मुंडेरवा चीनी मिल से दस हजार लोगों को मिलेगा रोजगार: सीएम योगी

  • 400 करोड़ की लागत से बनी चीनी मिल का मुख्यमंत्री ने किया उद्घाटन

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ विकास को गति देने के काम में जुटे हैं। हाल ही में गोरखपुर के पिपराइच में चीनी मिल का उद्घाटन करने के बाद मुख्यमंत्री योगी ने आज 400 करोड़ की लागत से बनी बस्ती की नवनिर्मित मुंडेरवा चीनी मिल पर बिजली उत्पादन संयंत्र का उद्घाटन किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार गन्ना किसानों से लेकर युवाओं तक के विकास पर लगातार ध्यान दे रही है। प्रदेश सरकार राज्य में बंद पड़ी चीनी मिलों को खोलने और नई चीनी मिलों को बनाने का काम कर रही है। मुंडेरवा की चीनी मिल दस हजार युवाओं को रोजगार दिलाने का काम करेगी। इस मिल से बिजली का उत्पादन भी किया जायेगा। जो विकास की दिशा में बड़ा कदम साबित होगा।
मुंडेरवा चीनी मिल और पावर जनरेशन प्लांट पूरी तरह से आधुनिक है। इसे संचालित करने के लिए अलग-अलग सेक्शनवार नियंत्रण रूम बनाए गए है। मुंडेरवा चीनी मिल की गन्ना पेराई क्षमता प्रतिदिन 50 हजार क्विंटल की है। इसके साथ ही चीनी मिल मुंडेरवा के बिजली से ही संचालित होगी। प्लांट में हर रोज 27 मेगावाट बिजली पैदा की जाएगी। इसमें से चीनी मिल अपनी जरूरत की बिजली उपभोग करने के बाद शेष बिजली पावर कारपोरेशन को बेच देगी।

मुख्यमंत्री ने राज्यपाल को दी जन्मदिन की बधाई

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को उनके 78वें जन्मदिन पर राजभवन पहुंचकर बधाई दी है। योगी ने आनंदीबेन को श्रीरामचरितमानस की एक प्रति भेंट कर ढेरों शुभकामनाएं दीं। इस दौरान मुख्यमंत्री के साथ वित्त एवं संसदीय कार्यमंत्री सुरेश कुमार खन्ना भी राजभवन में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को बधाई देने पहुंचे थे। बता दें, गुजरात की पहली महिला मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने 29 जुलाई 2019 को उत्तर प्रदेश के राज्यपाल का पदभार संभाला। बच्चों तथा महिलाओं के प्रति बेहद संवेदनशील आनंदीबेन को गुजरात की आयरन लेडी का खिताब भी मिला है।

आयुष्मान योजना से जल्द जुड़ेंगी तीन तलाक पीडि़ताएं

  • शासन के निर्देश पर तैयार हो रहा महिलाओं का डाटा

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। प्रदेश में तीन तलाक से पीडि़त महिलाओं को बहुत जल्द आयुष्मान और मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना में शामिल किया जाएगा। सरकार ने जिला स्तरीय अधिकारियों को तलाक पीडि़त महिलाओं का डाटा तैयार करने के निर्देश दे दिए हैं। सीएमओ ने सभी सीएचसी, पीएससी,आशा बहू और एएनएम को अपने-अपने क्षेत्रों से तीन तलाक पीडि़तों का डाटा जुटाने की जिम्मेदारी सौंपी है। यह डाटा कलेक्ट कर डीएम ऑफिस में भेजा जायेगा।
बता दें, अब तक प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना के अलावा प्रदेश में रहने वाले वंचितों को मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना में चयनित कर लाभ दिया जा रहा था। इसी कड़ी में सूबे की तलाक पीडि़त और परित्यक्ता महिलाओं को मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ देने का निर्णय लिया गया है। सीएमओ डॉ. नरेंद्र अग्रवाल ने बताया कि शासन से मिले निर्देश पर ऐसी महिलाओं का डाटा जुटाया जा रहा है। जिसकी सूची जल्द शासन को भेजेंगे।

