राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष पद को लेकर संतों में खींचतान

  • महंत परमहंस दास को हिरासत में लिए जाने के बाद गरमाया मामला

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
अयोध्या। सुप्रीम कोर्ट ने भगवान राम की नगरी अयोध्या में राम मंदिर बनाने का रास्ता साफ करने के साथ ही ट्रस्ट बनाने का निर्देश भी दिया है। अब ट्रस्ट के अध्यक्ष पद को लेकर अयोध्या के संतों में जोरदार खींचतान शुरू हो गई है। महंत और संत एक दूसरे के खिलाफ अनर्गल टीका-टिप्पणी करने और अध्यक्ष पद पर अपना दावा ठोंकने में जुट गये हैं। इसी बीच महंत नृत्य गोपाल दास पर अभद्र टिप्पणी करने के मामले में महंत परमहंस दास को हिरासत में लिए जाने से मामला गरमा गया है। इन दोनों महंतों के समर्थकों की गुटबाजी तेज हो गई है। जिसे देखते हुए अयोध्या में सुरक्षा व्यवस्था चुस्त कर दी गई है।
अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए गठित होने जा रहे शासकीय न्यास पर दावेदारी को लेकर महंत नृत्य गोपाल दास कह रहे हैं कि शासकीय न्यास की कोई जरूरत नहीं है, राम जन्मभूमि न्यास मंदिर निर्माण के लिए पर्याप्त है और इसे ही शासकीय न्यास के रूप में विस्तार देना चाहिए। वहीं राम जन्मभूमि न्यास के सदस्य एवं पूर्व सांसद डॉ. रामविलास दास वेदांती और तपस्वी जी की छावनी के महंत परमहंस दास का एक ऑडियो वायरल हो रहा है। जिसमें वेदांती परमहंस दास से स्वयं को न्यास अध्यक्ष बनाने की आवाज उठाने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। इसी बातचीत में दोनों पक्षों की ओर से राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास के बारे में अपमानजनक अंश भी शामिल हैं। जिसको लेकर काफी बवाल मचा हुआ है।

ट्रस्ट में योगी को शामिल करने पर भी एक राय नहीं

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर सरकार की तरफ से बनाए जाने वाले ट्रस्ट को लेकर साधु-संतों में रार इस कदर मची है कि एकदूसरे से हुई बातचीत की रिकॉर्डिंग भी दिखाई जा रही है। अयोध्या में साधु-संत अपना दावा मजबूत करने के लिए साठगांठ कर रहे हैं। यही नहीं साधु-संतों में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ट्रस्ट में शामिल करने को लेकर भी राय एक नहीं है। यहां कुछ लोग ट्रस्ट में सीएम योगी आदित्यनाथ के पक्ष में हैं जबकि कुछ लोग उनकी मुखालफत कर रहे हैं, क्योंकि वे दूसरे संप्रदाय से ताल्लुक रखते हैं।

नृत्य गोपाल के नेतृत्व में बने शासकीय ट्रस्ट: वेदांती

रामजन्म भूमि न्यास के सदस्य एवं पूर्व सांसद डॉ. राम विलास दास वेदांती ने न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास के ही नेतृत्व में राम लला के मंदिर निर्माण की वकालत की। उन्होंने कहा कि मंदिर की दावेदारी में संतों की अविस्मरणीय भूमिका है और इसके अग्रदूत महंत नृत्यगोपाल दास जैसे शीर्ष धर्माचार्य हैं। डॉ. वेदांती ने यह भी कहा कि सारे भेदभाव भूलकर लोगों को मंदिर निर्माण की तैयारी करनी चाहिए। उन्होंने संभावित शासकीय न्यास से भी उम्मीद जताई। वेदांती ने कहा कि इसके गठन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह एवं मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ की भूमिका अहम होने वाली है, वे कोई ऐसा काम नहीं करेंगे जिससे राम मंदिर के लिए घर, परिवार, प्राण आदि न्यौछावर करने वाले राम भक्तों और धर्माचार्यों की उपेक्षा हो। डॉ. वेदांती को भरोसा है कि शासकीय न्यास जल्दी ही गठन की प्रक्रिया में होगा और इसी के साथ ही राम मंदिर निर्माण की योजना भी सामने आने लगेगी।

मैनपुरी में पराली जलाने वाले 20 किसानों के खिलाफ एफआईआर

  • जिलाधिकारी की अपील बच्चों की सेहत का भी ख्याल रखें किसान

 4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
मैनपुरी। प्रदूषण फैलाने और पराली जलाने के मामले में मैनपुरी जनपद में 20 से ज्यादा किसानों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है। प्रशासन द्वारा एक दर्जन से ऊपर गांवों के सरपंचों और पटवारी को नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है, जहां पराली जलाए जाने के मामले सबसे ज्यादा नजर आ रहे हैं। जिलाधिकारी प्रमोद कुमार उपाध्याय ने पराली जलाने वाले किसानों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं। उन्होंने किसानों से अपील करते हुए कहा कि वे अपनी पराली न जलाएं और इसका उचित ढंग से प्रबंध करें। क्योंकि किसानों द्वारा पराली जलाए जाने पर धुंध और जहरीली हवा माहौल को प्रदूषित करती है, जिससे बीमारियां बढ़ती हैं। लिहाजा किसान अपना और अपने बच्चों के स्वास्थ्य का ख्याल रखते हुए पराली न जलाएं।

