केंद्र सरकार की योजनाओं की गति बढ़ाएं अधिकारी: योगी

  • कहा, तय समय में पूरा होना चाहिए हर काम

4पीएम न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने केंद्र सरकार की योजनाओं की धीमी प्रगति पर गहरी नाराजगी जाहिर की है। उनका कहना है कि अब काम की रफ्तार बढ़ाई जाए। वहीं जिन योजनाओं और अभियानों के बारे में पूर्व में आदेश दिए गए थे, उनकी क्या स्थिति है, इसका स्पष्ट आंकड़ा उपलब्ध कराया जाए। उनका इशारा पॉलीथिन पर प्रतिबंध और स्वच्छता अभियान के लक्ष्य को लेकर था। जिसको गंभीरता से लेकर मुख्यमंत्री ने खुद ही 16 जून से 15 जुलाई तक मंडलीय समीक्षा बैठकें करने का निर्णय लिया है।
मुख्यमंत्री योगी ने सोमवार को लोकभवन में शहरी विकास से जुड़े अधिकारियों की बैठक में प्लास्टिक पर प्रतिबंध पूरी तरह न लग पाने पर नाखुशी जाहिर की। यही नहीं केंद्र सरकार की योजना स्मार्ट सिटी मिशन, अमृत मिशन, नमामि गंगे परियोजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन के तहत शौचालय निर्माण आदि के अमल में ढिलाई पर भी सीएम ने सख्त तेवर दिखाए। उन्होंने कहा कि प्रयागराज कुम्भ में बने स्वच्छता के मानकों के आधार पर सभी नगर निगमों में साफ सफाई कराई जाए। मण्डलायुक्त शहर व गांवों में स्वच्छता की स्थिति देखकर सबकी जवाबदेही तय करें। ताकि स्थिति सुधरे।

गोवंश आश्रय स्थलों को जल्द पूरा करने के निर्देश

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ, आगरा, वाराणसी, मथुरा, बरेली, गोरखपुर, प्रयागराज, कानपुर, अलीगढ़, मुरादाबाद, झांसी, सहारनपुर आदि नगर निगमों में निर्माणाधीन गोवंश आश्रय स्थलों को जल्द पूरा कराने के निर्देश दिये हैं। वहीं मुख्यमंत्री को बताया गया कि 652 नगर निकायों में से 638 ओडीएफ घोषित किये जा चुके हैं। इस पर उन्होंने कहा कि 30 जून, तक बाकी नगर निकायों को ओडीएफ घोषित कराया जाए। बैठक में नगर विकास मंत्री सुरेश कुमार खन्ना, वन मंत्री दारा सिंह चौहान, मुख्य सचिव अनूप चन्द्र पाण्डेय, प्रमुख सचिव नगर विकास मनोज कुमार सिंह, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल मौजूद थे।

 

Loading...
Pin It

Comments are closed.