सोशल मीडिया के खतरों से रहें सतर्क

सोशल मीडिया के माध्यम से समाज में क्रांति फैलाने का काम भी खूब हुआ है। जो बदस्तूर जारी है। सोशल मीडिया पर शुरू की गई क्रांति के प्रतिफल में दिल्ली में अरविंद केजरीवाल को पहले ख्याति मिली और फिर दिल्ली की सत्ता हासिल हुई। भाजपा ने तो चुनावों में विजय हासिल करने के लिए सोशल मीडिया को अपना सबसे सशक्त हथियार बना लिया है। लेकिन सोशल मीडया के खतरे भी बहुत हैं।

Sanjay Sharma

हम और आप सोशल मीडिया के उस दौर में हैं, जहां इंसान अपनी खूबसूरती, अपनी खासियतों और दिनचर्या से लेकर काम-काज तक से जुड़ी सारी चीजें फेसबुक और व्हाट्सएप के माध्यम से शेयर करना नहीं भूलता। व्यक्ति जो कुछ भी पोस्ट करता है, उस पर लोगों ने कितने लाइक और कितने कमेंट किए उसको जानने के लिए लालायित रहता है। सोशल मीडिया के माध्यम से समाज में क्रांति फैलाने का काम भी खूब हुआ है। जो बदस्तूर जारी है। सोशल मीडिया पर शुरू की गई क्रांति के प्रतिफल में दिल्ली में अरविंद केजरीवाल को पहले ख्याति मिली और फिर दिल्ली की सत्ता हासिल हुई। भाजपा ने तो चुनावों में विजय हासिल करने के लिए सोशल मीडिया को अपना सबसे सशक्त हथियार बना लिया है। लेकिन सोशल मीडया के खतरे भी बहुत हैं। यहां पोस्ट की जाने वाली बातों, घटनाओं और फोटोज व वीडियोज का दुरुपयोग भी खूब होता रहता है। फेसबुक, ट्विटर और व्हाट्सएप पर भ्रामक चीजों को डालने का चलन भी तेजी से बढ़ रहा है, जो हम सबके लिए खतरनाक साबित हो रहा है। इन सबसे हमें सतर्क रहने की जरूरत है।
दिल्ली से एम.कॉम करने वाली एक छात्रा उस वक्त हतप्रभ रह गई जब एक युवक ने उसके पिता को कॉल करके बताया कि वह उनका दामाद है। युवक ने दावा किया कि उनकी बेटी के साथ शादी की फोटोग्राफ्स और शादी के सर्टिफिकेट उसके पास हैं। यह शादी गाजियाबाद में ऑनलाइन रजिस्टर्ड हुई है। युवक ने छात्रा के पिता को शादी का सर्टिफिकेट भी व्हाट्सएप पर भेजा है। छात्रा ने मामले की शिकायत डीएम से की है। डीएम ने मामले में जांच बैठा दी है। युवक के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज हो चुका है। पुलिस का मानना है कि जल्द ही युवक को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। लेकिन लडक़ी की काफी बदनामी हो रही है। वहीं सोशल मीडिया पर मौजूद कंटेंट्स का किस तरह मिसयूज किया जा सकता है, इसकी चर्चा भी जोरों पर है। फिलहाल, हमें सोशल मीडया के दुरुपयोग को लेकर सतर्क रहने की जरूरत है। फेसबुक, व्हाट्सएप और ट्विटर पर निजता से जुड़ी तस्वीरों व वीडियो को पोस्ट करने से बचें। प्राइवेसी सेटिंग से सुनिश्चित करें कि अनजान व्यक्ति आपकी प्रोफाइल विजिट न कर सके। आपके कंटेंट्स को कॉपी न कर पाये। इस बारे में पैरेंट्स अपने बच्चों को भी जागरूक करें। जो पैरेंट्स सोशल मीडिया के दुरुपयोग के बारे में नहीं जानते हैं, उन्हें अपने जानकार बच्चों से सलाह लेनी चाहिए। यह समझना होगा कि हमारा सहयोग किसी को नई जिन्दगी दे सकता है, तो जरा सी लापरवाही जानलेवा भी साबित हो सकती है। इसलिए समझदार बनें और सतर्क रहें।

Loading...
Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.