद सहित पूरे पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भारी ओलावृष्टि हुई है जो किसानों के लिए बहुत घातक सिद्ध होगा। किसान के इस दर्द को समझने की फुर्सत और चिंता इस भाजपा सरकार को नहीं है क्योंकि उसकी तो कारपोरेट घराने के मुनाफे पर ही दृष्टि रहती है।

लोहिया रेफरल सेंटर में अब 24 घंटे खून की जांच

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। लोहिया संस्थान के मातृ-शिशु रेफरल अस्पताल में अब 24 घंटे खून की जांच होगी। इसके लिए इमरजेंसी लैब बनाई गई है और मशीन का ट्रायल चल रहा है। दो दिन ट्रायल के बाद सोमवार से लैब शुरू हो जाएगी।
रेफरल सेंटर में ओपीडी और प्रसूताओं व बच्चों को एडमिट किया जाता है। वहीं, पीडियाट्रिक क्रिटिकल केयर यूनिट भी यहां चल रही है। अभी तक दोपहर दो बजे तक ही जांच की सुविधा है। दरअसल, यहां के कलेक्शन सेंटर से सैंपल जांच के लिए 10 किमी दूर संस्थान के मुख्य परिसर में भेजे जाते हैं। इससे रिपोर्ट में देर होती है। इसी को ध्यान में रखते इमरजेंसी लैब बनाई गई है। डॉ. श्रीकेश के अनुसार लैब में सीबीसी, वायरल मार्कर, एचसीवी, एलएफटी, केएफटी, इलेक्ट्रोलाइट, ब्लड शुगर, सीआरपी, यूरीन कल्चर समेत 28 जांचे हो सकेंगे। लैब का इंचार्ज डॉ. मनीष को बनाया गया है।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.