लोक सभा में नागरिकता संशोधन बिल पेश

  • विपक्ष का हंगामा, शाह का पलटवार 82 के मुकाबले 293 वोटों से प्रस्ताव स्वीकार
  • सदन में विपक्षी दलों ने उठाए सवाल, संशोधन बिल को बताया असंवैधानिक
  • लखनऊ मेंं नागरिकता संशोधन बिल को लेकर हजरतगंज स्थित गांधी प्रतिमा के समक्ष विभिन्न सामाजिक संगठनों के लोगों ने प्रदर्शन किया ।

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार नागरिकता कानून को बदलने के लिए तैयार है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आज लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल पेश किया। विपक्ष के विरोध को देखते हुए बिल पेश करने को लेकर वोटिंग की प्रक्रिया अपनाई गई। बिल के पक्ष में 293 और विरोध में 82 मत पड़े।
अमित शाह ने कहा कि इस बिल की जरूरत कांग्रेस की वजह से पड़ी। धर्म के आधार पर कांग्रेस ने देश का विभाजन किया। ये बिल इस देश के अल्पसंख्यकों के खिलाफ नहीं है। यह संविधान के खिलाफ भी नहीं है। वहीं विपक्षी नेताओं की तरफ से आर्टिकल 14 पर सवाल खड़े किए गए। लोक सभा में बिल को लेकर कांग्रेस सांसद अधीर रंजन और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह में बीच तीखी बहस हुई। कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि इस बिल के पेश होने से संविधान के आर्टिकल 14 का उल्लंघन किया गया है, लेकिन अमित शाह ने कहा कि इस बिल के आने से अल्पसंख्यकों पर कोई असर नहीं होगा। दूसरी ओर कांग्रेस, टीएमसी और समाजवादी पार्टी समेत विपक्षी पार्टियों ने इस बिल के पेश होने का विरोध किया।
इनकी राजनीति ध्यान हटाने और समाज बांटने की है। नागरिकता संशोधन बिल भारत का और संविधान का अपमान है।
अखिलेश यादव, सपा प्रमुख

खोले जाएंगे 218 फास्ट ट्रैक कोर्ट: बृजेश पाठक

विधि मंत्री ने कहा, 144 अदालतें महिलाओं और 74 कोर्ट करेंगे बच्चों के मामलों की सुनवाई
कैबिनेट ने कुल 33 प्रस्तावों पर लगाई मुहर सीएम की अध्यक्षता में हुई बैठक

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। महिलाओं व बच्चों के खिलाफ बढ़ते अपराध से उपजे आक्रोश के बीच योगी सरकार ने दोषियों को जल्द सजा दिलाने के लिए ठोस पहल की है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में प्रदेश कैबिनेट ने पाक्सो एक्ट व बलात्कार से संबंधित वादों के शीघ्र निस्तारण के लिए 218 नए फास्ट ट्रैक कोर्ट खोले जाने की मंजूरी मिल गई है। प्रदेश के विधि मंत्री बृजेश पाठक ने बताया कि इन अदालतों में सिर्फ रेप के मामलों की सुनवाई होगी, जिसमें 144 कोर्ट महिलाओं और 74 कोर्ट बच्चों के मामले की सुनवाई करेंगी।
कैबिनेट की बैठक में गौतम बुद्ध नगर जिले के जेवर क्षेत्र में बनाये जाने वाले इंटरनेशनल एयरपोर्ट के लिए बिडिंग प्रक्रिया के आधार पर चुने गए विकासकर्ता के चयन पर भी मुहर लगी है। यमुना एक्सप्रेस वे, पूर्वांचल एक्सप्रेस वे व लखनऊ के सभी मार्ग एक साथ जुड़ेंगे। काफी समय से चली आ रही मांग के बाद ये तय किया गया हैं की पूर्वांचल एक्सप्रेस वे बलिया तक जाएगा।

अयोध्या समेत तीन जिलों की सीमा विस्तार को मंजूरी

अयोध्या में 42, गोरखपुर में 31 गांव और फिरोजाबाद में एक गांव को शामिल किया गया। लखनऊ हाईकोर्ट के ट्रांजिट गेस्ट हाउस को उच्चीकरण का प्रस्ताव पास किया गया। वृक्षों को लेकर नई गाइड लाइन तैयार की गई है। अब 10 पेड़ लगाने पर सिर्फ एक ही पेड़ काटने की अनुमति मिलेगी। नगरीय परिवहन प्रणाली को मजबूत बनाने के लिए पीपीपी मोड में ग्रास कॉस्ट कांंट्रैक्ट मॉडल पर लखनऊ, मेरठ, प्रयागराज, आगरा, गाजियाबाद, कानपुर, वाराणसी, मुरादाबाद, अलीगढ़, झांसी, बरेली, गोरखपुर, शाहजहांपुर तथा मथुरा-वृंदावन में वातानुकूलित इलेक्ट्रिक बसों के संचालन संबंधी प्रस्ताव पास किया गया है। यह योजना केंद्र सरकार की मदद से संचालित होगी। 33 प्रस्ताव पास हुए।

आखिर बच गयी कर्नाटक में सरकार उपचुनाव के नतीजों से भाजपा को राहत

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। आखिरकार कर्नाटक में येदियुरप्पा की सरकार बच गई। कर्नाटक उपचुनाव में भाजपा ने शानदार प्रदर्शन किया। 15 से 12 सीटों पर भाजपा प्रत्याशियों ने जीत दर्ज की। इस जीत के साथ ही विधानसभा में भाजपा बहुमत के आंकड़े को पार कर गई है। 222 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा के पास 117 विधायक हैं। कांग्रेस के पास 68 और जेडीएस 34 सीट हैं। कर्नाटक के नतीजों से भाजपा में जश्न का माहौल है।
5 दिसंबर को कर्नाटक की खाली हुई 17 सीटों में से 15 सीट पर वोटिंग कराई गई थी। बीएस येदियुरप्पा की अगुवाई वाली सरकार को राज्य की सत्ता में बने रहने के लिए छह सीटों पर जीत जरुरी थी। 208 सदस्य विधानसभा में भाजपा के पास कुल 105 की संख्या थी और 12 विधायकों के चुनाव जीतने पर यहां पर भाजपा ने बहुमत के आंकड़े को पार कर लिया है। इससे पहले, एचडी कुमारस्वामी की सरकार जुलाई में उस वक्त गिर गई जब कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन के 17 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था। कर्नाटक विधानसभा स्पीकर ने बाद में उन्हें विधानसभा से अयोग्य ठहराया। जिसके चलते यह उप-चुनाव कराया गया। सीएम येदियुरप्पा ने कहा कि मैं खुश हूं कि इतना अच्छा जनाधार मिला। अब बिना किसी दिक्कत के हम राज्य में एक स्थायी और जनहितकारी सरकार दे सकते हैं।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.