प्रशासन का ढुलमुल रवैया फिरोज खान मामले को दे रहा तूल: मायावती

  • कहा, शिक्षा को धर्म और जाति की राजनीति से जोडऩा उचित नहीं

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में संस्कृत के टीचर के रूप में पीएचडी स्कॉलर फिरोज खान की नियुक्ति को लेकर मचे बवाल पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। मायावती ने कहा कि प्रशासन का ढुलमुल रवैया ही मामले को बेवजह तूल दे रहा है। यूनिवर्सिटी के कुछ लोगों द्वारा शिक्षा को धर्म और जाति की अति-राजनीति से जोडऩे के कारण उपजे इस विवाद को कतई उचित नहीं ठहराया जा सकता।
बसपा अध्यक्ष ने कहा कि बीएचयू द्वारा एक मुस्लिम संस्कृत विद्वान को अपने शिक्षक के रूप में नियुक्त करना टैलेंट को सही प्रश्रय देना ही माना जाएगा इस संबंध में मनोबल गिराने वाला कोई भी काम किसी को करने की इजाजत बिल्कुल नहीं दी जानी चाहिए। सरकार इसपर ध्यान देगी तो बेहतर होगा।

संवैधानिक अधिकारों की रक्षा करे सरकार: प्रियंका

कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने बीएचयू में फिरोज खान की नियुक्ति पर मचे बवाल को लेकर ट्विटर पर प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि सरकार को विश्वविद्यालय और इसके संवैधानिक अधिकारों की रक्षा करनी चाहिए। हमारी भाषाएं और संस्कृति ही हमारी विशेषता हैं, हमारी मजबूती हैं। संस्कृत भाषा में ही लिखा गया है, ‘सर्वे भवन्तु सुखिन:। सर्वे सन्तु निरामया:।’ इस भाषा में विशालता है। हमारे देश के संविधान में विशालता है। विश्वविद्यालय में संस्कृत कोई भी अध्यापक पढ़ा सकते हैं। भारत की सबसे बड़ी ताकत यहां के युवा हैं। भाजपा सरकार ने उनसे काम के मौके छीनकर बहुत बड़ा अन्याय किया है।

रक्षा मंत्रालय की कमेटी में साध्वी प्रज्ञा

  • कांग्रेस ने चयन को बताया दुर्भाग्यपूर्ण

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। मध्य प्रदेश के भोपाल से भारतीय जनता पार्टी की सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को रक्षा मंत्रालय की कमेटी में बड़ी जिम्मेदारी मिली है। साध्वी प्रज्ञा को रक्षा मंत्रालय की कमेटी का सदस्य बनाया गया है, इस कमेटी की अगुवाई रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह कर रहे हैं। वहीं कांग्रेस ने रक्षा मंत्रालय की कमेटी में साध्वी के चयन को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है।
रक्षा संबंधी मामलों को लेकर बनाई गई कमेटी में कुल 21 सदस्य हैं, इनमें 12वें नंबर पर साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर का भी नाम है। कमेटी में चेयरमैन राजनाथ सिंह के अलावा फारुक अब्दुल्ला, ए. राजा, सुप्रिया सुले, मीनाक्षी लेखी, राकेश सिंह, शरद पवार, जेपी नड्डा आदि सदस्य शामिल हैं। साध्वी प्रज्ञा के कमेटी में शामिल किए जाने को कांग्रेस पार्टी ने दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। कमलनाथ सरकार में मंत्री पीसी शर्मा ने इसकी निंदा की है, उन्होंने कहा कि भाजपा की कथनी और करनी में फर्क है। क्योंकि पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा था कि साध्वी पर कार्रवाई करेंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। बता दें, साध्वी प्रज्ञा अपने विवादित बयानों से अक्सर चर्चा में रहती हैं। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताना हो, विपक्षी नेताओं पर भाजपा नेताओं के ऊपर ‘मारक शक्ति’ का इस्तेमाल किए जाने वाला वक्तव्य हो, हेमंत करकरे की मृत्यु श्राप के कारण होने संबंधी बयान प्रमुख रहे हैं। हर बार भाजपा उनके बयान पर सफाई देती रहती है। लेकिन उस पर कोई कार्रवाई नहीं होती।

नगर निगम कर्मियों ने महापौर व नगर आयुक्त को सौंपा ज्ञापन

  • नगर निगम एवं जलकल कर्मचारी संघ दोनों ने अपनी समस्याओं के समाधान की मांग की

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
कर्मचारियों की विभिन्न मांगों को लेकर नगर निगम कर्मचारी संयुक्त मोर्चा ने महापौर संयुक्ता भाटिया और नगर आयुक्त डॉ. इन्द्रमणि त्रिपाठी को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान नगर निगम एवं जलकल कर्मचारी संघ दोनों ने अपनी समस्याओं के समाधान की मांग की है। वहीं नगर आयुक्त ने 23 नवंबर को बैठक आयोजित करने का आश्वासन दिया है।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.