नोएडा: प्रेमी युगल ने किया सुसाइड, जांच में जुटी पुलिस

  • रह रहे थे लिव-इन रिलेशनशिप में

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नोएडा। नोएडा में सोमवार देर रात एक प्रेमी युगल ने सुसाइड कर लिया। सूचना मिलने पर मौके पर पहुंची फेस 3 कोतवाली पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। बताया जा रहा है कि दोनों कुछ दिनों से लिव-इन रिलेशनशिप में रह रहे थे। पुलिस के अधिकारियों ने बताया की मृतक सुनील उपध्याय और मृतका साक्षी सेक्टर 63 स्थित ईएमडीएस कंपनी में काम करते थे। पुलिस ने मृतकों के परिजनों को सूचना दे दी है।
घटना की उस समय जानकारी मिली जब पड़ोस में रहने वाले लोगों ने कमरे के अंदर एक युवक को फंदे पर लटका देखा। नोएडा थाना फेस 3 के प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि वाजिदपुर सेक्टर 63 सेलक चंद यादव के मकान में एक युवक ने कंप्यूटर की केबल से फांसी लगा ली। साथ ही एक युवती ने जहरीला पदार्थ खाकर आत्महत्या कर ली। मृतक की पहचान सुनील उपाध्याय (21) वर्ष मूलनिवासी ब्रह्मपुरी मेरठ और मृतका की पहचान साक्षी पांडे निवासी रघुनाथ पुरी थाना विजय नगर जनपद गाजियाबाद के रूप में हुई।
मृतक सुनील उपध्याय और मृतका साक्षी सेक्टर 63 स्थित ईएमडीएस कम्पनी में काम करते थे। सुनील उपध्याय पहले से शादीशुदा था। पुलिस का कहना है कि प्रथम दृष्टया मामला प्रेम प्रसंग का प्रतीत होता है। इस मामले में परिजनों को सूचना दे दी गई है। बताया जा रहा है कि दोनों कुछ दिनों से लिव-इन रिलेशनशिप में रह रहे थे।

डायलिसिस मशीनें ठप, मरीज परेशान

लखनऊ। (4पीएम न्यूज़ नेटवर्क) बलरामपुर अस्पताल में पिछले दो महीने से डायलिसिस मशीनें खराब पड़ी है। मशीन खराब होने से गुर्दे के मरीजों पर आफत आ गई है। मरीजों को डायलिसिस के लिए भटकना पड़ रहा है। बलरामपुर अस्पताल में डायलिसिस की पांच मशीनें हैं। इनमें तीन मशीनें खराब पड़ी हैं। अस्पताल में रोजाना दर्जनों मरीजों की डायलिसिस होती है। मशीन खराब होने से सिर्फ 8 मरीजों की ही डायलिसिस हो पा रही है। आरोप है कि कर्मचारी इसे सही करने तो आते हैं पर ठीक नहीं कर पा रहे हैं। भर्ती मरीजों को भी डायलिसिस के लिए इंतजार करना पड़ रहा है। अस्पताल के प्रवक्ता एसएम त्रिपाठी का कहना है कि जल्द ही सभी मशीनें ठीक करवाई जाएंगी।

 

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.