सीजेआई गोगोई ने कार्यकाल के अंतिम दिन 10 मामलों में भेजा नोटिस

  • 18 नवंबर को जस्टिस बोबडे लेंगे मुख्य न्यायाधीश की शपथ

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
नई दिल्ली। अपने कार्यकाल के अंतिम दिन चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कोर्ट में बैठने के कुछ ही देर में लगभग तीन मिनट के अंदर दस मुकदमों में नोटिस जारी किया है। इसके साथ ही परंपरा के अनुसार गोगोई ने अपने उत्तराधिकारी जस्टिस एस. ए. बोबडे के साथ कोर्ट रूम में काफी देर तक बैठकर बातचीत की। उन्होंने कार्यालय में उपस्थित सभी लोगों का शुक्रिया अदा किया और सबका हाथ जोडक़र अभिवादन स्वीकार किया। आज ही दोपहर बाद वे राजघाट जाकर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि भी देंगे।
चीफ जस्टिस गोगोई से मीडिया के लोगों ने इंटरव्यू की अपील की लेकिन उन्होंने पत्रकारों से बात करने से इनकार कर दिया। बार एसोसिएशन की ओर से आयोजित फेयरवेल फंक्शन में भी जस्टिस गोगाई संबोधन नहीं देंगे। बता दें, 17 नवंबर को चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के कार्यकाल का अंतिम दिन है, लेकिन इस वक्त वीकेंड पड़ रहा है। इसलिए आज ही उनका कार्यालय में अंतिम दिन मनाया जा रहा है। 18 नवंबर को जस्टिस बोबडे नए मुख्य न्यायाधीश के तौर पर शपथ लेंगे।

श्रीकांत शर्मा ने अपने सरकारी बंगले से की प्रीपेड स्मार्ट मीटर लगाने की शुरूआत

  • एमवीवीएनएल नेताओं और नौकरशाहों के सरकारी बंगलों पर मीटर लगाने का चलायेगा अभियान

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने आज अपने कालिदास मार्ग स्थित सरकारी बंगले से नेताओं और नौकरशाहों के सरकारी बंगलों में प्रीपेड स्मार्ट मीटर लगाने की योजना की शुरुआत की। इसी के साथ ही मध्यांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड (एमवीवीएनएल) ने सरकारी बंगलों पर प्रीपेड स्मार्ट मीटर लगाने का काम शुरू कर दिया है।
जानकारी के मुताबिक प्रीपेड स्मार्ट मीटर के सिलसिले में एजेंसी ने मौका मुआयना कर लिया है। ऊर्जा मंत्री के बंगले पर प्रीपेड स्मार्ट मीटर लगने के बाद कॉलिदास मार्ग के तीन अन्य बंगलों में भी प्रीपेड स्मार्ट मीटर लगाए जाएंगे। ये बंगले वित्त मंत्री सुरेश खन्ना, औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना एवं कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही के हैं। मंत्रियों के इन बंगलों की विद्युत खपत का लोड लगभग 25 किलोवाट है।
प्रीपेड स्मार्ट मीटर की खासियत ये है कि इसमें प्रीपेड, पोस्ट पेड एवं सोलर बिजली की सप्लाई की बिलिंग की जा सकती है। यानी इस मीटर के लगने के बाद उपभोक्ता चाहें तो उसे प्रीपेड रिचार्ज करा लें या फिर पहले बिजली जलाएं। फिलहाल अब सरकारी बंगलों में निवास करने वाले नौकरशाहों को भी हर हाल में प्रीपेड स्मार्ट मीटर लगवाना पड़ेगा।

भाजपा में विभिन्न मुद्दों पर मंथन

  • भाजपा जिला अध्यक्षों के चुनाव की तारीखों पर चर्चा होने की संभावना

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। राजधानी स्थित भाजपा मुख्यालय पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव की अध्यक्षता में अहम बैठक आयोजित की गई। इसमें विभिन्न मुद्दों पर मंथन किया गया। इसमें भाजपा चुनाव प्रभारी आशुतोष टंडन, प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल मौजूद रहे। बैठक में भाजपा जिला अध्यक्षों के चुनाव की तारीखों पर चर्चा होने की संभावना है। गौरतलब है कि बूथ स्तर पर चुनाव होने के बाद अब जिला अध्यक्षों का चुनाव होना है। इसके बाद प्रदेश स्तरीय पदाधिकारियों का चुनाव होगा।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.